• Hindi News
  • National
  • Mamata Banerjee PM Modi | West Bengal Chief Minister Mamata Delhi Visit Updates

PM मोदी से मिलीं ममता:बंगाल CM ने प्रधानमंत्री को पत्र सौंपा; मनरेगा, PM आवास और सड़क योजना के लिए फंड मांगा

नई दिल्ली7 दिन पहले
बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आज PM आवास पर मुलाकात की।

पश्चिम बंगाल की CM ममता बनर्जी 4 दिन के दौरे पर दिल्ली पहुंची हैं। दीदी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से PM आवास पर मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने राज्य के GST बकाए सहित कई मुद्दों पर बात की। इससे पहले ममता ने पिछले साल 24 नवंबर को PM से मुलाकात की थी।

ममता का यह दौरा ऐसे समय हो रहा है, जब उनकी पार्टी के नेता पार्थ चटर्जी के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय (ED) लगातार कार्रवाई कर रही है। ममता ने शाम 6 बजे राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से भी मुलाकात की। राष्ट्रपति बनने के बाद द्रौपदी मुर्मू की ममता बनर्जी से यह पहली मुलाकात थी।

ममता बनर्जी ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को पुष्प गुच्छ देकर अभिवादन किया।
ममता बनर्जी ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को पुष्प गुच्छ देकर अभिवादन किया।

फंड अलॉट करने के लिए पीएम मोदी को पत्र सौंपा
ममता बनर्जी ने पीएम मोदी को एक पत्र सौंपा है। इसमें उन्होंने मनरेगा, पीएम आवास योजना और पीएम ग्रामीण सड़क योजना को लागू करने के लिए राज्य को फंड रिलीज करने की अपील की है। पत्र में उन्होंने लिखा कि इन योजनाओं को लेकर केंद्र की तरफ से 17,996 करोड़ रुपए रुके हुए हैं।

ममता ने पत्र में यह भी लिखा कि विकास और जन-कल्याण से जुड़ीं कई योजनाओं पर सरकार की तरफ से करीब 1,00,968.44 करोड़ रुपए दिए जाने बाकी हैं। इतनी बड़ी रकम के रुके होने से राज्य के कामों को पूरा करने और लोगों के लिए सुविधाएं जुटाने में परेशानी हो रही है।

नीति आयोग की बैठक में शामिल होंगी
बंगाल CM 7 अगस्त को राजधानी में होने वाली नीति आयोग के कार्यक्रम में हिस्सा लेंगी। इसके साथ ही वे विपक्षी दलों के वरिष्ठ नेताओं से भी मिलेंगी। आज रात ममता TMC के राज्यसभा सदस्य सुखेंदु शेखर रॉय के आवास पर पार्टी के सांसदों से मुलाकात कर सकती हैं। शनिवार को वे गैर-कांग्रेसी विपक्षी नेताओं के साथ राजनीतिक मसलों पर चर्चा कर सकती हैं।

उपराष्ट्रपति चुनाव से पहले ममता का दौरा अहम
देश में 6 अगस्त को होने वाले उपराष्ट्रपति चुनाव के चलते ममता का यह दौरा खास माना जा रहा है। बता दें कि ममता बनर्जी की पार्टी ने उपराष्ट्रपति चुनाव में शामिल नहीं होने का फैसला लिया है। साथ ही उन्होंने हर संसद सत्र के दौरान दिल्ली आने का ऐलान भी किया था। ममता बनर्जी के दिल्ली दौरे से तृणमूल कांग्रेस के सांसदों का मनोबल बढ़ेगा।

पार्टी के सांसद लगातार भाजपा सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन की अगुआई कर रहे हैं। राष्ट्रपति चुनाव में विपक्षी एकता में दिखी फूट के बीच भी ममता बनर्जी का यह दौरा बेहद अहम है। बीते दिनों कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस के बीच तनाव भी देखने को मिली थी।