• Hindi News
  • National
  • Manohar Lal Khattar Haryana CM Oath Taking Swearing in Ceremony Live Updates: Manohar Lal Khatta, Dushyant Chautala

खट्टर ने दूसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली, जजपा अध्यक्ष दुष्यंत चौटाला उपमुख्यमंत्री बने

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मनोहर लाल खट्टर और दुष्यंत चौटाला। - Dainik Bhaskar
मनोहर लाल खट्टर और दुष्यंत चौटाला।
  • शपथ ग्रहण कार्यक्रम में कांग्रेस नेता भूपिंदर सिंह हुड्डा, अकाली दल के नेता प्रकाश सिंह बादल और सुखबीर बादल पहुंचे
  • 24 अक्टूबर को आए नतीजों में किसी पार्टी को बहुमत नहीं मिला, भाजपा 40 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनी
  • 90 सदस्यीय विधानसभा में दुष्यंत चौटाला की पार्टी जजपा को 10 सीटें मिलीं, शुक्रवार रात भाजपा से गठबंधन हुआ

पानीपत. हरियाणा की 14वीं विधानसभा के लिए 65 साल के मनोहर लाल खट्टर ने दूसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। उनके साथ 31 साल के जजपा अध्यक्ष दुष्यंत चौटाला ने भी उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली। हरियाणा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य ने दोनों को शपथ दिलाई। नई सरकार में भाजपा को जजपा और 7 निर्दलीय विधायकों ने समर्थन दिया है। मंत्रियों का शपथ ग्रहण दिवाली के बाद होगा।
 
खट्टर के शपथग्रहण में शामिल होने के लिए भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा, पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल व उनके बेटे सुखबीर बादल भी पहुंचे। इसके अलावा चौटाला परिवार से नैना चौटाला, दुष्यंत चौटाला की पत्नी मेघना भी कार्यक्रम में मौजूद रहीं। दुष्यंत के पिता अजय सिंह चौटाला भी शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हुए। अजय को शनिवार को दो हफ्ते की फरलो मिली थी।   
 
 

 

ऐसे हुआ गठबंधन
21 अक्टूबर को हुए हरियाणा विधानसभा चुनाव के 24 अक्टूबर को परिणाम आए थे। इसमें भाजपा ने 40 सीटें हासिल की थी। सरकार बनाने के लिए उन्हें 46 विधायकों की जरूरत थी। 7 निर्दलीय विधायकों समेत हरियाणा लोकहित पार्टी के गोपाल कांडा ने भाजपा को समर्थन देने की घोषणा की। रातों-रात कई विधायक दिल्ली स्थित हरियाणा भवन पहुंच भी गए थे। इसी बीच अमित शाह से मुलाकात के बाद, जजपा नेता दुष्यंत चौटाला ने भाजपा को समर्थन देने की बात कही। शुक्रवार देर रात भाजपा ने जजपा और निर्दलीय विधायकों के साथ मिलकर सरकार बनाने का ऐलान कर दिया। 
 

गोपाल कांडा के समर्थन पर हुआ विवाद
जीत के बाद गोपाल कांडा ने भाजपा को समर्थन देने का ऐलान किया, तो सोशल मीडिया से लेकर आम लोगों के बीच चर्चा तेज हो गई। कांडा पर एयरहोस्टेस के सुसाइड केस में सीधे आरोप हैं, इसके चलते उनके समर्थन पर विवाद गर्मा गया। पार्टी नेता उमा भारती ने ट्वीट कर इसका विरोध किया। कांडा के समर्थन पर हां और ना के बीच, आखिरकार शनिवार को विधायक दल की बैठक के बाद अनिल जैन ने कांडा का समर्थन नहीं लेने की बात कही। 
 

खट्टर चुने गए थे विधायक दल के नेता
शनिवार को भाजपा विधायक दल की बैठक हुई। इस बैठक में केंद्रीय पर्यवेक्षक के रूप में निर्मला सीतारमण को आना था, लेकिन वह नहीं आ सकी। उनकी जगह केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद पहुंचे। विधायक दल की बैठक में मनोहर लाल खट्टर को सर्वसम्मति से नेता चुना गया। भाजपा के प्रदेश प्रभारी अनिल जैन ने खट्टर को ही दोबारा सीएम बनाए जाने की घोषणा की। 
 

जजपा-भाजपा गठबंधन पर हुड्डा ने तंज कसा था
जजपा द्वारा भाजपा को समर्थन देने के बाद भूपिंदर सिंह हुड्डा ने तंज कसते हुए अपनी प्रतिक्रिया दी थी। हुड्डा दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात करके लौट रहे थे। इस दौरान पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए हुड्डा ने कहा- वोट किसी का, समर्थन किसी का, लोग समझ चुके हैं कि क्या खेल चल रहा है और अब आगे क्या होने वाला है। इस तरह का खेल खेलने वालों को जनता सबक जरूर सिखाएगी। चुनाव में हरियाणा कांग्रेस के प्रदर्शन से सोनिया गांधी खुश हैं। उन्होंने बेहतरीन प्रदर्शन के लिए पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं को बधाई दी।
 

ये थे विधानसभा चुनाव के नतीजे
 

  • भाजपा - 40 सीटें
  • कांग्रेस - 31 सीटें
  • जजपा - 10 सीटें
  • इनेलो - 1 सीट
  • हलोपा - 1 सीट
  • निर्दलीय - 10 सीट
खबरें और भी हैं...