• Hindi News
  • National
  • Monsoon Updates For Next 2 3 Days In Indian States, Death Count On Rise In Maharashtra, Alert In Bihar, Rajasthan, UP

बारिश से तबाही के 15 फोटो:महाराष्ट्र में बाढ़-लैंडस्लाइड से 138 लोगों की मौत, 53 घायल और 99 लापता; बाढ़ प्रभावित इलाकों से 1.35 लाख लोगों को हटाया गया

नई दिल्ली10 महीने पहले

महाराष्ट्र में बारिश के चलते हालात खतरनाक बने हुए हैं। लगातार कई दिनों से हो रही बारिश की वजह से सांग्ली, सतारा, रत्नागिरी, रायगढ़, कोल्हापुर और ठाणे में भयानक हादसे हुए हैं, जिनमें 138 लोगों की मौत हुई है। यहां NDRF की 34 टीमें राहत और बचाव कार्यों में जुटी हैं, लेकिन बारिश और बाढ़ के बाद बर्बादी के निशान साफ देखे जा सकते हैं।

राज्य के रिलीफ एंड रिहेबिलिटेशन डिपार्टमेंट के मुताबिक, रविवार सुबह तक राज्य से कुल 1 लाख 35 हजार लोगों को बाढ़ प्रभावित इलाकों से हटाया गया है। अलग-अलग हादसों में अब तक 53 लोगों घायल हुए हैं और 999 लापता हैं।

सेना ने बनाया सेंट्रल वॉर रूम
भारतीय सेना ने सेंट्रल वॉर रूम बनाया है, ताकि एयरफोर्स और नेवी के साथ तालमेल बनाकर राहत और बचाव कार्य को अंजाम दिया जा सके। इसे ऑपरेशन को Operation Varsha 21 नाम दिया गया है। तीनों सेनाएं स्थानीय प्रशासन और राज्य के आपदा प्रबंधन विभाग के साथ मिलकर काम करेंगे।

बिहार और उत्तर प्रदेश में भी बाढ़ के हालात
अगले दो-तीन दिनों में देश के कई राज्यों में भारी बारिश के अनुमान हैं। बिहार में पहले से ही कई जिले पानी में डूबे हुए हैं। यहां पर सोमवार और मंगलवार को तेज बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने राज्य के 19 जिलों के लिए अलर्ट जारी किया है। वहीं उत्तर प्रदेश में 100 से ज्यादा गांवों में पानी भर जाने के कारण पलायन का खतरा बन गया है। राजस्थान में भी 5 संभागों में भारी बारिश के साथ बिजली गिरने की चेतावनी दी गई है।

महाराष्ट्र के सांग्ली जिले में कृष्णा नदी के उफनने से आई बाढ़ से लोगों को बचाते स्थानीय कार्यकर्ता।
महाराष्ट्र के सांग्ली जिले में कृष्णा नदी के उफनने से आई बाढ़ से लोगों को बचाते स्थानीय कार्यकर्ता।
कोल्हापुर के बाढ़ प्रभावित इलाके में बच्चे को बचाकर ले जाता NDRF कर्मी।
कोल्हापुर के बाढ़ प्रभावित इलाके में बच्चे को बचाकर ले जाता NDRF कर्मी।

महाराष्ट्र: अब तक 136 लोगों की मौत
राज्य में लगातार हो रही बारिश के कारण बाढ़ के हालात बने हुए हैं। बारिश और लैंडस्लाइड की वजह से बीते कुछ दिनों में यहां 138 लोगों की मौत हुई है। NDRF की 34 टीमें राज्य में राहत कार्य में जुटी हैं। रायगढ़ और रत्नागिरी इलाकों में बचाव दल मलबों से शव निकाल रहे हैं। कुछ तस्वीरें आपको विचलित कर सकती हैं, लेकिन इन्हें दिखाना जरूरी है ताकि आप हालात की भयावहता का अंदाजा लगा सकें।

रायगढ़ के तालिए गांव में मलबे से निकला शव ले जाता राहत दल। यहां से 43 लोगों के शव बरामद हुए हैं।
रायगढ़ के तालिए गांव में मलबे से निकला शव ले जाता राहत दल। यहां से 43 लोगों के शव बरामद हुए हैं।
तालिए गांव में लैंडस्लाइड के मलबे में 30-40 लोगों के दबे होने की आशंका है।
तालिए गांव में लैंडस्लाइड के मलबे में 30-40 लोगों के दबे होने की आशंका है।
तालिए गांव में लैंडस्लाइड वाली जगह जुटी लोगों की भीड़।
तालिए गांव में लैंडस्लाइड वाली जगह जुटी लोगों की भीड़।
रायगढ़ के महाड़ में लैंडस्लाइड के मलबे से सात माह के बच्चे का शव निकालकर लाते बचाव कर्मी।
रायगढ़ के महाड़ में लैंडस्लाइड के मलबे से सात माह के बच्चे का शव निकालकर लाते बचाव कर्मी।
विलाप करते बच्चे के पिता और परिजन।
विलाप करते बच्चे के पिता और परिजन।
महाराष्ट्र के रायगढ़ के महाड़ क्षेत्र में बाढ़ के बाद बर्बादी का मंजर।
महाराष्ट्र के रायगढ़ के महाड़ क्षेत्र में बाढ़ के बाद बर्बादी का मंजर।
महाड़ में बाढ़ का असर कम होने के बाद घरों की हालत।
महाड़ में बाढ़ का असर कम होने के बाद घरों की हालत।
महाड़ में बाढ़ का असर कम होने के बाद बर्बादी के निशान।
महाड़ में बाढ़ का असर कम होने के बाद बर्बादी के निशान।
महाड़ में बाढ़ के चलते हर तरफ तबाही का मंजर हो गया है।
महाड़ में बाढ़ के चलते हर तरफ तबाही का मंजर हो गया है।
चिपलून में सड़कों पर भरा पानी।
चिपलून में सड़कों पर भरा पानी।
कोल्हापुर में बाढ़ग्रस्त इलाकों से लोगों को निकालते NDRF कर्मी।
कोल्हापुर में बाढ़ग्रस्त इलाकों से लोगों को निकालते NDRF कर्मी।

बिहार: 19 जिलों में अलर्ट जारी
राज्य में 26 जुलाई से तेज बारिश होने की संभावना है। उत्तर पूर्वी बिहार के सुपौल, अररिया, मधुबनी, मधेपुरा और उत्तर मध्य दरभंगा मुजफ्फरपुर, सहरसा, समस्तीपुर, बेगूसराय व खगड़िया सहित लगभग 19 जिलों में रेड अलर्ट जारी किया गया है। सहरसा और मुजफ्फरनगर समेत बिहार के कई इलाके पहले से बाढ़ में डूबे हैं।

उत्तर प्रदेश: 100 से ज्यादा गांवों में पलायन का खतरा
राज्य के 16 जिलों में बाढ़ की आशंका के चलते हाई अलर्ट जारी किया गया है। पहाड़ी क्षेत्रों में हो रही बारिश की वजह से राज्य में शारदा, घाघरा, सरयू और गंगा समेत कई नदियों में जलस्तर बढ़ गया है। इन नदियों के किनारे बसे 100 से ज्यादा गांवों में पलायन का खतरा बढ़ गया है। गांवों में लोगों के घरों तक पानी भर गया है और आवाजाही के लिए नावों का सहारा लेना पड़ रहा है। राज्य में सोमवार से लेकर बुधवार तक तेज बारिश की संभावना है।

घाघरा नदी में जल स्तर बढ़ गया है।
घाघरा नदी में जल स्तर बढ़ गया है।
उत्तर प्रदेश के महाराजगंज जिले में नाव से लोगों को ले जा रहा बचाव दल।
उत्तर प्रदेश के महाराजगंज जिले में नाव से लोगों को ले जा रहा बचाव दल।

राजस्थान: बारिश के साथ बिजली गिरने की चेतावनी
अगले तीन से चार दिनों में राज्य के जयपुर, भरतपुर, कोटा, उदयपुर और अजमेर में तेज बारिश का अनुमान है। मौसम विभाग ने राज्य के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। कई इलाकों में बारिश के साथ बिजली गिरने की भी चेतावनी दी गई है। यहां 27 जुलाई तक भारी बारिश होने मानसून एक्टिव रहने की संभावना है।

खबरें और भी हैं...