चेहरे जो बने मोहरे / मोदी ने की थी तारीफ, पर इमरान को नहीं मिला 20 साल में एक भी प्रमोशन



Modi did praise, but Imran did not get a promotion in 20 years
X
Modi did praise, but Imran did not get a promotion in 20 years

Dainik Bhaskar

Mar 17, 2019, 06:25 AM IST

मनोज गुप्ता, अलवर. चेहरे जो बने मोहरे सीरीज में आज अलवर के इमरान खान की बात। 2015 में प्रधानमंत्री मोदी ने लंदन के वैम्बले स्टेडियम में जब शिक्षक इमरान का जिक्र किया तो खुद इमरान के लिए यह अचंभित करने वाला अनुभव था। मोदी ने कहा था- मेरा हिंदुस्तान अलवर के इमरान खान में बसता है।

 

इमरान वही हैं, जिन्होंने शिक्षा से जुड़े 50 एप देश काे दिए। तब गणित के शिक्षक इमरान को डेपुटेशन पर केन्द्र सरकार के सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग तक में लगाने की बातें हुई। राजस्थान सरकार ने भी आईटी विभाग में प्रोजेक्ट ऑफिसर बनाने जैसे वादे किए। पर इमरान की स्थिति फुटबॉल जैसी ही रही।

 

राज्य के संस्कृत शिक्षा विभाग से इमरान को कॉलेज एजुकेशन में डेपुटेशन पर लिया गया। इस बीच दो बार उनका पांच माह का वेतन तक रोक दिया गया। वजह थी- इमरान संस्कृत शिक्षा विभाग के कर्मचारी थे और काम कॉलेज शिक्षा विभाग में कर रहे थे।

 

इमरान कहते हैं- 20 साल की नौकरी के बाद भी एक भी प्रमोशन नहीं मिला। जैसे भर्ती हुए थे, वैसे ही रिटायर भी हो जाएंगे। मिडिल स्कूल का हैडमास्टर तक नहीं बन पाऊंगा।

 

इमरान की स्थिति देखिए, उन्हें ज्योतिष एप पर काम करना है। पर इमरान कहते हैं- मुझे जो काम दिया गया है उसका प्रारंभिक ज्ञान (ज्योतिष) भी मुझे नहीं है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना