पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Monsoon Will Reach The Rest Of North India Including Rajasthan, Punjab By July 10, Delhi Is Late In 15 Years

बादलों की चाल बदली:मानसून 10 जुलाई तक राजस्थान, पंजाब समेत उत्तर भारत के बाकी हिस्सों में छाएगा, दिल्ली में 15 साल में सबसे लेट

नई दिल्ली2 महीने पहले

गर्मी से तप रहे उत्तर भारत के लिए राहत की खबर है। मानसून विभाग के मुताबिक, दिल्ली समेत बारिश के लिए तरस रहे हिस्सों में 10 जुलाई तक मानसून पहुंच जाएगा। दिल्ली में पिछले 15 साल में इस बार मानसून सबसे लेट पहुंचेगा।

मौसम विभाग के मुताबिक, मानसून के पश्चिमी यूपी के बचे हिस्सों, पंजाब, हरियाणा और राजस्थान के कुछ और इलाकों के साथ दिल्ली में 10 जुलाई के आसपास आगे बढ़ने की संभावना है। इससे देश के मध्य और नॉर्थ वेस्ट इलाके में बारिश होगी।

IMD के रीजनल फोर कास्टिंग सेंटर के हेड कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि इससे पहले 2012 में 7 जुलाई और 2006 में 9 जुलाई को मानसून दिल्ली पहुंचा था। 2002 में दिल्ली में 19 जुलाई को पहली बार मानसून की बारिश हुई थी। यहां 1987 में सबसे लेट 26 जुलाई को मानसून आया था।

हरियाणा और दिल्ली के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश का अनुमान
मौसम विभाग ने सोमवार को हरियाणा और दिल्ली के कुछ हिस्सों में गरज के साथ हल्की या मध्यम बारिश का अनुमान जताया है। विभाग के मुताबिक, दक्षिण-पश्चिम दिल्ली, फारुखनगर, भिवानी, चरखी-दादरी, भिवाड़ी, झज्जर (हरियाणा) और आसपास के इलाकों में बारिश हो सकती है।

9 साल में सबसे ज्यादा तपी दिल्ली
देश में वक्त से पहले आया मानसून पूरी तरह छाने से पहले ही थम गया। इससे कई इलाकों में गर्मी बढ़ गई। राजधानी दिल्ली में एक जुलाई को पारा 43.5 डिग्री को छू गया। 9 साल में पहली बार राजधानी में जुलाई में इतनी गर्मी पड़ी है। उत्तर भारत के राज्यों में पारा सामान्य से 7 डिग्री तक ऊपर चला गया।

अभी कहां तक पहुंच गया है मानसून?
30 जून तक पूर्वी राजस्थान, दिल्ली, पंजाब और चंडीगढ़ के कुछ हिस्सों को छोड़कर मानसून पूरे देश में फैल चुका है। हालांकि मानसून रेखा बाड़मेर, भीलवाड़ा, धौलपुर, अलीगढ़, मेरठ, अंबाला और अमृतसर में दो हफ्ते से अटकी हुई है। आमतौर पर 8 जुलाई तक मानसून पूरे देश में छा जाता है।

इस बार छाने से पहले मानसून ब्रेक मोड में
देश में 4 महीने बरसात के मौसम के दौरान मानसून ब्रेक लेता रहता है। इस बार के मानसून ब्रेक में अलग बात ये है कि मानसून पूरे देश में छाने से पहले ही ब्रेक मोड में पहुंच गया है। अक्सर ऐसा होता है कि जुलाई अंत या अगस्त की शुरुआत तक पूरे देश में पहुंचने के बाद मानसून ब्रेक लेता है, लेकिन इस बार पूरे देश में छाने से पहले ही मानसून ब्रेक पर चला गया है।

खबरें और भी हैं...