• Hindi News
  • National
  • Most Wanted Terrorist Abu Bakr Arrested From UAE After 29 Years, Was Involved In 1993 Mumbai Blasts

1993 धमाकों का मोस्ट वांटेड अरेस्ट:मुंबई सीरियल ब्लास्ट में शामिल आतंकी अबु बक्र UAE में गिरफ्तार, भारत लाया जाएगा दाउद का करीबी

नई दिल्ली5 महीने पहले

भारतीय जांच एजेंसी ने 1993 मुंबई ब्लास्ट के मोस्ट वांटेड आतंकी अबु बक्र को UAE से गिरफ्तार कर एक बड़ी सफलता हासिल की है। यह गिरफ्तारी UAE की एजेंसियों के सहयोग से की गई है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, जल्द ही अबु बक्र को भारत लाया जाएगा।

अबु बक्र को अंडरव‌र्ल्ड डान दाऊद इब्राहिम का करीबी माना जाता है। उसकी गिरफ्तारी के लिए काफी दिनों से ऑपरेशन चलाया जा रहा था। पिछले काफी दिनों से उसके पाकिस्तान और UAE में छिपे होने की जानकारी मिल रही थी।

बता दें कि 1993 में मुंबई के 12 अलग-अलग जगहों पर धमाके हुए थे, जिनमें 257 लोग मारे गए थे और करीब 713 लोग घायल हुए थे। सीरियल ब्लास्ट में करीब 27 करोड़ रुपए की संपत्ति को नुकसान पहुंचा था।

2019 में भी हुई थी अबु बक्र की गिरफ्तारी
2019 में भी भारतीय एजेंसियों ने UAE से ही मुंबई ब्लास्ट के गुनहगार अबु बक्र को गिरफ्तार किया था। तब दस्तावेज कम होने के कारण उस पर आरोप सही साबित नहीं हो पाया था, जिसके कारण UAE के अधिकारियों ने उसे रिहा कर दिया था। हालांकि, एक बार फिर भारतीय एजेंसियों को कामयाबी हाथ लगी है और अब इसे भारत लाने की तैयारी की जा रही है।

अबु बक्र पाकिस्तान कब्जे वाले कश्मीर (POK) में आतंकियों को हथियार सप्लाई करने और विस्फोटकों की ट्रेनिंग देने जैसे गतिविधियों में शामिल रहा है। मुंबई ब्लास्ट के आतंकी अबु बक्र पर आरोप है कि वह मुंबई ब्लास्ट के दौरान भारी मात्रा में आरडीएक्स भारत में लाया था।

1997 में रेड कॉर्नर नोटिस जारी हुआ था
अबु बक्र अब्दुल गफूर शेख और मुस्तफा दोसा के साथ तस्करी के मामलों में भी शामिल रह चुका है। वह खाड़ी देशों से सोना, कपड़े और इलेक्ट्रॉनिक्स की तस्करी करके मुंबई लाता था। जिसके बाद 1997 में उसके खिलाफ एक रेड कॉर्नर नोटिस जारी हुआ था। उसके बाद ही भारत एजेंसी उसकी तलाश कर रही थी।

दाउद के इशारे पर हुआ था धमाका
12 मार्च 1993 को हुए मुंबई ब्लास्ट ने पूरे देश को हिला कर रख दिया था। इस दिन कुल 12 धमाकों में पहला धमाका बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज की इमारत के बाहर हुआ था। उस समय उस इमारत में 2000 से ज्यादा लोग मौजूद थे। इमारत के लोग कुछ समझ पाते इसके 45 मिनट बाद दूसरा धमाका हुआ। इस बार ये धमाका स्टॉक एक्सचेंज से कुछ ही दूर एयर इंडिया की इमारत की पार्किंग में हुआ था। धमाके के बाद चारों तरफ लाशों का अंबार लग गया। इसके बाद मुंबई के अलग-अलग हिस्सों 10 और धमाके हुए।

ये सारे ब्लास्ट ब्लास्ट दाऊद इब्राहिम के इशारों पर किए गए थे। धमाके में शामिल सारे आतंकियों की ट्रेनिंग पाकिस्तान में हुई थी। इन आतंकियों में अबू सलेम और फारुख टकला जैसे लोगों को भी नाम शामिल था, जिन्हे भारतीय जांच एजेंसियों ने पकड़ा था। हालांकि, इस ब्लास्ट का मास्टर माइंड दाऊद इब्राहिम आज भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है।