भास्कर लाइव / पाकिस्तान में पहले जत्थे का गर्मजोशी से स्वागत, श्रद्धालुओं ने दुआ मांगी- लांघे से आवाजाही बनी रहे



करतारपुर में 12 हजार से ज्यादा श्रद्धालुओं ने गुरुग्रंथ साहिब के दर्शन किए। करतारपुर में 12 हजार से ज्यादा श्रद्धालुओं ने गुरुग्रंथ साहिब के दर्शन किए।
X
करतारपुर में 12 हजार से ज्यादा श्रद्धालुओं ने गुरुग्रंथ साहिब के दर्शन किए।करतारपुर में 12 हजार से ज्यादा श्रद्धालुओं ने गुरुग्रंथ साहिब के दर्शन किए।

  • सिद्धू का स्वागत एक हीरो की तरह हुआ और सनी देओल को भी देखने वालों की लाइन लग गई
  • एक श्रद्धालु ने कहा- कॉरिडोर के खुलने से हमारे बच्चों का भविष्य संवरेगा, यहां रोज 5000 की संगत आएगी

Dainik Bhaskar

Nov 10, 2019, 11:42 AM IST

करतारपुर साहिब/डेरा बाबा नानक (तेजिंदर सिंह). पंजाब के डेरा बाबा नानक से सिख श्रद्धालुओं का पहला जत्था शनिवार को पाकिस्तान के करतारपुर पहुंचा। करतापुर कॉरिडोर के उद्घाटन से पहले पहले माछियां में पीएम मोदी की जनसभा थी, वहीं पर सारे लोग पहुंचे। हजारों की संख्या में कार्यक्रम में शामिल होने जा रहे लोगों को देख ऐसा लग रहा था मानों हर कोई इस ऐतिहासिक क्षण का साक्षी बनना चाहता है। पूरा माहौल भक्तिमय था। इसके बाद हमें सुरक्षाकर्मियों के साथ उन लोगों के पास ले जाया गया जो पहले जत्थे में गुरुद्वारा साहिब के दर्शन को जाने वाले थे। इनमें प्रदेश सरकार के मंत्री, विधायक और सांसद समेत वीआईपी शामिल थे।

 

11 बजे मोदी कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे। उनके साथ कैप्टन, सुखबीर बादल और हरसिमरत भी थीं। जनसभा के बाद 1.20 बजे करतारपुर बॉर्डर पर इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट पर कॉरिडोर का शुभारंभ कर मोदी ने पहला जत्था रवाना किया। अमेरिका में भास्कर के फॉरेन कॉरेसपोंडेंट भी सरकार के विशेष आमंत्रण पर पहले जत्थे में शामिल हुए। बॉर्डर के पास पहुंचते ही सभी जांच की औपचारिकताएं हुईं। फिर हमें एक खुले हॉल में बिठाया गया। यहीं हमें पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह दिखे जो सभी का अभिवादन कर रहे थे। सनी देओल, नवजोत सिंह सिद्धू भी वहीं थे। लोग उनके साथ फोटो खिंचवाने के लिए लाइन लगाकर खड़े थे।

 

भारतीय श्रद्धालु करतारपुर पहुंचे तो हर कोई उत्साहित था

कॉरिडोर को लेकर सिद्धू ने कहा यह अमन और शांति का लांघा मुद्दतों प्रयास के बाद खुला है। हमें इसका तहेदिल से स्वागत करना चाहिए। हालांकि जब कुछ अन्य विषयों पर उनसे सवाल हुए तो "नो कमेंट्स प्लीज" कह कर बात वहीं खत्म कर दी। जब हमने पाक इमिग्रेशन में प्रवेश किया तो सबसे पहले पाकिस्तानी मुद्रा में पैसे का आदान-प्रदान हुआ। यहां भारतीय मुद्रा में 1600 रुपए जमा हुए यानी यूएस $ 20। इमिग्रेशन काउंटर पर लोगों ने गर्मजोशी से हमारा स्वागत किया। बसों ने तीर्थयात्रियों को पवित्र करतारपुर कॉरिडोर में पहुंचाया, जहां 7000 से ज्यादा लोग पहले से मौजूद थे। जब भारतीय श्रद्धालु वहां पहुंचे तो हर कोई उत्साहित था।

 

सिद्धू-सनी को देखकर प्रशंसकों की भीड़ जुट गई

यहां सिद्धू का स्वागत एक हीरो की तरह हुआ और सनी देओल को भी देखने वालों की लाइन लग गई। यहां माथा टेकने के बाद हर कोई एक-दूसरे को मुबारकबाद दे रहा था। पाकिस्तानी सिख श्रद्धालुओं से लोग गले मिल रहे थे। हर जुबां पर यही चर्चा कि ये गलियारा भारत पाक के संबंधों की सबसे बड़ी सौगात है। इसे हम हमेशा निभाने की कोशिश करेंगे। लाहौर से आए सुखविंद सिंह ने कहा नानक ने लंबे समय बाद हमारी अरदास सुनी है। अब इस मार्ग से नफरत का पैगाम न आए तो सुखद होगा।

 

कॉरिडोर के खुलने से रोजगार भी मिलेगा: श्रद्धालु 

एक श्रद्धालु ने कहा कि इस कॉरिडोर के खुलने से हमारे बच्चों का भविष्य भी संवरेगा। यहां रोज 5000 की संगत आएगी। प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष रोजगार मिलेगा। भारत की ओर से पहुंचे नरिंदर सिंह ने कहा कि पाकिस्तान द्वारा अच्छे इंतजाम किए गए हैं बस यही दुआ है संगत के आने जाने का ये सिलसिला अब हमेशा चलता रहे। नानक का यह पवित्र स्थल बहुत ही विहंगम लग रहा था। यहां दर्शन कर लोगों के चेहरे खिल उठे। ऐसा लगा जैसे जीवन की सबसे बड़ी उपलब्धि हासिल कर ली हो।

 

सीएम कैप्टन ने कहा- पीएम मोदी के कारण दर्शन कर पाया

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि पीएम मोदी की वजह से मैं करतारपुर साहिब गुरुद्वारा के दर्शन कर पाया। पाकिस्तान को नसीहत देते कहा कि उसे शांति बनाए रखनी चाहिए और पैसा आतंकियों को न देकर अपने लोगों के विकास पर लगाना चाहिए। पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल ने कहा कि आज सिख संगत की लंबे समय से चली आ रही अरदास पूरी हुई। देश को ऐसा पीएम मिला है, जो गुरु नानक देवजी के बताए मार्ग पर चलने का प्रयास कर रहा है।

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना