पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Local Authorities Shall Be Held Criminally Liable । In Case Supply Of Medical Oxygen To Delhi Is Blocked । Delhi High Court Says To Centre

कोरोना पर 2 हाईकोर्ट सख्त:दिल्ली HC ने कहा- ऑक्सीजन सप्लाई रुकने के जिम्मेदार अफसर होंगे, बिलासपुर HC ने पूछा- रेलवे के आइसोलेशन कोच कहां गए ?

नई दिल्ली2 महीने पहले

देशभर में कोरोना संक्रमण अब बेकाबू होता जा रहा है। मरीजों को अब जरूरी दवाओं, हॉस्पिटल में बेड और ऑक्सीजन की किल्लत होने लगी है। स्थिति बिगड़ती देख 2 हाईकोर्ट ने सख्ती दिखाई है।दिल्ली में ऑक्सीजन सप्लाई को लेकर दो अस्पतालों की याचिका पर हाईकोर्ट ने गुरुवार को कहा कि अगर दिल्ली में ऑक्सीजन सप्लाई रोकी जाती है तो इसके लिए जिम्मेदार अफसरों को अपराधी ठहराया जाएगा।

इस आदेश का उल्लंघन किया गया तो क्रिमिनल एक्शन लिया जाएगा। हाईकोर्ट ने केंद्र को भी निर्देश दिए कि वो अपने आदेशों का सख्ती से पालन करवाए। जस्टिस विपिन सिंघई और जस्टिस रेखा पल्ली ने कहा- सरकार चाहे तो जमीन-आसमान एक कर सकती है। मामले की अगली सुनवाई 26 अप्रैल को होगी।

वहीं, छत्तीसगढ़ के बिलासपुर हाईकोर्ट ने राज्य सरकार से पूछा है कि अगर अस्पतालों में बेड नहीं है तो रेलवे के 100 से ज्यादा आइसोलेशन कोच का इस्तेमाल क्यों नहीं हो रहा? बिलासपुर के सिम्स अस्पताल ने RT-PCR टेस्ट क्याें बंद कर दिए गए? ट्रेन के आइसोलेशन कोच शुरू किए जाने और टेस्ट के मामले में चीफ जस्टिस की डिवीजन बेंच ने केंद्र सरकार और राज्य सरकार को से शुक्रवार तक जवाब मांगा है।

दिल्ली के अस्पताल ने कोर्ट से कहा था- बस 3 घंटे की ऑक्सीजन बची है
रोहिणी के सरोज सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल ने हाईकोर्ट में एप्लीकेशन दी थी और कहा था कि हमारे पास केवल 3 घंटे की ऑक्सीजन बची है। मैक्स अस्पताल ने भी ऑक्सीजन सप्लाई को लेकर पिटीशन दाखिल की। इस पर केंद्र ने भरोसा दिलाया था कि 370 मीट्रिक टन रोजाना सप्लाई को बढ़ाकर 480 मीट्रिक टन किया जाएगा।

इस पर आज दिल्ली सरकार ने कहा कि सप्लाई बढ़ाई तो गई, लेकिन असलियत ये है कि दिल्ली को केवल 80-100 मीट्रिक टन ऑक्सीजन ही मिली है। राज्य सरकार ने कोर्ट को बताया कि हरियाणा से जो टैंकर भेजे गए थे, उन्हें पहुंचने में दिक्कत हुई और इसी वजह से शॉर्टेज हुई।

केंद्र ने कहा- राज्यों में ऑक्सीजन वाली गाड़ियों की जिम्मेदारी DM-SSP पर
कोर्ट को यह भी बताया गया कि केंद्र ने डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट के तहत एक आदेश जारी किया है। इसमें देशभर में ऑक्सीजन ले जा रही गाड़ियों के फ्री मूवमेंट का निर्देश दिया गया है। जिलों के डीएम और एसएसपी ऐसे वाहनों की बिना अवरोध आवाजाही के लिए निजी तौर पर जिम्मेदार होंगे।

इस पर कोर्ट ने कहा कि ऐसी गाड़ियों को पर्याप्त सुरक्षा मुहैया कराई जाए। ऐसा करने में अफसर नाकाम हुए तो उनके खिलाफ क्रिमिनल एक्शन लिया जाएगा।

मदद के लिए आगे आई पुलिस

ऑक्सीजन सप्लाई में मदद दे रही पुलिसदिल्ली में ऑक्सीजन की भारी कमी को पूरा करने में दिल्ली पुलिस भी मदद कर रही है। दिल्ली के कई अस्पतालों में ऑक्सीजन को सुरक्षित पहुंचाने के लिए पुलिसकर्मी मदद कर रहे हैं। कुछ हॉस्पिटल्स को ऑक्सीजन सिलेंडर नहीं मिल पाए तो दिल्ली पुलिस ने तमाम दिक्कतों को दूर कर अपनी सुरक्षा में इन्हें हॉस्पिटल्स तक पहुंचाया।

सिसोदिया का आरोप-ऑक्सीजन टैंकर्स रोक रहे यूपी-हरियाणा के अफसर
दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन को चिट्‌ठी लिखी है। सिसोदिया ने आरोप लगाया है कि उत्तर प्रदेश और हरियाणा के अफसर दिल्ली आने वाले ऑक्सीजन टैंकर्स को रोक रहे हैं। इससे यहां के अस्पतालों में समय से ऑक्सीजन नहीं पहुंच पा रहा है।

खबरें और भी हैं...