• Hindi News
  • National
  • Zakir Naik, Malaysia Minister M. Kulasegaran Says Islamic preacher Zakir Naik fugitive, Should be sent back to India

प्रत्यर्पण / मलेशिया के मंत्री ने कहा- जाकिर नाइक भगोड़ा, उसे भारत भेजा जाए; आज कैबिनेट फैसला करेगी



जाकिर नाइक तीन साल से मलेशिया में रह रहा है। (फाइल) जाकिर नाइक तीन साल से मलेशिया में रह रहा है। (फाइल)
X
जाकिर नाइक तीन साल से मलेशिया में रह रहा है। (फाइल)जाकिर नाइक तीन साल से मलेशिया में रह रहा है। (फाइल)

  • मलेशिया के मानव संसाधन मंत्री के मुताबिक, जाकिर उनके देश में नफरत फैलाने की साजिश रच रहा
  • जाकिर नाईक के भारत प्रत्यर्पण को लेकर मलेशियाई कैबिनेट की आज अहम बैठक होगी
  • भारत में जाकिर पर मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकवाद बढ़ावा देने के आरोप, तीन साल पहले विदेश भागा

Dainik Bhaskar

Aug 14, 2019, 02:09 PM IST

नई दिल्ली/कुआलालम्पुर. मलेशिया के मानव संसाधन विकास मंत्री एम. कुलसेगरन ने जाकिर नाइक को भारत के हवाले करने की मांग की है। बुधवार को होने वाली कैबिनेट की अहम बैठक में जाकिर के भारत प्रत्यर्पण पर फैसला हो सकता है। भारत से भागने के बाद वह पिछले तीन साल से मलेशिया में रह रहा है। जाकिर पर मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकवाद को बढ़ावा देने के आरोप हैं।

 

मंगलवार को कुलसेगरन ने एक पत्र जारी किया। इसमें कहा- जाकिर मलेशिया के कर दाताओं के पैसे पर यहां मौज कर रहा है। उस पर गंभीर आरोप हैं। वो मलेशिया में सामुदायिक घृणा फैलाने की साजिश रच रहा है। उसे भारत को सौंप देना चाहिए। वहां वो अपने ऊपर लगे आरोपों का सामना करेगा। मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद पहले नाइक के प्रत्यर्पण से इनकार कर चुके हैं लेकिन अब इस इस्लामी धर्मगुरू का वहां विरोध तेज हो गया है। 

 

मलेशिया में तीन साल से है जाकिर
भारत से भागने के बाद नाइक तीन साल से मलेशिया में रह रहा है। हाल ही में उसने एक बयान दिया। कहा- मलेशियाई हिंदुओं के पास भारत में रहने वाले मुसलमानों से 100 फीसदी ज्यादा अधिकार हैं। यहां के हिंदू महातिर मोहम्मद से ज्यादा नरेंद्र मोदी को मानते हैं। मलेशिया की जनसंख्या करीब 3 करोड़ 20 लाख है। इसमें 60 फीसदी मुसलमान हैं। इसके बाद सर्वाधिक जनसंख्या हिंदुओं की है। यहां की राजनीति और कारोबार में भी हिंदुओं का काफी प्रभाव है।

 

स्थायी नागरिकता का हकदार नहीं
कुलसेगरन ने कहा- जाकिर जैसे लोग हमारे विविधता वाली संस्कृति में रहने के हकदार नहीं हैं। उसे मलेशिया की स्थायी नागरिकता कतई नहीं दी जानी चाहिए। नाइक ने खुद पर लगे आरोपों को गलत बताया है। उसने कहा कि सियासी वजहों से इस तरह के आरोप लगाए जा रहे हैं। दूसरी तरफ, मलेशियाई न्यूज एजेंसी ने पीएम महातिर मोहम्मद का बयान जारी किया। इसमें कहा गया है कि जाकिर को भारत के हवाले नहीं किया जा सकता क्योंकि वहां उसकी जान को खतरा हो सकता है। अगर कोई दूसरा देश उसको शरण देना चाहता है तो हम तैयार हैं।

 

DBApp

 

 

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना