--Advertisement--

लोकसभा अपडेट्स /राबड़ी ने कहा- जदयू और राजद के विलय का प्रस्ताव लेकर आए थे प्रशांत किशोर

Dainik Bhaskar

Apr 12, 2019, 07:08 PM IST


Loksabha Election 12 April 2019 latest news and updates
X
Loksabha Election 12 April 2019 latest news and updates
  • comment

  • राबड़ी ने बताया- प्रशांत के प्रस्ताव पर उन्हें गुस्सा आ गया और उन्होंने घर से बाहर जाने को कहा
  • पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा- नीतीश कुमार के धोखे के बाद उन्हें मुख्यमंत्री पर कोई विश्वास नहीं रह गया

पटना. बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने शुक्रवार को दावा किया कि प्रशांत किशोर ने लालू प्रसाद यादव से मुलाकात कर जदयू और राजद के विलय का प्रस्ताव रखा था। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार लोकसभा चुनाव के पहले खुद को प्रधानमंत्री उम्मीदवार घोषित कराना चाहते थे।

 

एक स्थानीय चैनल से बात करते हुए राबड़ी ने कहा कि अगर प्रशांत किशोर इस मुलाकात के बारे में मना कर रहे हैं तो वे झूठ बोल रहे हैं। उन्होंने बताया, "इस बात से मुझे गुस्सा आ गया और मैंने उन्हें घर से बाहर जाने के लिए कहा। नीतीश कुमार के धोखे के बाद मुझे उनपर कोई विश्वास नहीं रह गया।''

  • दिग्विजय सिंह के खिलाफ उमा भारती या प्रज्ञा ठाकुर के चुनाव लड़ने की अटकलें

    केंद्रीय मंत्री उमा भारती भोपाल सीट से कांग्रेस प्रत्याशी और मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के खिलाफ चुनाव लड़ सकती हैं। उमा के नहीं लड़ने की स्थिति में पार्टी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को भी मैदान में उतार सकती है। संघ ने उमा भारती को चुनाव लड़ने के लिए मना लिया है। हालांकि, इससे पहले उमा भारती चुनाव लड़ने से इनकार कर चुकी हैं। इसके बाद भाजपा ने उन्हें पार्टी का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया। वहीं, साध्वी प्रज्ञा ठाकुर मालेगांव बम ब्लास्ट मामले में 9 साल जेल में रह चुकी हैं।

  • राहुल ने कहा- तमिलनाडु पर नागपुर का शासन नहीं होने देंगे

    कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने तमिलनाडु के कृष्णगिरी में चुनावी रैली को संबोधित किया। यहां राहुल ने आरएसएस और भाजपा पर तंज कसते हुए कहा, ''हम कभी भी तमिलनाडु के लोगों पर नागपुर को शासन नहीं करने देंगे। तमिलनाडु पर यहीं के लोगों का शासन होने जा रहा है। एमके स्टालिन तमिलनाडु के मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं।''

  • पार्टियां 30 मई तक चुनाव आयोग को इलेक्टोरल बॉन्ड से जुटाए चंदे की जानकारी दें: सुप्रीम कोर्ट

    सुप्रीम कोर्ट ने राजनीतिक दलों को निर्देश दिए हैं कि वह इलेक्टोरल बॉन्ड के जरिए जुटाई गई रकम की जानकारी 30 मई तक सीलबंद लिफाफे में चुनाव आयोग को दें। कोर्ट ने कहा है कि इलेक्टोरल बॉन्ड से चंदा लेने वाली पार्टियों को दानकर्ता के नाम के साथ, उनसे मिली रकम की भी जानकारी देनी होगी।

     

    क्या हैं इलेक्टोरल बॉन्ड के जरिए डोनेशन के नियम ?

    • कोई भी रजिस्टर्ड राजनीतिक दल जिसने पिछले लोकसभा या विधानसभा चुनाव में 1% वोट हासिल किए हों, वह इलेक्टोरल बॉन्ड के जरिए डोनेशन ले सकता है।   
    • इलेक्टोरल बॉन्ड 10 दिन के लिए जारी किए जाते हैं। लोकसभा चुनाव के साल में 30 दिन का अतिरिक्त समय दिया जाता है। 
    • इन बॉन्ड की वैलिडिटी जारी करने के बाद 15 दिन तक होती है। इस दौरान इन्हें कैश करवाना पड़ता है।
    • ये बॉन्ड 1 हजार, 10 हजार, 1 लाख, 10 लाख और 1 करोड़ रुपए की वैल्यू के होते हैं। इन पर डोनर या जिस पार्टी को डोनेट किया जा रहा है उसकी जानकारी नहीं होती।

  • स्मृति ने कहा- मैं अमेठी में कांग्रेस के खिलाफ काम करती रहूंगी

    भाजपा प्रत्याशी और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी इस समय अमेठी लोकसभा सीट पर जीत दर्ज करने के लिए जोरो-शोरों के साथ चुनाव प्रचार कर रही हैं। इसी दौरान स्मृति ने कहा, ''पिछले पांच सालों में उन्होंने (कांग्रेस) मुझ पर हर संभव हमला किया है। मैं उन्हें सिर्फ एक संदेश देना चाहती हूं कि तुम जितनी चाहे मेरी इंसल्ट कर लो, जितने चाहे हमला कर लो, लेकिन मैं अमेठी में कांग्रेस के खिलाफ हमेशा काम करती रहूंगी।''

  • हिमाचल में ऊर्जा मंत्री अनिल शर्मा ने पद से इस्तीफा दिया

    हिमाचल प्रदेश की जयराम सरकार में ऊर्जा मंत्री अनिल शर्मा ने पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने अपना इस्तीफा सीएम ऑफिस को भेजा है। अनिल के पिता पंडित सुखराम और बेटे आश्रय के कांग्रेस में चले जाने के बाद सियासी हलचल तेज हो गई थी। कांग्रेस ने अनिल शर्मा के बेटे आश्रय को मंडी लोकसभा क्षेत्र से चुनावी मैदान में उतारा है। हालांकि, अनिल शर्मा ने यह साफ कर दिया है कि उन्होंने सिर्फ मंत्री पद से इस्तीफा दिया है। वे अभी भी भाजपा के विधायक हैं।

  • मोदी की बायोपिक पर 15 अप्रैल को सुनवाई करेगी सुप्रीम कोर्ट

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बायोपिक पर चुनाव आयोग के बैन के खिलाफ फिल्म के निर्माता सुप्रीम कोर्ट पहुंचे हैं। अदालत ने याचिका मंजूर करते हुए इस पर सुनवाई के लिए 15 अप्रैल की तारीख दी है। दरअसल, सुप्रीम कोर्ट पहले भी फिल्म पर बैन की मांग करने वाली एक याचिका खारिज कर चुका है। तब कोर्ट ने इसे चुनाव आयोग की जिम्मेदारी बताया था। इसके एक दिन बाद ही आयोग ने फिल्म को बैन कर दिया था।

  • फेसबुक-ट्विटर से नियमों का उल्लंघन करने वाली 500 पोस्ट हटाईं

    चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव के दौरान सोशल मीडिया के दुरुपयोग को रोकने के लिए सख्त कदम उठाए हैं। इसके तहत ट्विटर और फेसबुक सहित अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से नियमों का उल्लंघन करने वाली 500 से ज्यादा पोस्ट को हटाया गया। उपचुनाव आयुक्त धीरेन्द्र ओझा ने गुरुवार को बताया कि नियमानुसार फेसबुक से सबसे ज्यादा 468 पोस्ट हटाई गईं। इनमें ज्यादातर मामले तेलंगाना, कर्नाटक और असम के थे। पहले चरण के मतदान से 48 घंटे पहले प्रचार थमने के दौरान ‘शांतिकाल’ में ट्विटर से भी दो पोस्ट हटाई गईं।

  • योगी और मायावती को चुनाव आयोग का नोटिस, 24 घंटे में जवाब मांगा

    चुनाव आयोग ने गुरुवार को बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को आचार संहिता के उल्लंघन के आरोप में नोटिस जारी किया है। दरअसल, मायावती ने सहारनपुर के देवबंद में 7 अप्रैल को मुस्लिम समुदाय से अपील की थी कि वह अपने वोट बंटने न दें और महागठबंधन के प्रत्याशी को वोट दें।


    वहीं, योगी ने मेरठ की एक रैली में कहा था कि कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, बसपा को चुनाव में अली पर भरोसा है और हमें बजरंगबली पर। योगी ने कहा था कि जो लोग मंच से अली-अली चिल्लाते हैं, वे इस देश में हरा वायरस फैलाना चाहते हैं। उन्हें पता चल गया है कि बजरंग बली उन्हें कभी बर्दाश्त नहीं करेंगे। 

  • 'हमारे बंगले में नल की टोंटी ढुंढवाई, हमारी सरकार बनी तो बाबा की चिलम ढुंढवाएंगे'

    उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने गुरुवार को संभल में गठबंधन प्रत्याशी शफीकुरर्हमान बर्क के समर्थन में कैलादवी में सभा की। इस दौरान समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश ने टोटीकांड के बहाने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर हमला बोला। उन्होंने कहा, ''जब मैंने मुख्यमंत्री आवास छोड़ा था तो बाबा के निर्देश पर टोटियां ढूंढी गईं थीं। अगर सपा की सरकार बनती है तो हम वहां चिलम ढुंढवाएंगे। उस दौरान मुख्यमंत्री आवास को गंगाजल से धुलवाया गया था, तब मुझे अपनी पिछड़ी जाति पर बेहद अफसोस हुआ था।''

  • भाजपा की मांग- प.बंगाल के 297 बूथों पर फिर हो मतदान

    भाजपा का प्रतिनिधि मंडल शुक्रवार को चुनाव आयोग से मिला। सदस्यों ने प.बंगाल की कूच बिहार लोकसभा के 297 बूथों पर फिर से मतदान करवाए जाने की मांग की। सदस्यों ने आयोग से न्यायपूर्ण चुनाव के लिए केंद्रीय बलों को तैनात किए जाने की बात भी कही। मंडल में शामिल रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा, ''टीएमसी के गुंडों ने गुरुवार को प.बंगाल में लोगों को मतदान से रोका। हमारी मांग है कि फिर से मतदान करवाया जाए और हर बूथ पर दो सीएपीएफ जवान तैनात किए जाएं।''
     

COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543
विज्ञापन