पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • India China News | Narendra Modi Prime Minister Office Statement On 19th June All Party Meeting Over India China Ladakh Border Face off

चीन पर मोदी के बयान पर विवाद:पीएमओ ने कहा- प्रधानमंत्री की बात को गलत तरीके से पेशकर बेवजह विवाद खड़ा कर रहे, उन्होंने 15 जून की झड़प की बात की थी

नई दिल्ली2 महीने पहले
15 जून को गलवान घाटी में भारत-चीन के सैनिकों की झड़प के बाद भारतीय सीमा में सेना बढ़ा दी गई है। श्रीनगर-लेह हाईवे से लद्दाख बॉर्डर पर जाते भारतीय जवान।
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को सर्वदलीय बैठक में कहा था- हमारी सीमा में कोई नहीं घुसा
  • विपक्ष ने पूछा- यह बात सही है तो झड़प क्यों हुई, हमारे 20 जवान शहीद क्यों हुए?
  • चार राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने कहा- राष्ट्र की सुरक्षा-संप्रभुता पर कोई राजनीति न की जाए

चीन के साथ विवाद को लेकर बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान को लेकर बढ़ रहे विवाद के बीच पीएमओ की ओर से स्पष्टीकरण आया है। इसमें कहा गया है कि प्रधानमंत्री की बात को गलत तरीके से पेशकर बेवजह विवाद खड़ा किया जा रहा है। जबकि प्रधानमंत्री ने 15 जून की झड़प की बात की थी। 

इस बीच चार राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने शनिवार शाम पीएम मोदी के समर्थन में बयान जारी कर कहा है कि राष्ट्र की सुरक्षा और संप्रभुता के मामले पर कोई राजनीति न की जाए। इन मुख्यमंत्रियों में आंध्र प्रदेश के सीएम जगन मोहन रेड्डी, तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव, मेघालय के मुख्यमंत्री कोनार्ड संगमा और सिक्किम के मुखयमंत्री प्रेम सिंह तमांग शामिल हैं। 

सोच-समझकर विवाद पैदा किया गया

वाई एस जगनमोहन रेड्डी ने ट्वीट किया, ''कल की सर्वदलीय बैठक में सोच-समझ कर विवाद पैदा किया गया है। इससे मैं काफी दुखी हूं। यह वक्त अपने सशस्त्र बलों के साथ एकजुटता दिखाने का है ना कि गलतियां ढूंढकर उंगली उठाने का। माननीय प्रधानमंत्री और मंत्रियों ने सर्वदलीय बैठक में बहुत संतोषजनक जवाब दिया। राष्ट्र इस विषय पर एकजुट है और रहना भी चाहिए। एकता में ताकत होती है जबकि फूट से हम कमजोर होते हैं।''

वक्त राजनीति की नहीं, रणनीति का है: के चंद्रशेखर राव
तेलंगाना के मुख्यमंत्री कार्यालय ने एक पोस्टर जारी किया है। इसमें लिखा है, ''वक्त राजनीति की नहीं, रणनीति का है।'' आगे मुख्यमंत्री के हवाले से लिखा गया है, ''राजनीति में हमारे मतभेद हो सकते हैं, लेकिन हम सब देशभक्ति की डोर से एक-दूसरे से बंधे हुए हैं। प्रधानमंत्री ने जब सशस्त्र बलों को श्रद्धांजलि दी तो उन्होंने हमारी तरफ से अपना नजरिया रखा और आश्वस्त किया कि भारत के हित हमेशा सुरक्षित रहेंगे।''

बैठक में प्रधानमंत्री ने साफ-साफ अपनी बात रखी: प्रेम सिंह तमांग
सिक्किम के मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तमांग ने ट्वीट किया, ''सर्वदलीय बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन से चीन पर भारत का स्टैंड बिल्कुल स्पष्ट हो गया था। पीएम ने आश्वस्त किया कि सरकार भारतीय हितों से समझौता नहीं करेगी। हर व्यक्ति को अपने सुरक्षा बलों पर भरपूर विश्वास है कि वो हर नापाक हरकत को नाकाम करेंगे।'' 

बयानकाजी नजरअंदाज करनी चाहिए: कोनराड संगमा
मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड संगमा ने कहा, ''प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कल की सर्वदलीय बैठक के दौरान भारत-चीन के विवाद का विस्तृत ब्योरा दिया। उनके जवाबों से बिल्कुल स्पष्ट हो गया कि संप्रुभता की रक्षा के मुद्दे पर भारत का संकल्प कितना मजबूत है। ऐसे समय में बाकी सभी बयानबाजी नजरअंदाज करना सही होगा। ये न तो तथ्यात्मक हैं और न ही अपेक्षित।''

प्रधानमंत्री ने क्या कहा था?
शुक्रवार को हुई सर्वदलीय बैठक में मोदी ने कहा था कि लद्दाख में हमारी सीमा में ना तो कोई घुसा है, ना ही हमारी पोस्ट किसी के कब्जे में है।

विपक्ष ने क्या कहा?
कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने पूछा- अगर प्रधानमंत्री की यह बात सच है कि भारतीय सीमा में चीन का कोई सैनिक नहीं था तो झड़प क्यों हुई, 20 जवान शहीद क्यों हो गए? दोनों देशों में बातचीत किसलिए हो रही थी?

उधर, राहुल गांधी ने भी ऐसे ही सवाल किए। उन्होंने यहां तक कहा कि प्रधानमंत्री ने चीन के अटैक के सामने सरेंडर कर दिया।

पीएमओ ने क्या सफाई दी?
प्रधानमंत्री ऑफिस ने कहा है कि सर्वदलीय बैठक में प्रधानमंत्री ने 15 जून की झड़प के रेफरेंस में बयान दिया था। उनका मतलब ये था कि हमारे जवानों की बहादुरी की वजह से उस दिन चीन का कोई सैनिक हमारी सीमा में नहीं घुस पाया। हमारे जवानों ने शहीद होकर चीनी सैनिकों की घुसपैठ को नाकाम कर दिया था।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में आपका महत्वपूर्ण योगदान रहेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आने से राहत महसूस होगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा और कई प्रकार की गतिविधियों में आज व्यस्तता बनी...

और पढ़ें