केदारनाथ में VIP एंट्री बंद:प्रशासन का सेफ्टी अलर्ट, आम लोगों की तरह ही दर्शन करेंगे सभी माननीय

देहरादूनएक महीने पहले

उत्तराखंड के केदारनाथ धाम में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ने लगी है। जिसे देखते हुए प्रशासन ने शुक्रवार को VIP एंट्री पर रोक लगा दी है। DGP ने शुक्रवार को बताया कि अब सभी VIP भी आम लोगों की तरह ही दर्शन करना होगा। इसके लिए केवल दो घंटे का समय दिया जाएगा। इसके पहले सही इंतजाम नहीं होने की वजह से 28 लोगों की मौत भी हो चुकी है।

केदारनाथ में अब तक डेढ़ लाख लोगों ने किए दर्शन
श्री बद्रीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के मुताबिक 8 मई से अब तक 97 हजार 672 तीर्थयात्रियों ने बद्रीनाथ धाम में दर्शन किए। जबकि केदारनाथ धाम में 6 मई से शुक्रवार 12 मई तक 1 लाख 47 हजार 992 तीर्थयात्रियों ने दर्शन किए। बद्रीनाथ-केदारनाथ में अब तक कुल 2,45,664 दर्शन कर चुके हैं। वहीं उत्तराखंड के CM पुष्कर धामी ने लोगों से अपील की है कि जिन लोगों को स्वास्थ्य संबंधी कोई परेशानी है, वे कुछ दिन बाद यात्रा करें।

6 दिनों में लाखों श्रद्धालुओं ने किए दर्शन
कोरोना के चलते बंद रही चारधाम यात्रा करीब दो साल बाद शुरू हुई है। दर्शन करने के लिए श्रद्धालु भारी मात्रा में पहुंच रहे हैं। पिछले 6 दिनों में करीब 1 लाख 30 हजार लोगों ने दर्शन किए हैं। इसी वजह से प्रशासन ने VIP एंट्री पर रोक लगा दी है।

प्रशासन की लापरवाही से हुई मौतें
इसके पहले प्रशासन की और से सही इंतजाम नहीं होने की वजह से कई लोगों की मौत भी हो चुकी है। रुदप्रयाग से 11 बीमार लोगों को एयरलिफ्ट करके दूसरी जगहों पर भेजा गया। हालात इतने खराब थे कि भगदड़ और लाठीचार्ज की स्थिति पैदा हो गई। केदारनाथ के अलावा बद्रीनाथ और यमुनोत्री में भी प्रशासन की लापरवाही सामने आई है।

दर्शन के लिए केवल दो घंटे
जिलाधिकारी ने बताया कि धाम यात्रा पर आने वाले सभी श्रद्धालुओं को अब एक ही लाइन में खड़े होकर दर्शनों के लिए इंतजार करना होगा। लाइन में खड़े श्रद्धालुओं को दो घंटे में दर्शन कराने के निर्देश भी दिए गए हैं।

सुरक्षा के लिए की गई पुलिस तैनात
रोजाना बढ़ती भीड़ को देखते हुए मंदिर में ITBP और NDRF की टीमों को तैनात किया गया है। इसके साथ ही रास्तों में पुलिस के जवान लोगों की मदद भी कर रहे हैं। पिछले दिनों कुछ लापरवाही के मामले सामने आए थे। इसी वजह से कड़े कदम उठाए जा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...