• Hindi News
  • National
  • Kamal Nath Vs Shivraj Singh Chauhan; Former Chief Minister Kamal Nath Targets Shivraj Singh Chauhan Over Mp Cabinet Expansion

मध्यप्रदेश की सियासत / शिवराज के बयान पर कमलनाथ का तंज, बोले- विष को तो अब रोज पीना पड़ेगा

मुख्यमंत्री शिवराज के विष वाले बयान पर कमलनाथ ने निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि मंथन से निकले विष को तो अब रोज ही पीना पड़ेगा।  -फाइल फोटो मुख्यमंत्री शिवराज के विष वाले बयान पर कमलनाथ ने निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि मंथन से निकले विष को तो अब रोज ही पीना पड़ेगा। -फाइल फोटो
X
मुख्यमंत्री शिवराज के विष वाले बयान पर कमलनाथ ने निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि मंथन से निकले विष को तो अब रोज ही पीना पड़ेगा।  -फाइल फोटोमुख्यमंत्री शिवराज के विष वाले बयान पर कमलनाथ ने निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि मंथन से निकले विष को तो अब रोज ही पीना पड़ेगा। -फाइल फोटो

  • नाथ ने सेवादल की बैठक में कहा- सरकार जाने का दुख नहीं, नीतियों के रुकने का है, उपचुनावों में सौदेबाजी का जवाब देंगे
  • मध्य प्रदेश में शिवराज कैबिनेट के विस्तार गुरुवार को होगा, आज आनंदीबेन पटेल प्रभारी राज्यपाल की शपथ लेंगी

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 06:09 PM IST

भोपाल. मध्य प्रदेश में मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर चल रहे मंथन पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के विष पीने वाले बयान पर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने तंज कसा है। उन्होंने कहा कि मंथन इतना लंबा हो गया कि अमृत तो निकला नहीं, सिर्फ विष ही विष निकला है। मंथन से निकले विष को तो अब रोज ही पीना पड़ेगा। क्योंकि अब तो कल से रोज मंथन करना पड़ेगा।

इससे पहले पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में सेवा दल के कार्यक्रम में पहुंचे थे। यहां उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि इतने समय बाद मंत्रिमंडल बनने जा रहा है, इसका भविष्य क्या होगा, ये तो आने वाला समय बताएगा। उन्होंने इससे पहले सेवा दल की बैठक में कहा कि सरकार जाने का दुख नहीं है। सरकार की योजनाओं के रुक जाने का मलाल है। हमें उपचुनावों में सौदेबाजी को जवाब देना है। इसके लिए कार्यकर्ता पूरी तरह से तैयार रहें।

खरीद-फरोख्त का खुला खेल खेलकर मेरी सरकार गिराई गई: कमलनाथ  

कमलनाथ ने आगे कहा कि आप सबकी कड़ी मेहनत से 15 साल बाद कांग्रेस की सरकार बनी। 15 महीने में हमने कई जनहितैषी कार्य किए। लेकिन, भाजपा को यह सहन नहीं हुआ। साजिश और षड्यंत्र रचकर हमारी जनादेश की सरकार को गिरा दिया गया। लोकतंत्र के इतिहास की विश्व की यह पहली घटना है, जिसमें इस प्रकार से खरीद-फरोख्त का खुला खेल खेला गया। कमलनाथ ने कहा कि आज मप्र की जनता पर हमें पूरा विश्वास है। मतदाता अब घोषणा की राजनीति में फंसने वाला नहीं है। 

सेवादल के पदाधिकारी मैदान में उतरें, मतदाता परिवर्तन चाहता है 

कमलनाथ ने सेवादल के पदाधिकारियों से कहा कि 24 सीटों के उपचुनाव के लिए नई ऊर्जा के साथ मैदान में उतरें और सभी जिलों, ब्लाक में जाएं। मतदाता परिवर्तन चाहता है, वह अब भाजपा की घिनौनी राजनीति को समझ गया है। सेवादल के नवनियुक्त अध्यक्ष रजनीश सिंह ने कहा कि मैं सौभाग्यशाली हूं कि मुझे कमलनाथजी ने शपथ दिलाई। कमलनाथजी इंदिराजी के तीसरे पुत्र के रूप में जाने जाते हैं और 40 वर्षों से भी ज्यादा का उनका राजनैतिक सफर और अनुभव है। उन्होंने कहा कि त्याग, तपस्या, अनुशासन हमें सेवादल ने ही सिखाया है। मैं विश्वास दिलाता हूं कि सेवादल के सिपाहियों और कांग्रेस में समन्वय के साथ पार्टी और पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की कसौटी पर खरा उतरने का पूरा प्रयास करूंगा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना