• Hindi News
  • National
  • Manish Sisodia Vs BJP Sting Operation; Sudhanshu Trivedi On Delhi Arvind Kejriwal Government

दिल्ली शराब नीति पर BJP का नया स्टिंग:घोटाले का आरोपी VIDEO में बोला- टेंडर के लिए 5-5 करोड़ की मिनिमम फीस तय थी

नई दिल्ली3 महीने पहले
भाजपा के स्टिंग ऑपरेशन के वीडियो में दिख रहा घोटाले का आरोपी नंबर 9 अमित अरोड़ा।

दिल्ली शराब नीति पर भ्रष्टाचार को लेकर भाजपा ने एक स्टिंग ऑपरेशन किया है। वीडियो जारी करते हुए भाजपा प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने बताया कि घोटाले में आरोपी नंबर 9 अमित अरोड़ा ने केजरीवाल सरकार की पोल खोल दी है। केजरीवाल सरकार ने शराब टेंडर देने के लिए 5-5 करोड़ रुपए तक की मिनिमम फीस तय की थी। यह इसलिए ताकि छोटा-मोटा प्लेयर इस धंधे में न आ पाए।

दरअसल, BJP ने केजरीवाल सरकार पर नए शराब टेंडर के बाद गलत तरीके से शराब ठेकेदारों के 144 करोड़ माफ करने के आरोप लगाए। वहीं, दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना ने केजरीवाल सरकार के मंत्री सिसोदिया पर नियमों को नजरअंदाज कर भ्रष्टाचार करने के आरोप लगाए थे। सक्सेना ने 22 जुलाई यानी शुक्रवार को नई शराब नीति को लेकर मनीष सिसोदिया के खिलाफ CBI जांच की मांग की। इसके बाद CBI ने शराब घोटाले में सिसोदिया समेत 16 लोगों पर केस दर्ज किया था।

नए स्टिंग में 3 बड़े आरोप...

1. सभी ने केजरीवाल को पैसा दिया
घोटाले के बारे में बात करते हुए अमित अरोड़ा ने दिल्ली के कई शराब कारोबारियों का नाम लिया। उसने कहा कि सभी ने केजरीवाल को पैसा दिया है। किसी ने 100 करोड़, किसी ने 60 करोड़, किसी ने 50 करोड़ और जिसका धंधा थोड़ा छोटा है उसने 30 करोड़ रुपए दिए हैं।

अमित अरोड़ा कहते हैं कि इंडो स्पिरिट वाले ने तो 100 करोड़ रुपए का एडवांस दिया था। वो कहता था मैंने 100 करोड़ रुपए की जॉइंनिंग ली है। दिल्ली में शराब का सबसे बड़ा धंधा उसी के पास है। ये एक तरीके से ब्लैक मनी को व्हाइट करने का तरीका है। मेरे पास कैश पड़ा है और मैंने आपको एडवांस में दे दिया और अपने फिक्स्ड मार्जिन लेकर मुझे लौटा रहे हैं तो ये अपने आप में एक बिजनेस है।

करीब एक महीने पहले शराब नीति को लेकर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री पर CBI ने छापा मारा था।
करीब एक महीने पहले शराब नीति को लेकर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री पर CBI ने छापा मारा था।

2. पहले 10 लाख का लाइसेंस था, अब 5 करोड़ में मिलता है
अमित अरोड़ा ने कहा कि केजरीवाल ने शराब लाइसेंस की मिनिमम फीस को 10 लाख से बढ़ाकर 5 करोड़ रुपए कर दिया। पूरे देश में इतना महंगा लाइसेंस कहीं नहीं मिलता है, लेकिन दिल्ली में है, क्योंकि आम आदमी पार्टी चाहती ही नहीं कि छोटा प्लेयर इस मार्केट में रहे। न कोई छोटा दुकानदार 5 करोड़ रुपए फीस दे पाएगा, न उसे धंधा करने दिया जाएगा।

3. दिल्ली से लेकर पंजाब तक फैला है घोटाला
अमित अरोड़ा ने कहा कि आप दिल्ली में कहीं भी चले जाओ, सबको पता है कि केजरीवाल ने शराब बिक्री का लाइसेंस देने में घोटाला किया है। इसमें कुछ छिपा नहीं है। अमित ने कहा कि अमन डल और अनंत वाइन्स नाम के दो कारोबारियों को पंजाब में 10 हजार करोड़ रुपए का धंधा दिया गया है। एक ही दुकानदार को आप शहर में छह दुकानें खोलने देंगे तो उसको तो फायदा होगा ही। ऐसा करके आपने कॉम्पिटिशन ही मिटा दिया।

दिल्ली शराब पॉलिसी से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ सकते हैं...

आखिर नई शराब पॉलिसी पर केजरीवाल सरकार के पीछे क्यों पड़ी CBI?

2020 में दिल्ली सरकार ने नई शराब नीति लाने की बात कही थी। मई 2020 में दिल्ली सरकार विधानसभा में नई शराब नीति लेकर आई, जिसे नवंबर 2021 से लागू कर दिया गया। सरकार ने नई शराब नीति को लागू करने के पीछे 4 प्रमुख तर्क दिए थे। लेकिन इसे लेकर भाजपा ने आप पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए। दिल्ली के उपराज्यपाल ने मनीष सिसोदिया की CBI जांच कराने की मांग की। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

अनुराग ठाकुर ने कहा- दिल्ली में रेवड़ी और बेवड़ी सरकार; सिसोदिया बोले- मुझे जेल भेजने की तैयारी

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया पर CBI छापे के अगले दिन केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने AAP सरकार पर हमला बोला है। ठाकुर ने केजरीवाल सरकार को रेवड़ी और बेवड़ी सरकार तो कहा ही, साथ ही शराब घोटाले में सिसोदिया का नाम आने को लेकर तंज कसा कि अब उनके नाम में मनीष की स्पेलिंग M O N E Y SHH हो गई है। पूरी खबर यहां पढ़ें...