पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Narendra Modi Latest News Update; Narendra Modi, PM Modi, Parliament Session, Parliament Monsoon Session, Parliament

PM मोदी की सर्वदलीय बैठक:मानसून सेशन से एक दिन पहले प्रधानमंत्री बोले- सरकार नियम के मुताबिक हर चर्चा के लिए तैयार; 33 पार्टियों के नेता शामिल हुए

नई दिल्ली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसद का मानसून सत्र शुरू होने से पहले सर्वदलीय बैठक की। मीटिंग के दौरान प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार हर मुद्दे पर चर्चा के लिए तैयार है। नियमों के मुताबिक सरकार के सामने जो भी मुद्दे उठाए जाएंगे। सरकार उन पर चर्चा से पीछे नहीं हटेगी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जन प्रतिनिधियों खासतौर पर विपक्ष का सुझाव काफी अहमियत रखता है। इससे ही चर्चा रिजल्ट तक पहुंच सकती है। बैठक में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय मंत्री और राज्यसभा में सदन के नेता पीयूष गोयल, केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी भी शामिल हुए।

राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष अधीर रंजन चौधरी ने भी इसमें हिस्सा लिया। मीटिंग के बाद जोशी ने बताया कि करीब 33 पार्टियों के 40 से ज्यादा नेताओं ने बैठक में हिस्सा लिया। सभी ने चर्चा के लिए जरूरी मुद्दों पर सुझाव भी दिए।

हरसिमरत कौर भी पहुंची
बैठक में शिरोमणी अकाली दल की सांसद हरसिमरत कौर बादल भी शामिल हुईं। कृषि कानूनों के विरोध में उन्होंने मोदी कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया था। बैठक के बाद हरसिमरत ने कहा कि किसान आंदोलन एक बड़ा मुद्दा है और इसको हल किया जाए। सदन तब चलेगा, जब लोगों के मुद्दों को हल किया जाएगा।

13 अगस्त तक चलेगा सत्र
संसद का मानसून सत्र 19 जुलाई से शुरू होगा। यह 28 दिन चलेगा और 13 अगस्त को खत्म होगा। न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक, इस दौरान 2 वित्तीय विधेयक सहित 31 विधेयक पेश किए जा सकते हैं।

संसद के सामने प्रदर्शन करेंगे किसान
सत्र के दौरान कृषि कानूनों के विरोध में किसान संगठनों ने प्रदर्शन तेज करने की तैयारी कर ली है। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने रविवार को कहा कि 22 जुलाई को हमारे 200 लोग संसद जाएंगे। इसे लेकर दिल्ली पुलिस ने सिंघु बॉर्डर के पास किसानों के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ मीटिंग भी की है। हमने विपक्ष के लोगों से भी कहा है कि वे इस मुद्दे को सदन में उठाएं।

खबरें और भी हैं...