• Hindi News
  • National
  • Martyr Mohanlal Suner: Indore Youths Gifts House To Martyr BSF Mohanlal Suner Wife On Rakshabandhan, Independence Day

मप्र / युवाओं ने शहीद की पत्नी को तोहफे में 10 लाख का मकान दिया, हथेली पर गृह प्रवेश कराया



Martyr Mohanlal Suner: Indore Youths Gifts House To Martyr BSF Mohanlal Suner Wife On Rakshabandhan, Independence Day
X
Martyr Mohanlal Suner: Indore Youths Gifts House To Martyr BSF Mohanlal Suner Wife On Rakshabandhan, Independence Day

  • इंदौर के देपालपुर क्षेत्र के युवाओं ने रक्षाबंधन पर शहीद मोहनलाल सुनेर की पत्नी को घर गिफ्ट किया
  • सुनेर दिसंबर 1992 में त्रिपुरा में आतंकियों से लड़ते हुए शहीद हो गए थे
  • शहीद की पत्नी राजूबाई ने कहा- सभी को शुक्रिया, पति की शहादत पर फख्र है

 

Dainik Bhaskar

Aug 16, 2019, 06:16 PM IST

इंदौर. मध्यप्रदेश के देपालपुर के पीरपीपलिया गांव के युवाओं ने शहीद मोहनलाल सुनेर के परिवार को 10 लाख रुपए का मकान उपहार में दिया। इसके लिए वन चेक फॉर शहीद अभियान चलाया और करीब 11 लाख रुपए एकत्रित किए। रक्षाबंधन के दिन सुनेर की पत्नी को गृहप्रवेश कराया और राखी भी बंधवाई। एक लाख रुपए से शहीद की मूर्ति बनवाई जाएगी। 

 

दरअसल, बेटमा के पास पीरपीपलिया के रहने वाले मोहनलाल सुनेर दिसंबर 1992 में त्रिपुरा में उग्रवादियों से लड़ते हुए शहीद हो गए थे। अभियान के संयोजक विशाल राठी का कहना है कि मोहनलाल के परिवार को सरकार से कोई मदद नहीं मिली। उनके सामने आर्थिक संकट पैदा हो गया था। सुनेर की पत्नी को अपने दो बेटों को पालना मुश्किल हो रहा था। 

 

शहीद सुनेर की प्रतिमा भी लगाई जाएगी 

मोहनलाल की पत्नी राजूबाई ने बताया कि पति जब शहीद हुए, उस वक्त बड़ा बेटा 3 साल का था। वे 4 महीने की गर्भवती थीं। पति की शहादत के बाद दोनों बच्चों को पालने के लिए कड़ी मेहनत की और झोपड़ी में रहते हुए मजदूरी कर बच्चों को बड़ा किया। उनकी शहादत पर गर्व है।

 

राठी के मुताबिक, शहीद के परिवार के लिए 10 लाख रुपए में घर तैयार हो गया। एक लाख रुपए मोहनलाल की प्रतिमा के लिए रखे हैं। प्रतिमा भी लगभग तैयार है। इसे पीरपीपल्या मुख्य मार्ग पर लगाएंगे। जिस सरकारी स्कूल में उन्होंने पढ़ाई की, उसका नाम भी सुनेर के नाम पर करने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। अभियान से जुड़े सोहन लाल परमार ने बताया कि पैसा जुटाने में बेटमा ,सांवेर, गौतमपुरा, पीथमपुर, सागौर कनाड़िया, बड़नगर, हातोद, आगरा और महू क्षेत्र के लोगों ने सहयोग किया।

 

aa

 

बड़ा बेटा बीएसएफ में शामिल 

सुनेर का बड़ा बेटा राजेश बीएसएफ में कार्यरत है। छोटा बेटा राकेश मां के साथ बेटमा रहता है। गांव के कुछ युवाओं ने उनकी माली हालत सुधारने की पहल की। इसी के तहत वन चेक फॉर शहीद नामक अभियान चलाया गया। शहीद की पत्नी से गुरुवार को बड़ी संख्या में युवाओं ने राखी बंधवाई। इसके बाद घर में हथेलियों पर गृह प्रवेश कराया। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना