मिशन 2024 पर ममता:बंगाल के बाद असम-त्रिपुरा में संगठन का विस्तार, TMC की घोषणा- देश को ममता चाहिए, 2024 में बनाएंगे पहला बंगाली प्रधानमंत्री

कोलकाता11 दिन पहले

लोकसभा चुनाव 2024 से पहले कांग्रेस में चेहरे को लेकर कन्फ्यूजन के बीच तृणमूल कांग्रेस ने ममता बनर्जी को PM बनाने का संकल्प लिया है। तृणमूल कांग्रेस ने शनिवार को 'इंडिया वॉन्ट्स ममता दी' (भारत को ममता दीदी चाहिए) का वेबसाइट लॉन्च किया है। वेबसाइट लॉन्चिंग के बाद देशभर में एक अभियान चलाया जाएगा, जिसकी जिम्मेदारी तृणमूल युवा नेता संघमित्रा बनर्जी को सौंपी गई है।

राज्यसभा सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने वेबसाइट को लॉन्च किया है। लॉन्चिंग के मौके पर कहा गया है कि बंगाल के बाद अब देश ममता बनर्जी को चाह रहा है। इस दौरान नेताओं ने संकल्प लिया कि देश में पहला बंगाली PM बनाना है। देश में अब तक बंगाल से एक भी प्रधानमंत्री नहीं बना है।

संघमित्रा बनर्जी को मिली कैंपेन की जिम्मेदारी
TMC ने इस अभियान को चलाने का जिम्मा युवा नेताओं को दी है। संघमित्रा बनर्जी कैंपेन को लीड करेंगी। इसके अलावा, तृणमूल युवा कांग्रेस के सुदीप मुखर्जी और निलंजन दास को भी इसमें शामिल किया गया है। सभी तृणमूल के सोशल मीडिया सेल से जुड़े रहे हैं।

गोवा, त्रिपुरा और असम में संगठन का हो चुका है विस्तार
बंगाल चुनाव 2021 के बाद ममता बनर्जी की पार्टी असम, त्रिपुरा और गोवा में अपने संगठन का विस्तार कर चुकी है। गोवा में TMC चुनाव भी लड़ी, लेकिन उसे सफलता नहीं मिली। पिछले दिनों अभिषेक बनर्जी ने असम में पार्टी दफ्तर का उद्घाटन किया था।

असम में तृणमूल कांग्रेस ने कांग्रेस के दो कद्दावर नेता रिपुन बोरा और सुष्मिता देव को पार्टी में शामिल करा लिया।
असम में तृणमूल कांग्रेस ने कांग्रेस के दो कद्दावर नेता रिपुन बोरा और सुष्मिता देव को पार्टी में शामिल करा लिया।

कांग्रेस से गठबंधन को आत्महत्या बता चुकी है तृणमूल
लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के साथ गठबंधन की बात को तृणमूल कांग्रेस पहले ही ठुकरा चुकी है। तृणमूल नेता शुखेंदु राय ने कहा कि कांग्रेस के साथ गठबंधन करने का मतलब सुसाइड करना है। ममता बनर्जी भी पिछले साल कांग्रेस पर अटैक कर चुकी है। ममता ने कहा था कि कांग्रेस में नेता सिर्फ ट्वीट करते हैं।

कांग्रेस में चेहरे को लेकर अब भी सस्पेंस
इधर, राष्ट्रीय पार्टी कांग्रेस में 2024 के चेहरे को लेकर अब भी सस्पेंस बरकरार है। कांग्रेस में पिछले 3 साल से सोनिया गांधी अंतरिम अध्यक्ष का काम देख रही हैं।