• Hindi News
  • National
  • Narendra Modi, Amit Shah using 'trishul' to attack opponents says Jairam Ramesh

बयान / मोदी-शाह ईडी, सीबीआई और इनकम टैक्स के त्रिशूल से विपक्ष पर निशाना साध रहे: जयराम रमेश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह। -फाइल फोटो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह। -फाइल फोटो
Narendra Modi, Amit Shah using 'trishul' to attack opponents says Jairam Ramesh
X
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह। -फाइल फोटोप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह। -फाइल फोटो
Narendra Modi, Amit Shah using 'trishul' to attack opponents says Jairam Ramesh

  • जयराम रमेश ने गुवाहाटी में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री आरोप लगाया
  • रमेश ने कहा- अमित शाह नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजंस (एनआरसी) और सिटिजनशिप अमेंडमेंट बिल को देश को बांटने के लिए इस्तेमाल कर रहे
  • कुछ ही महीनों पहले रमेश ने मोदी की तारीफ की थी, कहा था- पीएम के बयानों से लोग जुड़ते हैं

दैनिक भास्कर

Nov 07, 2019, 10:47 AM IST

नई दिल्ली. कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह पर विपक्षियों को परेशान करने के लिए सरकारी एजेंसियों के इस्तेमाल का आरोप लगाया है। असम के गुवाहाटी में बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान रमेश ने कहा, “मोदी और शाह विपक्ष पर हमले के लिए एक त्रिशूल इस्तेमाल कर रहे हैं। त्रिशूल में तीन नोंक क्या हैं? यह प्रवर्तन निदेशालय (ईडी), सीबीआई और इनकम टैक्स विभाग हैं। इस त्रिशूल को वे लगातार विपक्षियों पर प्रहार के लिए इस्तेमाल करते हैं। 

 

गुवाहाटी में ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) की बैठक में रमेश ने आरोप लगाया कि अमित शाह नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन (एनआरसी) और नागरिकता संशोधन विधेयक (सीएबी) का इस्तेमाल देश को बांटने के लिए करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि हम संसद में इस मुद्दे पर संविधान के दिखाए रास्ते के मुताबिक अपना पक्ष रखेंगे। उन्होंने कहा कि शाह अभी असम के नहीं, बल्कि दिल्ली, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, झारखंड और कर्नाटक के एनआरसी के बारे में बात कर रहे हैं, क्योंकि असम में उका झूठ उजागर हो चुका है। 

 

‘मोदी-शाह देश को बांट रहे’
रमेश ने कहा कि एनआरसी की असली रचयिता कांग्रेस थी। इसे भारतीय नागरिकों की पहचान के लिए लाया गया, लेकिन मोदी और शाह इसे देश को बांटने के लिए इस्तेमाल करना चाहते हैं। नागरिकता संशोधन बिल पर रमेश ने कहा कि कांग्रेस इसका विरोध करती है, क्योंकि यह एंटी सेक्युलर है और संविधान की प्रस्तावना के उलट है। उन्होंने कहा कि सीएबी संविधान के अनुच्छेद 14 (समानता का अधिकार) और अनुच्छेद 21 (स्वाधीनता) का उल्लंघन है। भारत एक सेक्युलर देश है और नागरिकता संशोधन बिल उसके खिलाफ है। हमारी पार्टी संवैधानिक मूल्यों के तहत आगे बढ़ती रहेगी।

 

मोदी की तारीफ कर चुके हैं जयराम रमेश 
कुछ दिन पहले ही जयराम रमेश ने प्रधानमंत्री मोदी के पक्ष में बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि अगर मोदी को हमेशा खलनायक बताया जाता रहेगा, तो आप उनका सामना करने की हिम्मत नहीं जुटा पाएंगे। वे (मोदी) ऐसी भाषा बोलते हैं, जिससे लोग जुड़ते हैं। उनके इस बयान पर कांग्रेसी नेताओं ने नाराजगी जताई थी। 


नेहरू मेमोरियल पैनल से बाहर किए जा चुके हैं रमेश
केंद्र सरकार ने मंगलवार को नेहरू मेमोरियल सोसाइटी के पुनर्गठन का आदेश जारी किया था। कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, जयराम रमेश और कर्ण सिंह को पैनल से बाहर कर दिया गया था। इस पर खड़गे ने कहा कि सरकार का हर काम राजनीति से प्रेरित होता है। 

 

DBApp

 

 

 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना