• Hindi News
  • National
  • IPS Rishi Shukla Will Be New CBI Director: Modi Govt Appoints Rishi Shukla As New CBI DIrector: Latest News And Updates In Hindi: Dainik Bhaskar News

ऋषि कुमार शुक्ला को बनाया गया CBI का नया चीफ, 1983 बैच के हैं आईपीएस अफसर, मध्यप्रदेश के रह चुके हैं डीजीपी

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

नई दिल्ली. पिछले 3-4 महीने से विवादों में घिरे केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) को नया चीफ मिल गया है। ऋषि कुमार शुक्ला को नया सीबीआई डायरेक्टर अप्वाइंट किया गया है। ऋषि कुमार 1983 बैच के हैं और मध्यप्रदेश की डीजीपी भी रह चुके हैं। माना जा रहा है कि सरकार ने सीधे उनकी नियुक्ति की है। एक दिन पहले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुआई वाली चयन समिति की दूसरी बार बैठक हुई थी। इसके बाद बताया गया था कि इसमें जांच एजेंसी के डायरेक्टर की नियुक्ति पर कोई फैसला नहीं हो पाया। शनिवार को कैबिनेट की नियुक्ति समिति ने शुक्ला के नाम को मंजूरी दी। बता दें, एक दिन पहले ही सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई डायरेक्टर की नियुक्ति में देरी पर नाखुशी जाहिर की थी।

करीब 80 आईपीएस अफसरों को पछाड़ा
- ऋषि कुमार शुक्ला का कार्यकाल दो साल का होगा। सीबीआई डायरेक्टर की दौड़ में उन्होंने लगभग 80 आईपीएस अफसरों को पछाड़ा है, जिनमें जावेद अहमद, रजनीकांत मिश्रा और एसएस देसवाल प्रमुख दावेदार माने जा रहे थे।

- शनिवार को कैबिनेट की नियुक्ति समिति ने ऋषि कुमार के नाम को मंजूरी दी। उन्हें ऐसे वक्त में सीबीआई की कमान मिली है, जब यह प्रमुख जांच एजेंसी लगातार विवादों के चलते खबरों में है।
- साथ ही, ये पद संभालने के बाद ऋषि कुमार पर अगुस्टा वेस्टलैंड स्कैम, कोयला घोटाला, यूपी का अवैध खनन घोटाला और सारदा एंड रोजवैली चिटफंड घोटालों समेत कई हाईप्रोफाइल मामलों से निपटने का चैलेंज होगा।


कई महीनों से चल रहा था अंदरूनी घमासान
- सीबीआई में जबरदस्त अंदरूनी घमासान चल रहा था। पिछले साल नवंबर में ये तब दुनिया के सामने आ गया, जब तत्कालीन डायरेक्टर आलोक वर्मा और तत्कालीन स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना ने एक दूसरे के खिलाफ रिश्वतखोरी के आरोप लगाए थे।
- अस्थाना के खिलाफ सीबीआई ने केस भी दर्ज कर लिया, जिसके बाद मामला और गंभीर हो गया। बाद में केंद्र सरकार के दखल के बाद दोनों अफसरों को जबरन छुट्टी पर भेज दिया गया और एम नागेश्वर राव को अंतरिम डायरेक्टर अप्वाइंट किया गया।
- आलोक वर्मा ने छुट्टी पर भेजे जाने के मामले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी, जिस पर जनवरी में कोर्ट ने उन्हें बतौर सीबीआई डायरेक्टर बहाल करने के आदेश दिए।
- पर पीएम की हाई पार्वड कमेटी ने 2-1 के बहुमत से फैसला लेकर आलोक वर्मा के सीबीआई के बाहर तबादले का आदेश दिया, जिसके बाद वर्मा ने इस्तीफा दे दिया और तब से डायरेक्टर का पद खाली था।

खबरें और भी हैं...