पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नक्सलियों ने आरएसएस कार्यकर्ता की हत्या की, कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के विरोध में पर्चे फेंके

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
दादू राम कोरटिया- फाइल - Dainik Bhaskar
दादू राम कोरटिया- फाइल
  • कांकेर में नक्सलियों ने आरएसएस कार्यकर्ता को घर से बुलाया फिर गोली मारी
  • अनुच्छेद 370 हटाने के विरोध में नक्सलियों ने 30 अगस्त को बंद का ऐलान किया

कांकेर. छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित कांकेर जिले में मंगलवार देर रात नक्सलियों ने पूर्व सरपंच और आरएसएस कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या कर दी। नक्सलियों ने पहले संघ से जुड़े दादू राम कोरटिया (40) को आवाज देकर घर से बाहर बुलाया और फिर गोली मार दी। घटना दुर्गुकोंदल के कोंडेगांव की है। एसपी कन्हैयालाल ध्रुव ने इसकी पुष्टि की है।

1) संघ कार्यकर्ता को आदिवासी विरोधी बताया

जानकारी के मुताबिक, मंगलवार रात करीब 10.30 बजे 20-25 हथियारबंद नक्सली दादू राम के घर आए। उन्होंने दादू राम को आवाज देकर घर से बाहर बुलाया। बाहर निकलते ही उन पर पहले कुल्हाड़ी से वार किया और फिर गोली मार दी। इसके बाद नक्सली वहां पर पर्चा फेंककर चले गए। घटना के समय घर पर दादू राम की पत्नी मौजूद थीं।

नक्सलियों ने पर्चे में कश्मीर मुद्दे पर भाजपा, आरएसएस को धमकी दी है। इसमें लिखा है, 'भाजपा और आरएसएस की गतिविधियां आदिवासी और दलित विरोधी हैं। तानाशाही और हिटलरशाही व्यवहार करते हुए कश्मीर से अनुच्छेद 370 को रद्द किया गया। दादू सिंह ऐसे संगठन से जुड़कर अपनी गतिविधियां चला रहा था।'  केंद्र सरकार के फैसले के विरोध में नक्सलियों ने 30 अगस्त को बंद का ऐलान किया है।

इससे पहले सोमवार को नक्सलियों ने कांकेर में ही कोयलीबेड़ा इलाके में जन अदालत लगाकर नक्सलियों ने एक युवक की हत्या कर दी थी। नक्सलियों ने युवक पर पुलिस मुखबिरी का आरोप लगाया था और फिर डंडों से पीट पीटकर उसे मार डाला। इसके बाद उसका शव जंगल में फेंक कर चले गए थे।

खबरें और भी हैं...