• Hindi News
  • National
  • Mamata Banerjee TMC Party Vs BJP; Congress BS Srinivas Tweets Video Of Police Van

बंगाल हिंसक प्रदर्शन से जुड़ा वीडियो वायरल:कांग्रेस नेता ने ट्वीट कर कहा- राष्ट्रवादी दंगाइयों ने लगाई पुलिस की गाड़ी में आग, प्रधानमंत्री नहीं करेंगे माफ

कोलकाता3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोलकाता के लाल बाजार एरिया में प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की गाड़ी में आग लगा दी  थी - Dainik Bhaskar
कोलकाता के लाल बाजार एरिया में प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की गाड़ी में आग लगा दी  थी

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में 13 सितंबर को ममता बनर्जी सरकार के खिलाफ भाजपा का सचिवालय (नबन्ना) चलो मार्च हिंसक हो गया था। जिसके बाद से भाजपा और टीएमसी के बीच वाक युद्ध जारी है। इस बीच युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रमुख बीएस श्रीनिवास ने एक वीडियो ट्वीट किया है, जिसमें ऑरेंज कलर की टी-शर्ट में पहना एक व्यक्ति पुलिस की गाड़ी में रखे तौलिए को सिगरेग लाइटर से जलाने की कोशिश कर रहा है।

वीडियो पोस्ट करते हुए श्रीनिवास ने लिखा है, "बस पहचानिए, किस पार्टी के 'राष्ट्रवादी दंगाई' पश्चिम बंगाल में पुलिस की जीपें जला रहे हैं?"

मार्च के दौरान प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की गाड़ी में आग लगा दी थी।
मार्च के दौरान प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की गाड़ी में आग लगा दी थी।

श्रीनिवास ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक और वीडियो पोस्ट किया है, जिसमें एक आदमी भाजपा के झंडे साथ पुलिस की गाड़ी में तोड़फोड़ करते दिख रहा है। इस पोस्ट के साथ कांग्रेस नेता ने लिखा है कि मुझे यकीन है कि" प्रधानमंत्री इन दंगाइयों के कपड़े, झंडे देखकर इन्हें पहचान लेंगे और दिल से कभी भी माफ नहीं करेंगे..! "

13 सितंबर को हिंसक प्रदर्शन के दौरान कोलकाता के लाल बाजार एरिया में प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की गाड़ी में आग लगा दी थी। जिसके बाद भीड़ को कंट्रोल करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। भाजपा कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले और वाटर कैनन का भी इस्तेमाल किया था। पुलिस ने आंदोलन का नेतृत्व कर रहे विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी और प्रदेश अध्यक्ष सुकांता मजुमदार को भी हिरासत में लिया था।

प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए पुलिस को करना पड़ा था वाटर कैनन का इस्तेमाल।
प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए पुलिस को करना पड़ा था वाटर कैनन का इस्तेमाल।

भाजपा ने ममता बनर्जी सरकार के खिलाफ भ्रष्टाचार और कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर प्रदेशव्यापी आंदोलन का ऐलान किया था। इसे सचिवालय चलो मार्च (नबन्ना चलो मार्च) नाम दिया था। इसके लिए दो दिन पहले से ही पश्चिम बंगाल के विभिन्न जिलों से भाजपा कार्यकर्ता और नेता ट्रेन और बसों से कोलकाता पहुंच रहे थे। पुलिस ने प्रदर्शन के खिलाफ सख्ती दिखाते हुए भाजपा कार्यकर्ताओं को विभिन्न जिलों में ही हिरासत में लेना शुरू कर दिया था।

ट्रेन और बसों से आने वाले कार्यकर्ताओं को भी रेलवे स्टेशन और बस टर्मिनल से ही पुलिस उठा रही थी। पुलिस की कार्रवाई से प्रदर्शनकारी भड़के हुए थे।

पुलिस प्रदर्शनकारियों को घसीटते हुए थाने ले गई।
पुलिस प्रदर्शनकारियों को घसीटते हुए थाने ले गई।

पश्चिम बंगाल में बुधवार को विधानसभा की शुरूआत हुई है, माना जा रहा है कि भाजपा का यह प्रदर्शन सड़क पर ताकत दिखाने की कोशिश थी। जो बाद में हिंसक हो गया। प्रदर्शन में भाजपा ने बंगाल में तृणमूल नेताओं के भ्रष्टाचार को मुद्दा बनाया था।