• Hindi News
  • National
  • ModiXiSummit! Kapil Sibal Tweets Reaction On Narendra Modi, Says Show your 56” ki chhati!

बयान / मोदी-जिनपिंग मुलाकात पर सिब्बल का तंज- आतंकी घुसपैठ को तैयार, देश के मुखिया मामल्लपुरम में जा बैठे



कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल। (फाइल फोटो) कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल। (फाइल फोटो)
X
कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल। (फाइल फोटो)कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल। (फाइल फोटो)

  • राष्ट्रपति शी जिनपिंग और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दूसरी अनौपचारिक मुलाकात महाबलीपुरम में हुई
  • कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा- मोदी की इस कोशिश से सरकार की समस्याएं कम नहीं होने वालीं

Dainik Bhaskar

Oct 13, 2019, 01:00 AM IST

नई दिल्ली. कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की दूसरी अनौपचारिक मुलाकात पर टिप्पणी की। उन्होंने मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि देश की अर्थव्यवस्था कमजोर है और आतंकी कश्मीर में घुसपैठ के लिए तैयार हैं, लेकिन देश के मुखिया मामल्लपुरम (महाबलिपुरम) में बैठे हैं। इससे सरकार की चुनौतियां समाप्त नहीं होने वाली हैं। मोदी-जिनपिंग के बीच दो दिन तमिलनाडु के महाबलीपुरम में मुलाकात हुई है।

 

सिब्बल ने ट्वीट किया- “मोदी है तो मुमकिन है, पहला- मैन्यूफैक्चरिंग क्षेत्र 1.2% सिकुड़ गया है, जो पिछले छह साल की सबसे खराब स्थिति है। दूसरा- वस्तुओं का उत्पादन 21% गिर गया है। तीसरा- यात्री वाहनों की बिक्री 23.7% कम हो गई। चौथा- 5 अगस्त के बाद से 600 बार सीजफायर तोड़ा गया और पांचवां- 500 आतंकी सीमा पार करने को लेकर तैयार है, लेकिन देश के मुखिया मामल्लपुरम में बैठे हैं।'' 

 

वहीं, कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने कहा कि चीन के साथ अर्थपूर्ण वार्ता पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के 1988 में चीन दौरे से शुरू हुई थी। फिर यह रिश्ते मनमोहन सिंह के कार्यकाल में परिपक्व हुए थे। अक्साई चीन के सवाल पर उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने इसे कश्मीर का हिस्सा घोषित करने का प्रस्ताव पारित किया था। पाकिस्तान ने इसे चीन को दे दिया था, जिसे भारत को वापस लेना चाहिए।

 

औद्योगिक उत्पादन सूचकांक अगस्त में गिरकर -1.1 फीसदी रहा

सरकार ने शुक्रवार को औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (आईआईपी) जारी किया था जिसमें यह अगस्त में गिरकर -1.1 फीसदी रह गया जो साढ़े छह साल से भी ज्यादा अवधि का सबसे निचला स्तर है। मैन्यूफैक्चरिंग क्षेत्र का आंकड़ा -1.2 फीसदी पर रहा। कुल औद्योगिक उत्पादन में मैन्यूफैक्चरिंग की हिस्सेदारी 75 फीसदी से ज्यादा होती है। चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में जीडीपी की वृद्धि दर घटकर महज 5 फीसदी पर रह गई थी जो पिछले पांच साल की सबसे धीमी रफ्तार थी।

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना