• Hindi News
  • National
  • Mamata Banerjee TMC Party Leader Madan Mitra Warning To BJP | West Bengal News

ममता के MLA की भाजपा को धमकी:मित्रा बोले- दो लड़के भेजेंगे, वो चार बम फेंकेंगे तो बड़ी-बड़ी बातें करने वाले भागते नजर आएंगे

कोलकाता18 दिन पहले

पश्चिम बंगाल के TMC विधायक मदन मित्रा ने भाजपा पर विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा कि 13 सितंबर को सचिवालय मार्च के दौरान हिंसा में शामिल रहे भाजपा कार्यकर्ताओं को ठीक करने में महज 10 मिनट लगेंगे। मित्रा ने कहा- हम एक बाइक पर दो लड़के भेज सकते हैं, जो चार देसी बम फेंकेंगे। इससे बड़ी-बड़ी बातें करने वाले लोग भागते नजर आएंगे। मित्रा ने अपने निर्वाचन क्षेत्र कमरहाटी में रविवार को एक जनसभा में यह बात कही।

हालांकि फिर बात को संभालते हुए मित्रा ने कहा कि हमारी पार्टी भाजपा की नीतियों का बदला लेने के पक्ष में नहीं है। हम केवल भाजपा को यह बताना चाहते हैं कि TMC क्या कर सकती है, लेकिन हम उस हद तक नहीं जाएंगे। इस तरह की कार्रवाई का कोई मतलब नहीं है। ऐसा करना अच्छी बात नहीं है। TMC विकास चाहती है, हिंसा नहीं। हमारी पार्टी प्यार और करुणा की भाषा बोलती है, बर्बरता की नहीं।

दोगुनी ताकत से जवाब दे सकते हैं
मित्रा ने कहा कि प्रदर्शनकारियों ने सरकारी संपत्तियों पर हमला किया। TMC और प्रशासन को धमकी दी। अगर पार्टी के उच्चाधिकारियों से कोई निर्देश मिलता है तो गुंडागर्दी और बर्बरता में शामिल लोगों को पीटने में समय नहीं लगेगा। TMC हमलावरों के रूप में दोगुनी ताकत से जवाबी कार्रवाई कर सकती है।

भाजपा बोली- समर्थन खो रहे मित्रा
मित्रा के बयान पर भाजपा नेता राहुल सिन्हा ने कहा- TMC नेता इस तरह की टिप्पणियां इसलिए कर रहे हैं क्योंकि वे आम लोगों का समर्थन खो रहे हैं। TMC केवल कुछ ही दिनों की है। वहीं भाजपा विधायक श्रीरूपा मित्रा चौधरी ने कहा कि मित्रा को ऐसे बयान देने की आदत है। हमने उन्हें पहले भी इस तरह के बयान देते हुए देखा है। वह जो कहते हैं, उस पर प्रतिक्रिया देना बेकार है। वे अपनी नौटंकी के लिए जाने जाते हैं।

भाजपा के नबन्ना चलो मार्च में पुलिस की गाड़ी फूंकी थी

भाजपा ने 13 सितंबर को ममता बनर्जी की सरकार के खिलाफ भ्रष्टाचार और कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर आंदोलन किया था। इसे सचिवालय चलो मार्च (नबन्ना चलो मार्च) नाम दिया गया था। इसके लिए पश्चिम बंगाल के कई जिलों से भाजपा कार्यकर्ता और नेता ट्रेन और बसों से कोलकाता पहुंचे थे। भाजपा कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच हिंसक झड़प हुई थी।

कोलकाता के लाल बाजार एरिया में प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की गाड़ी फूंक दी थी। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने जमकर पत्थरबाजी भी की थी। इसके बाद आंदोलन का नेतृत्व कर रहे भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी और प्रदेश अध्यक्ष सुकांता मजुमदार को हिरासत में ले लिया गया था। भाजपा की रैली में हिंसा से जुड़ी पूरी खबर यहां पढ़ें...

खबरें और भी हैं...