• Hindi News
  • National
  • Mamata Banerjee Nephew Abhishek Banerjee ED Coal Smuggling Scam Evidence

मनी लॉन्ड्रिंग केस में अभिषेक बनर्जी से पूछताछ:दिल्ली में ED के ऑफिस पहुंचे तृणमूल सांसद, कहा- आरोप साबित हुआ तो फांसी पर लटक जाऊंगा

कोलकाताएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे और TMC महासचिव अभिषेक बनर्जी से ED आज मनी लॉन्ड्रिंग केस में पूछताछ करेगी। अभिषेक ED के दफ्तर पहुंच गए हैं। इस दौरान उन्होंने कहा कि मैं यहां इसलिए आया हूं, क्योंकि एजेंसी ने मुझे तलब किया था। मैं जांच एजेंसी का सहयोग करूंगा।

इससे पहले उन्होंने केंद्रीय जांच एजेंसी और BJP पर निशाना साधा। TMC सांसद ने कहा, "अगर जांच एजेंसियों के पास किसी भी मामले में मेरे खिलाफ कोई सबूत है तो उसे सार्वजनिक करें। TMC आपके (भाजपा) के सामने कभी नहीं झुकेगी। आप जो कर सकते हैं, करें।" उन्होंने आगे कहा, "अगर कोई साबित कर सकता है कि मैंने किसी से 10 पैसे भी लिए हैं तो मैं खुद को फांसी लगा लूंगा।"

अभिषेक बनर्जी ने कहा, "मैंने नवंबर में एक जनसभा में कहा था कि मैं किसी भी जांच का सामना करने के लिए तैयार हूं। उन्होंने मुझे दिल्ली बुलाया है, हालांकि मामला कोलकाता से संबंधित है। वे (भाजपा) चुनाव हार गए और अब बदला लेने के लिए एजेंसियों का इस्तेमाल कर रहे हैं।" उन्होंने चुनौती दी, "BJP के किसी भी राष्ट्रीय नेता का लाइव टेलीविजन शो में मेरा सामना करवा दें। वो समय और जगह चुन लें। मैं साबित करूंगा कि उन्होंने देश के लिए क्या किया है।"

अभिषेक बनर्जी से ED आज पूछताछ करेगी
अभिषेक बनर्जी आज दिल्ली में ED के सामने पेश होंगे। कोयला तस्करी को लेकर हुई मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में एजेंसी उनसे पूछताछ करेगी। अभिषेक की पत्नी रुजिरा बनर्जी को भी एजेंसी ने बुलाया था, लेकिन उन्होंने कोरोना महामारी का हवाला देते हुए अपने घर पर ही पूछताछ करने की अपील की।

कोयला घोटाले में TMC नेताओं पर लगे हैं आरोप
कोयला घोटाले में TMC के नेताओं पर आरोप लगे हैं। इसमें अभिषेक बनर्जी का नाम भी शामिल है। आरोप है कि बंगाल में अवैध रूप से कई हजार करोड़ के कोयले का खनन किया गया और एक रैकेट के जरिए इसे ब्लैक मार्केट में बेचा गया। पिछले साल सितंबर में इस कथित घोटाले की जांच शुरू हुई।

शेल कंपनियों के जरिए ब्लैकमनी को व्हाइट करने का आरोप
BJP नेताओं का दावा है कि कोयला घोटाले से मिली ब्लैकमनी को TMC नेताओं ने शेल कंपनियों के जरिए व्हाइट मनी में बदला। इसमें सबसे ज्यादा फायदा मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी को हुआ है। वहीं, TMC नेता लगातार यह कहते रहे हैं कि राजनीतिक बदले की भावना से यह कार्रवाई की जा रही है।

शुभेंदु अधिकारी के CID के सामने पेश नहीं होने के कयास
दूसरी तरफ, पश्चिम बंगाल में विपक्ष के नेता और BJP विधायक शुभेंदु अधिकारी को CID ने आज पूछताछ के लिए बुलाया है। ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि वह आज पूछताछ के लिए हाजिर न हों। शुभेंदु से उनके बॉडीगार्ड की मौत के मामले में यह पूछताछ होनी है। CID ने इस मामले में उन्हें रविवार को समन जारी किया था। उनके गार्ड शुभब्रत चक्रवर्ती ने 2018 में कथित तौर पर खुद को गोली मार ली थी। गार्ड की पत्नी ने अपने पति की मौत की जांच की मांग की है।

खबरें और भी हैं...