देश में मंकीपॉक्स के 8 केस, एक की मौत:अकेले केरल में 5 मामले; दिल्ली में 3 संक्रमित, इनमें दो नाइजीरियाई नागरिक

14 दिन पहले

केरल के बाद मंगलवार को दिल्ली में भी मंकीपॉक्स का नया मामला सामने आया है। मरीज नाइजीरिया का है, लेकिन दिल्ली में ही रहता है। इसकी कोई हालिया ट्रैवल हिस्ट्री नहीं मिली है। इसके बाद देश में मंकीपॉक्स के मरीजों की संख्या 8 पहुंच चुकी है। इनमें दिल्ली में 3 और केरल में 5 मामले दर्ज हुए हैं।

वहीं, केरल में 30 जुलाई को एक मरीज की मौत हो चुकी है। दिल्ली में 3 संक्रमितों में से 2 नाइजीरिया के नागरिक हैं। इधर, केंद्र ने बढ़ते मामलों के बीच एक टास्क फोर्स का गठन किया है। इसकी अध्यक्षता डॉक्टर वीके पॉल और स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण कर रहे हैं।

UAE से केरल आया मरीज
स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने बताया कि केरल में मंगलवार को मिला 5वां मरीज 27 जुलाई को UAE से घर पहुंचा था। तबीयत खराब होने पर उसे मलप्पुरम जिले के एक अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां उसकी हालत अभी ठीक है।

मरीज के माता-पिता सहित उसके संपर्क में रहने वालों पर कड़ी नजर रखी जा रही है। मंत्री ने बताया कि बाकी के तीन मरीजों में से एक पूरी तरह ठीक हो चुका है। दूसरों की हालत में भी सुधार है।

दिल्ली में तीन मामले
दिल्ली में भी पहले दो मामले सामने आ चुके हैं। इनमें से एक व्यक्ति अफ्रीका से लौटा था। वहीं, एक 35 साल का व्यक्ति भी पॉजिटिव पाया गया है, जो नाइजीरिया का है और भारत में ही रहता है, लेकिन संक्रमित पाए जाने से कुछ दिन पहले मनाली घूमकर आया था।

देश में मंकीपॉक्स से पहली मौत
केरल के त्रिशूर में शनिवार को 22 साल के शख्स की मौत हो गई। यह युवक 21 जुलाई को संयुक्त अरब अमीरत (UAE) से लौटा था, जिसके बाद उसे 27 जुलाई को अस्पताल में भर्ती किया गया, यहां उसकी मौत हो गई। हालांकि, मौत के बाद उसकी रिपोर्ट सामने आई, जिसमें वह पॉजिटिव पाया गया।

दुनिया में मंकीपॉक्स के मामले 22,800 के पार
Monkeypoxmeter.com के डेटा की मानें तो दुनिया में मंकीपॉक्स के मामलों की कुल संख्या 22,802 हो गई है। यह बीमारी अब तक 88 देशों में फैल चुकी है। साथ ही इससे अफ्रीका में पांच, स्पेन में दो, ब्राजील में एक और भारत में एक मौत हो चुकी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने इसे वर्ल्ड हेल्थ इमरजेंसी भी घोषित कर दिया है।

स्वास्थ्य मंत्री बोले- मंकीपॉक्स नई बीमारी नहीं है
राज्यसभा में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने कहा कि भारत और दुनिया में मंकीपॉक्स कोई नई बीमारी नहीं है। 1970 के बाद से अफ्रीका से काफी मामले देखने को मिल रहे हैं। WHO ने इस पर खास ध्यान दिया है। भारत में भी निगरानी शुरू हो गई है।

उन्होंने बताया कि दुनिया में जब मामले सामने आने लगे तो भारत ने पहले से ही तैयारी शुरू कर दी थी। केरल में पहला मरीज मिलने से पहले हमने सभी राज्यों को दिशा-निर्देश जारी कर दिए थे। हमने एक विशेषज्ञ टीम भेजी, राज्य सरकार की मदद की और संपर्क ट्रेसिंग भी की गई।