• Hindi News
  • National
  • Narendra Modi Jammu Kashmir Political Parties Meeting Update | Mehbooba Mufti Farookh Abdullah, Umar Abdullah, Amit Shah

जम्मू-कश्मीर में सियासी हलचल:PM मोदी 24 जून को सभी पार्टियों के साथ बैठक करेंगे, महबूबा मुफ्ती और फारूक अब्दुल्ला समेत 14 नेताओं को बुलावा

नई दिल्ली/श्रीनगर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

आर्टिकल 370 हटने के करीब 2 साल बाद जम्मू-कश्मीर की सियासत में एकबार हलचल देखने को मिल रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 24 जून को अपने आवास पर सर्वदलीय बैठक करने वाले हैं। इस बैठक के लिए जम्मू-कश्मीर से नेशनल काॅन्फ्रेंस के प्रमुख फारूक अब्दुल्ला और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती समेत 14 दलों के नेताओं काे न्योता भेजा गया है।

प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) ने इसकी पुष्टि की है। PMO के मुताबिक, सभी नेताओं को फोन पर मीटिंग में शामिल होने के लिए सूचित कर दिया गया है। बैठक से पहले इन्हें कोरोना निगेटिव रिपोर्ट दिखाना अनिवार्य होगा। फारूक अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती और भाजपा के रविंदर रैना ने मीटिंग की पुष्टि कर दी है।

जम्मू-कश्मीर BJP के अध्यक्ष रविंदर रैना ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 जून को जम्मू-कश्मीर के सभी राजनीतिक दलों को सर्वदलीय बैठक के लिए बुलाया है। मुझे इस बैठक का निमंत्रण मिला है।

एनसी प्रमुख फारूक अब्दुल्ला और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष रविंदर रैना ने मीटिंग की पुष्टि की है।
एनसी प्रमुख फारूक अब्दुल्ला और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष रविंदर रैना ने मीटिंग की पुष्टि की है।

महबुबा मुफ्ती रविवार को पार्टी नेताओं के साथ मीटिंग करेंगी
न्यूज एजेंसी के मुताबिक, पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने इस बैठक की खबर की पुष्टि भी कर दी है। उन्होंने कहा कि हां, हमें सूचना दी गई है, लेकिन यह कोई न्योता नहीं था। हमने रविवार को पीडीपी नेताओं की एक बैठक बुलाई है, जिसमें पीएम मोदी के साथ होने वाली मीटिंग पर शामिल होने को लेकर चर्चा होगी। इसी मीटिंग में तय होगा कि मीटिंग में पीडीपी शामिल होगी या नहीं।

कांग्रेस बोली- हमें कोई जानकारी नहीं
जम्मू-कश्मीर कांग्रेस के अध्यक्ष गुलाम अहमद मीर ने बताया कि उन्हें अब तक प्रधानमंत्री के साथ होने वाली मीटिंग को लेकर कोई जानकारी नहीं मिली है। उन्होंने कहा कि अगर हमें न्योता मिलता है, तो हम राष्ट्रीय नेताओं को बताएंगे। उसके बाद सलाह-मशविरा लिया जाएगा। हम केंद्र की ओर से बातचीत के तरीके की सराहना करते हैं।

पूर्ण राज्य जैसे मुद्दों पर बातचीत संभव
सूत्रों के मुताबिक, PM मोदी की मीटिंग में जम्मू-कश्मीर में चल रहे राजनीतिक गतिरोध के अलावा केंद्र शासित प्रदेश को पूर्ण राज्य का दर्जा देने संबंधी विषयों पर चर्चा हो सकती है। बैठक में जम्मू-कश्मीर में होने वाले विधानसभा चुनाव पर भी चर्चा की उम्मीद है।

शाह ने की हाई लेवल मीटिंग, मनोज सिन्हा से भी मिले
इससे पहले अमित शाह ने शुक्रवार को गृह मंत्रालय में एक हाईलेवल मीटिंग की है। इसमें राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल, होम सेक्रेटरी अजय भल्ला, इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) के निदेशक अरविंद कुमार, रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (RAW) के प्रमुख सामंत कुमार गोयल, CRPF के डायरेक्टर जनरल कुलदीप सिंह और जम्मू और कश्मीर के DGP दिलबाग सिंह शामिल हुए।

इस मीटिंग से पहले अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर के उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा से भी मुलाकात की थी। दोनों बैठकों को जम्मू-कश्मीर के लिए महत्वपूर्ण बताया जा रहा है।

अमित शाह ने शुक्रवार को गृह मंत्रालय में एक हाईलेवल मीटिंग की है।
अमित शाह ने शुक्रवार को गृह मंत्रालय में एक हाईलेवल मीटिंग की है।

अगस्त 2019 में खत्म हुआ था अनुच्छेद 370
अगस्त 2019 में केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को खत्म कर दिया था। इसके साथ ही राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों- जम्मू और कश्मीर और लद्दाख में भी विभाजित किया गया था।

इस फैसले से पहले जम्मू-कश्मीर में महबूबा मुफ्ती, फारूक अब्दुल्ला और उमर अब्दुल्ला समेत कई बड़े नेताओं को हाउस अरेस्ट कर लिया गया था। हालांकि,महीनों बाद उन्हें रिहा कर दिया गया।

खबरें और भी हैं...