केरल भूस्खलन / आखिरी वक्त में भी बेटे का हाथ थामे रही मां, देखकर भावुक हुए बचावकर्मी



प्रतीकात्मक फोटो। प्रतीकात्मक फोटो।
केरल के मलप्पुरम में बाढ़ से जलमग्न गांव। केरल के मलप्पुरम में बाढ़ से जलमग्न गांव।
X
प्रतीकात्मक फोटो।प्रतीकात्मक फोटो।
केरल के मलप्पुरम में बाढ़ से जलमग्न गांव।केरल के मलप्पुरम में बाढ़ से जलमग्न गांव।

  • मलप्पुरम जिले के पर्वतीय इलाके कोट्‌टाकुन्नु में शुक्रवार को भारी बारिश के बाद भूस्खलन हुआ था
  • सरथ का पूरा परिवार खत्म हो गया, रविवार को पत्नी गीतू व बेटे ध्रुव का और सोमवार को मां का शव मिला
  • केरल के 8 जिले बाढ़ की चपेट में हैं, 8 अगस्त से अब तक 76 लोगों की मौत हो चुकी है

Dainik Bhaskar

Aug 12, 2019, 10:09 PM IST

कोट्‌टाकुन्नु. केरल के मलप्पुरम जिले के पर्वतीय इलाके कोट्‌टाकुन्नु में शुक्रवार को हुए भूस्खलन में एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत हो गई। मलबे से  21 साल की गीतू और उसके डेढ़ साल के बेटे ध्रुव का शव रविवार को निकाला गया। दोनों एक दूसरे का हाथ थामे हुए थे। यह दृश्य देखकर बचावकर्मी भावुक हो गए। स्थानीय मीडिया के मुताबिक, दोनों इतनी जोर से हाथ पकड़े हुए थे कि उन्हें अलग करने में मुश्किल हुई। 
 
यह परिवार कोट्टाकुन्नु में किराए से रहता था। भूस्खलन में परिवार का मुखिया सरथ बच गया। बचावकर्मियों ने शनिवार से तलाशी अभियान चलाया था। मां-बेटे का शव कीचड़ और पत्थरों के नीचे दबा मिला। 

 

इस हादसे का वीडियो वायरल हुआ था

 

राज्य में अब तक 76 लोगों की मौत  

 

  • केरल में लगातार दूसरे साल बारिश और भूस्खलन से तबाही हुई है। राज्य के 8 जिले भीषण बाढ़ की चपेट में हैं। 8 अगस्त से अब तक 76 लोगों की मौत हो चुकी है। मलप्पुरम और वायनाड जिले में भूस्खलन के मलबे में 57 लोग के दबे होने की आशंका है। बाढ़ प्रभावित इलाकों से ढाई लाख से ज्यादा लोगों को विस्थापित कर 1640 राहत शिविरों में रखा गया है। पिछले साल बाढ़ में 400 लोगों की जान चली गई थी।
  • कई हिस्सों में बारिश का पानी घटने लगा है। मलप्पुरम तथा वायनाड में भूस्खलन से प्रभावित कवलप्परा, पुथुमाला और कोट्‌टाकुन्नु इलाकों में तलाश अभियान अब भी जारी है। ऐसा बताया जा रहा है कि मरने वालों का आंकड़ा बढ़ सकता है।

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना