पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Indian Navy Seize Rs 3000 Crore Drug From A Sri Lankan Vessel Originated From Pakistan

नौसेना को बड़ी कामयाबी:पाकिस्तान से आई ड्रग्स की खेप बरामद, बाजार में इसकी कीमत 3 हजार करोड़ रुपए

कोच्चि5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गिरफ्तार ड्रग तस्करों के साथ नौसेना के कमांडो। इस ड्रग्स का अंतरराष्ट्रीय बाजार में मूल्य 3 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा है। - Dainik Bhaskar
गिरफ्तार ड्रग तस्करों के साथ नौसेना के कमांडो। इस ड्रग्स का अंतरराष्ट्रीय बाजार में मूल्य 3 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा है।

भारतीय नौसेना को सोमवार को एक बड़ी कामयाबी हासिल हुई। नेवी के कमांडो दस्ते ने एक श्रीलंकाई बोट पर छापे के दौरान 300 किलोग्राम ड्रग्स बरामद की। इंटरनेशनल मार्केट में इसकी कीमत 3 हजार करोड़ रुपए से भी ज्यादा है। यह ड्रग्स पाकिस्तान से आई थी और इसे भारत के अलावा श्रीलंका में भी भेजा जाना था। श्रीलंकाई बोट पर मौजूद पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) इनसे पूछताछ कर रही है।

पाकिस्तान से लाई गई थी ड्रग्स
रक्षा मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने कहा- अरब सागर में इंडियन नेवी का शिप सुवर्णा गश्त पर था। इसी दौरान उसे एक श्रीलंकाई बोट पर शक हुआ। इसका पीछा किया गया और कुछ ही देर में नेवी कमांडो इस बड़ी बोट तक पहुंच गए। तलाशी के दौरान उन्हें यहां 300 किलोग्राम ड्रग्स मिले। बोट पर पांच लोग मौजूद थे। पूछताछ के बाद इन सभी को गिरफ्तार कर लिया गया। बाद में इन्हें NCB के हवाले कर दिया गया। NCB इनसे आगे पूछताछ कर रही है ताकि पूरे नेटवर्क की पहचान की जा सके।

शुरुआती पूछताछ में पता लगा कि यह खेप पाकिस्तान के एक पोर्ट से लोड की गई थी और इसे भारत और श्रीलंका में सप्लाई किया जाना था।

बहुत बड़ी बरामदगी
हाल के दिनों में यह दूसरा मौका है जब इंडियन नेवी या कोस्टगार्ड ने स्पेशल ऑपरेशन में ड्रग्स की इतनी बड़ी खेप पकड़ी हो। कुछ ही दिन पहले करीब एक हजार करोड़ रुपए का ड्रग्स कन्साइनमेंट बरामद किया गया था। इस कार्रवाई में तीन पाकिस्तानी नागरिकों को गिरफ्तार किया गया था। सोमवार को बरामद खेप का एक हिस्सा मालदीव भी पहुंचाया जाना था।

पूछताछ जारी
प्रवक्ता ने इस बात की जानकारी देने से इनकार कर दिया कि इस खेप को अरब सागर के किस हिस्से में ऑपरेशन चलाकर बरामद किया गया। इन ड्रग्स के जरिए लोगों को नशे का आदी बनाया ही जाता है, इसके अलावा ड्रग्स का पैसा आतंकवाद, कट्टरपंथ और दूसरे आपराधिक कामों में भी किया जाता है।