• Hindi News
  • National
  • Maharashtra Black Magic Death; Parents Killed 5 Year Old Daughter In Nagpur

महाराष्ट्र में माता-पिता ने की बेटी की हत्या:5 साल की बच्ची पर काला-जादू कर रहे थे; सवाल का जवाब नहीं दे पाई तो पीट-पीटकर मार डाला

नागपुर4 महीने पहले

महाराष्ट्र के नागपुर में एक पति-पत्नी ने अपनी पांच साल की बच्ची को पीट-पीट कर मार डाला। वे बुरी शक्तियों को दूर करने के लिए बच्ची पर काला-जादू करा रहे थे। पुलिस के मुताबिक, यह घटना शुक्रवार-शनिवार की दरम्यानी रात हुई। बच्ची के पिता सिद्धार्थ चिमने (45 साल), मां रंजना (42 साल) और आंटी प्रिया बानसोड़ (32 साल) को गिरफ्तार कर लिया गया है।

यूट्यूब पर लोकल न्यूज चैनल चलाता है पिता
पुलिस ने बताया कि बच्ची का पिता सिद्धार्थ यूट्यूब पर एक लोकल न्यूज चैनल चलाता है। वह पिछले महीने गुरु पूर्णिमा के मौके पर अपनी पत्नी और 5 और 16 साल की दो बेटियों के साथ तकलघाट इलाके में एक दरगाह गया था।

वहां से लौटने के बाद उसे अपनी छोटी बेटी के बर्ताव में कुछ बदलाव होने का शक हुआ। उसे लगा कि उसकी बेटी पर बुरी शक्तियां हावी हो गई हैं, इसलिए उसने बेटी पर काला जादू करने का तय किया।

पुलिस को आरोपियों के फोन से पूरी घटना का वीडियो बरामद हुआ, जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया।
पुलिस को आरोपियों के फोन से पूरी घटना का वीडियो बरामद हुआ, जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया।

फोन पर रिकॉर्ड की बच्ची से मारपीट
बच्ची के पिता और आंटी ने रात में बच्ची पर जादू-टोना किया। इस दौरान बच्ची रोने लगी। फिर उन्होंने बच्ची से कुछ सवाल पूछे, जिन्हें बच्ची समझ नहीं पाई और उनका जवाब नहीं दे पाई। इसके बाद तीनों ने बच्ची को मारना शुरू किया। उन्होंने उसे इतना मारा कि वह बेहोश होकर जमीन पर गिर पड़ी। आरोपियों ने इस पूरे वाकये का वीडियो भी बनाया। पुलिस को उनके फोन से यह वीडियो बरामद हुआ है।

बच्ची बेहोश हुई तो उसे अस्पताल ले गए आरोपी
शनिवार सुबह तीनों आरोपी बच्ची को लेकर पहले दरगाह गए। इसके बाद उसे सरकारी अस्पताल में भर्ती कराकर भाग गए। अस्पताल के सिक्योरिटी गार्ड को तीनों पर शक हुआ तो उसने उनकी कार की फोटो क्लिक कर ली। अस्पताल में डॉक्टरों ने बच्ची को मृत घोषित कर दिया और पुलिस को सूचना दी।

अंधविश्वास और काला जादू रोधी एक्ट के तहत केस दर्ज
सिक्योरिटी गार्ड ने कार की जो फोटो क्लिक की, उसके आधार पर गाड़ी के रजिस्ट्रेशन नंबर से आरोपियों की पहचान की गई। राणा प्रताप नगर पुलिस स्टेशन से अधिकारियों ने आरोपियों को उनके घर से गिरफ्तार किया। आरोपियों के खिलाफ मानव बलि का खात्मा एक्ट और अंधविश्वास और काला जादू रोधी एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है।