• Hindi News
  • National
  • Kanpur Encounter Case: Amar Dubey, Close Aide Of History sheeter Vikas Dubey Has Been Killed In An Encounter

कानपुर शूटआउट:गैंगस्टर विकास का करीबी अमर दुबे मारा गया; विकास फरीदाबाद के होटल में देखा गया, लेकिन पुलिस के पहुंचने से पहले भाग गया

कानपुर2 वर्ष पहले
पांच लाख का इनामी विकास दुबे फरीदाबाद के एक होटल में देखा गया। विकास और उसकी गैंग ने 2 जुलाई को 8 पुलिसवालों की हत्या कर दी थी। - Dainik Bhaskar
पांच लाख का इनामी विकास दुबे फरीदाबाद के एक होटल में देखा गया। विकास और उसकी गैंग ने 2 जुलाई को 8 पुलिसवालों की हत्या कर दी थी।
  • यूपी एसटीएफ ने हमीरपुर जिले में मुठभेड़ के दौरान मार गिराया, अमर दुबे पर सीओ देवेंद्र मिश्रा की हत्या का किए जाने का आरोप था
  • पुलिस मुठभेड़ में विकास गैंग के अब तक तीन साथी मारे गए, शुक्रवार को विकास के मामा प्रेम प्रकाश और साथी अतुल मारा गया था

कानपुर के बिकरु गांव में 8 पुलिसवालों की हत्या के बाद से फरार 50 हजार के इनामी अमर दुबे का पुलिस ने एनकाउंटर कर दिया। यूपी पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स ने हमीरपुर में अमर को मार गिराया। अमर गैंगस्टर विकास दुबे का करीबी था। 2 जुलाई को बिकरु गांव में हुए शूटआउट में शामिल था।

एनकाउंटर के बाद अमर का शव।
एनकाउंटर के बाद अमर का शव।

दूसरी ओर विकास मंगलवार को फरीदाबाद के एक होटल में देखा गया। यूपी पुलिस ने उस पर इनामी राशि 2.5 लाख से बढ़ाकर 5 लाख कर दी गई है। यह यूपी में किसी अपराधी पर अब तक का सबसे बड़ा इनाम है।

सूत्रों के मुताबिक विकास और उसका साथी प्रभात फरीदाबाद के सेक्टर-87 में रिश्तेदार श्रवण के घर रुके थे। इससे पहले उन्होंने होटल में रूम बुक करवाने की कोशिश की, लेकिन आईडी में फोटो क्लीयर नहीं होने की वजह से बुकिंग नहीं कर पाए। इसी बीच किसी ने पुलिस को सूचना दे दी, लेकिन पुलिस के पहुंचने से पहले ही विकास भाग गया। पुलिस ने श्रवण, उसके बेटे अंकुर और प्रभात को गिरफ्तार कर लिया है। इनके पास 4 पिस्टल मिली हैं, इनमें से 2 यूपी पुलिस की हैं। बिकरू शूटआउट में बदमाशों ने 8 पुलिसवालों की हत्या कर कर उनके हथियार भी लूट लिए थे।

अमर मध्यप्रदेश भागना चाहता था
फरीदाबाद तक अमर भी विकास के साथ था, लेकिन पुलिस की सख्ती को देखते हुए दोनों अलग-अलग हो गए। अमर हमीरपुर होते हुए मध्यप्रदेश भागना चाहता था, इसलिए मंगलवार रात हमीरपुर में एक रिश्तेदार के घर पहुंच गया।

अमर की ऑटोमैटिक गन बरामद
एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) प्रशांत कुमार ने बताया कि अमर के हमीरपुर में होने की सूचना पर एसटीएफ की टीम मौके पर पहुंची। अमर को सरेंडर करने के लिए कहा, लेकिन उसने फायरिंग कर दी। इससे एसआई मनोज शुक्ला और एसटीएफ का एक सिपाही घायल हो गया। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में अमर मारा गया। हमीरपुर के एसपी श्लोक कुमार ने बताया कि अमर की ऑटोमैटिक गन और एक बैग बरामद कर लिए हैं। फोरेंसिक टीम जांच कर रही है।

अमर ने सीओ की हत्या की थी
अमर ने 10 बदमाशों के साथ बिल्हौर के सीओ देवेंद्र मिश्र की हत्या की थी। अमर और उसके साथी मिश्र को घसीटकर विकास दुबे के मामा प्रेम कुमार पांडे के घर में ले गए और गोलियों से भून दिया। धारदार हथियार से भी वार किए थे। प्रेम कुमार पांडे एनकाउंटर में पहले ही मारा जा चुका है।

अमर दुबे (बाएं) विकास दुबे के साथ। (फाइल फोटो)
अमर दुबे (बाएं) विकास दुबे के साथ। (फाइल फोटो)

अमर का लखनऊ में भी घर
कानपुर शूटआउट की एफआईआर में अमर दुबे का नाम 14वें नंबर पर और वॉन्टेड अपराधियों की लिस्ट में पहले नंबर पर था। अमर और विकास रिश्तेदार थे। अमर रंगदारी और शराब के ठेकों से वसूली करता था।

कानपुर एनकाउंटर के बाद पुलिस ने विकास की गैंग में शामिल लोगों के फोटो जारी किए थे।
कानपुर एनकाउंटर के बाद पुलिस ने विकास की गैंग में शामिल लोगों के फोटो जारी किए थे।

विकास के साले के घर भी दबिश
यूपी एसटीएफ ने मध्य प्रदेश के शहडोल में विकास के साले राजू निगम के घर भी दबिश दी। राजू नहीं मिला तो, एसटीएफ की टीम उसके बेटे को साथ ले गई। वहीं राजू का कहना है कि 15 साल से उसका विकास से कोई कॉन्टैक्ट नहीं है, पुलिस चाहे तो कॉल डिटेल निकाल कर जांच कर सकती है।

यूपी, हरियाणा समेत 5 राज्यों में अलर्ट
गुड़गांव के कमिश्नर केके राव ने एक ऑडियो मैसेज में कहा है कि विकास गुड़गांव में एंट्री कर सकता है। उसके पास पर्सनल गाड़ी नहीं है। वह थ्री-व्हीलर या टैक्सी से मूवमेंट कर सकता है। सभी बॉर्डर पर नजर रखी जाए। इसके साथ ही यूपी, राजस्थान, दिल्ली, मध्य प्रदेश, हरियाणा में अलर्ट जारी किया है। इन राज्यों में पुलिस विकास और उसके गुर्गों की तलाश कर रही है। विकास की पहचान के तौर पर बताया गया है कि वह लंगड़ा कर चलता है।

विकास का एक और साथी गिरफ्तार
इस बीच कानपुर पुलिस ने विकास दुबे की गैंग में शामिल श्यामू बाजपेयी को भी गिरफ्तार कर लिया है। श्यामू के पैर में गोली लगने के बाद पुलिस ने उसे पकड़ लिया। श्यामू का मकान विकास के घर के पास ही है।

श्यामू पर 25 हजार का इनाम था। उसके पास एक पिस्टल और 2 जिंदा कारतूस मिले हैं।

पैर में गोली लगने के बाद श्यामू बाजपेयी।
पैर में गोली लगने के बाद श्यामू बाजपेयी।

बिकरू गांव में कुएं में हथियार होने की आशंका
पुलिस आज फिर बिकरू गांव पहुंची। वहां विकास दुबे के घर के पास एक कुआं है। आशंका है कि कुएं में हथियार फेंके गए हैं। हथियार तलाशने के लिए पुलिस ने पंप सेट लगवाकर कुएं का पानी निकलवाया।

हथियारों की तलाश में पुलिस कुएं से पानी निकलवाते हुए।
हथियारों की तलाश में पुलिस कुएं से पानी निकलवाते हुए।

कानपुर शूटआउट केस में अब तक क्या हुआ?
2 जुलाई: विकास दुबे को गिरफ्तार करने 3 थानों की पुलिस ने बिकरू गांव में दबिश दी, विकास की गैंग ने 8 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी।
3 जुलाई: पुलिस ने सुबह 7 बजे विकास के मामा प्रेमप्रकाश पांडे और सहयोगी अतुल दुबे का एनकाउंटर कर दिया। 20-22 नामजद समेत 60 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई। विकास पर 2.5 लाख, अमर पर 25 हजार और दूसरे लोगों पर 18-18 हजार रुपए का इनाम घोषित।
5 जुलाई: पुलिस ने विकास के नौकर और खास सहयोगी दयाशंकर उर्फ कल्लू अग्निहोत्री को घेर लिया। पुलिस की गोली लगने से दयाशंकर जख्मी हो गया। उसने खुलासा किया कि विकास ने पहले से प्लानिंग कर पुलिसकर्मियों पर हमला किया था।
6 जुलाई: पुलिस ने अमर की मां क्षमा दुबे और दयाशंकर की पत्नी रेखा समेत 3 को गिरफ्तार किया। शूटआउट की घटना के वक्त पुलिस ने बदमाशों से बचने के लिए क्षमा दुबे का दरवाजा खटखटाया था, लेकिन क्षमा ने मदद करने की बजाय बदमाशों को पुलिस की लोकेशन बता दी। रेखा भी बदमाशों की मदद कर रही थी।
8 जुलाई: एसटीएफ ने विकास के करीबी अमर दुबे को मार गिराया।

कानपुर शूटआउट से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ सकते हैं...

1. निशाना लगाने में माहिर था अमर, विकास के लिए वसूली करता था; दादी ने कहा- मेरी बात नहीं मानी, इसलिए मारा गया

2. ग्राउंड रिपोर्ट: जहां 8 पुलिसवालों की हत्या हुई: विकास दुबे के घर से ही नहीं, आस-पास के 5-6 घरों से भी पुलिस टीम पर हुई थी फायरिंग; अब पूरे गांव में सन्नाटा पसरा है

3. कानपुर पुलिस की रडार पर अब सहयोगी: विकास दुबे के लिए काम करने वाली दो महिलाओं समेत 3 गिरफ्तार; 10 पुलिसवालों की चौबेपुर थाने में पोस्टिंग

4. मुठभेड़ से पहले गैंगस्टर ने पार्टी दी थी: 2 जून की रात विकास की शराब पार्टी में 20-25 गुर्गे शामिल हुए थे; 10 पुलिसवालों की चौबेपुर थाने में पोस्टिंग

खबरें और भी हैं...