• Hindi News
  • National
  • NCRB Data Average 381 Suicides Daily In India In 2019; Total 1.39 Lakh Deaths Over The Year, An Increase Of 3.4%

एनसीआरबी के डाटा में खुलासा:2019 में भारत में हर दिन 381 लोगों ने आत्महत्या की; पूरे साल में 1.39 लाख मौतें, इनमें 50% मामले सिर्फ 5 राज्यों में

नई दिल्ली2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस रिकॉर्ड के जरिए डाटा जुटाने वाली एनसीआरबी ने बताया कि 2019 में सुसाइड करने वाले हर 100 लोगों में 70.2% पुरुष और 29.8 प्रतिशत महिलाएं शामिल थीं। (प्रतीकात्मक फोटो) - Dainik Bhaskar
पुलिस रिकॉर्ड के जरिए डाटा जुटाने वाली एनसीआरबी ने बताया कि 2019 में सुसाइड करने वाले हर 100 लोगों में 70.2% पुरुष और 29.8 प्रतिशत महिलाएं शामिल थीं। (प्रतीकात्मक फोटो)
  • शहरों में सुसाइड की दर 13.9%, यह पूरे देश में सुसाइड की दर 10.4% से काफी ज्यादा
  • 2017 में 1 लाख 29 हजार 887, जबकि 2018 में 1 लाख 34 हजार 516 मामले सामने आए

देश में पिछले साल रोज औसतन 381 लोगों ने सुसाइड कर जान दे दी। पूरे साल में करीब 1 लाख 39 हजार 123 मौतें सुसाइड की वजह से हुईं। नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) की रिपोर्ट में इसकी जानकारी दी गई है। डाटा के मुताबिक, 2017 और 2018 की तुलना में पिछले साल सुसाइड की घटनाओं में 3.4% की बढ़ोतरी दर्ज की गई।

2017 में 1 लाख 29 हजार 887, जबकि 2018 में 1 लाख 34 हजार 516 सुसाइड रिकॉर्ड किए गए थे। सुसाइड की दर (1 लाख की जनसंख्या पर) में भी 2018 की तुलना में इस साल 0.2% की बढ़ोतरी दर्ज की गई। शहरों में सुसाइड की दर 13.9% रही, यह पूरे देश में सुसाइड की दर 10.4% से काफी ज्यादा है।

100 लोगों में 70.2% पुरुष और 29.8% महिलाएं
डाटा के मुताबिक, फांसी से 53.6%, जहर खाने से 25.8%, डूबने से 5.2% और आत्मदाह के जरिए 3.8% लोगों ने सुसाइड किया। इनमें से 32.4% मामलों के पीछे पारिवारिक विवाद कारण था, जबकि 5.5% सुसाइड के पीछे शादी और 17.1% सुसाइड के पीछे बीमारी को अहम वजह बताया गया। सुसाइड करने वाले हर 100 लोगों में 70.2% पुरुष और 29.8% महिलाएं शामिल थीं।

2019 में सबसे ज्यादा सुसाइड किन राज्यों में हुए

राज्यसुसाइडकुल केस का प्रतिशत
महाराष्ट्र18,91613.6%
तमिलनाडु13,4939.7%
प. बंगाल12,6659.1%
मध्यप्रदेश12,4579.0%
कर्नाटक11,2888.1%

उत्तर प्रदेश में 3.9% सुसाइड
डाटा में बताया गया कि इन 5 राज्यों में देश के कुल सुसाइड के 49.5% मामले रिकॉर्ड हुए। बाकी 50.5% मामले देश के बचे 24 राज्य और 7 केंद्रशासित राज्यों में सामने आए। जनसंख्या के आधार पर काफी बड़े उत्तर प्रदेश में इस दौरान सिर्फ 3.9% सुसाइड रिकॉर्ड किए गए। मास या फैमिली सुसाइड के सबसे ज्यादा मामले तमिलनाडु (16), आंध्र प्रदेश (14), केरल (11), पंजाब (9) और राजस्थान (7) में सामने आए।

खबरें और भी हैं...