• Hindi News
  • National
  • JNU Lady Professor Blames Mehbooba For Removing Barricades And Demands ‘public Execution’ Of 40 Kashmiris

JNU की महिला प्रोफेसर ने ट्वीट में लिखा ऐसा कुछ कि भड़क गईं जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

नेशनल डेस्क. पुलवामा हमले को लेकर अपना नाम घसीटे जाने पर जम्म-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और PDP (पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी) की प्रमुख महबूबा मुफ्ती एक महिला प्रोफेसर पर भड़क गई हैं। JNU (जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय) की इस प्रोफेसर ने एक ट्वीट करते हुए पुलवामा हमले के लिए मुफ्ती को जिम्मेदार बताया था। महिला प्रोफेसर ने लिखा था कि मुख्यमंत्री रहते हुए मुफ्ती ने ही '3 चेक बैरियर' हटाए थे, जिसकी वजह से ये आतंकी हमला हुआ। इस मामले में PDP ने दिल्ली पुलिस ने महिला के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की मांग की है, तो वहीं आरोपों से तमतमाई मुफ्ती ने प्रोफेसर को शैतान और अनपढ़ तक बता दिया।

महिला प्रोफेसर ने किया था ये ट्वीट...

- पुलवामा में 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आत्मघाती आतंकी हमले में 40 जवानों की शहादत हुई थी। इस हमले तीन दिन बाद दिल्ली स्थित JNU (जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय) की महिला प्रोफेसर अमिता सिंह ने एक ट्वीट करते हुए हमले के लिए राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को जिम्मेदार ठहराया।
- अमिता सिंह ने अपने ट्वीट में लिखा था, 'RDX से भरे वाहन की जांच नहीं हो सकी थी, क्योंकि महबूबा मुफ्ती ने सीएम रहते हुए '3 चेक बैरियर्स' हटा दिए थे। राज्यपाल महोदय कृपया उनके द्वारा हटाई गई हर चीज को फिर से बहाल करें। अगर महबूबा मुफ्ती को सच में 40 जवानों की मौत का दुख है तो उन्हें सार्वजनिक रूप से सजा देने के लिए अपने 40 लोगों को सौंप देना चाहिए।'

The RDX filled vehicle could not be checked as the 3 check barriers were removed by mehbooba mufti. Governor pl. reinstate everything removed by her. Mehbooba Mf. Should now hand over her 40 people for public execution if she really feels hurt for our 40 soldiers.culpability.

— AMITA SINGH (@amitawah) 17 February 2019


महबूबा ने प्रोफेसर को बताया जाहिल और शैतान

- अपने ऊपर लगे आरोपों से तमतमाई महबूबा मुफ्ती ने भी ट्वीट करते हुए अपनी भड़ास निकाली। मुफ्ती ने लिखा, 'कोई टीचर इतना जाहिल और शैतान कैसे हो सकता है। क्या वे सही मायनों में शिक्षित भी हैं। कश्मीरियों को सताने के मकसद से वो बिना सिर-पैर की निरंकुश कल्पना कर रही हैं। विडंबना ये है कि वे नैतिकता और कानून पढ़ाती हैं।' बता दें कि 14 फरवरी को पुलवामा में हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे।

How can someone who imparts education be so diabolical & ignorant by choice? Is she educated in the real sense? She seems to possess an unfettered imagination with an aim to persecute Kashmiris. Ironical that she teaches ethics and law! https://t.co/v6euDLezdg

— Mehbooba Mufti (@MehboobaMufti) 19 February 2019


पीडीपी ने दी कानूनी कार्रवाई की धमकी

- महिला प्रोफेसर के ट्वीट पर बवाल मच गया। इसके बाद पीडीपी ने ट्वीट करते हुए अमिता सिंह पर निशाना साधा। पीडीपी ने लिखा, 'ये महिला जेएनयू की प्रोफेसर है जो मनगढ़ंत कहानियां बनाकर महबूबा मुफ्ती पर बेतुके आरोप लगा रही है। इतना ही नहीं इसने कश्मीरियों को सार्वजनिक रूप से फांसी देने की मांग भी की है। हम जोरदार विरोध दर्ज कराते हुए इनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे। दिल्ली पुलिस कृपया ध्यान दे।'

This is a professor at #JNU making up concocted stories & ridiculous allegations against @MehboobaMufti She does not stop at that, is also calling for public hanging of Kashmiris. We register strong protest and will initiate legal action against her. @DelhiPolice pls take note pic.twitter.com/feqw2qz3gP

— J&K PDP (@jkpdp) 19 February 2019