पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

एनआईए की कार्रवाई:एजेंसी ने लश्कर-ए-तैयबा के लिए भर्ती करने के मामले में एक डॉक्टर को गिरफ्तार किया, उसे सऊदी अरब से भारत लाया गया

बेंगलुरु7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
2012 में बेंगलुरु में 25 लोगों के खिलाफ दर्ज किया गया था। जिसमें एक आरोपी डॉ. शबील अहमद भी है। - Dainik Bhaskar
2012 में बेंगलुरु में 25 लोगों के खिलाफ दर्ज किया गया था। जिसमें एक आरोपी डॉ. शबील अहमद भी है।
  • 2012 में बेंगलुरु में 25 लोगों के खिलाफ दर्ज किया गया था, जिसमें एक आरोपी डॉ. शबील अहमद भी है
  • मामले में 17 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जिनमें से 14 को सजा के बाद रिहा भी कर दिया गया है

नेशनल इंवेस्टिगेशन एजेंसी ने एक भारतीय डॉक्टर को गिरफ्तार किया है। उसे भारत में पाकिस्तान बेस्ड टेरर ग्रुप लश्कर-ए-तैयबा के लिए भर्तियां करने के साल 2012 के मामले में गिरफ्तार किया गया है। डॉक्टर को सऊदी अरब से भारत लाया गया है। वह 2007 में हुए ग्लास्गो बॉम्बर का भाई है।

आरोपी डॉ. शबील अहमद सऊदी किंगडम के हॉस्पिटल में काम करता है। वह 2007 में स्कॉटलैंड के ग्लास्गो एयरपोर्ट पर हुए सुसाइड अटैक में शामिल एरोनॉटिकल इंजीनियर कफील अहमद का छोटा भाई है। उसका मिशन फेल हो गया था और 2 अगस्त को बम धमाके में उसकी मौत हो गई थी।

दिल्ली एयरपोर्ट से किया गिरफ्तार
सऊदी अरब से दिल्ली पहुंचने के बाद अहमद को एनआईए ने एयरपोर्ट पर गिरफ्तार किया। उसे लश्कर के लिए भर्ती करने के आरोप में गिरफ्तार करने के बाद किंगडम से डिपोर्ट कर दिया गया। मामला 2012 में बेंगलुरु में 25 लोगों के खिलाफ दर्ज किया गया था। जिसमें एक आरोपी अहमद भी है। उसके खिलाफ गैर-जमानती वारंट और लुक आउट नोटिस जारी किया गया था।

मामला बेंगलुरु पुलिस ने दर्ज किया था, जिसमें दावा किया गया था कि मामले में कॉलमनिस्ट प्रताप सिम्हा पर हमला करने की साजिश रची जा रही थी। सिम्हा अब कर्नाटक के मैसूरु से भाजपा के लोकसभा सांसद हैं। मामले में अब तक 17 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जिनमें से 14 को सजा सुनाए जाने के बाद रिहा कर दिया गया है।

2015 में दायर चार्जशीट में उसे मोटू डॉक्टर के रूप में पहचान
एनआईए ने 2015 में सऊदी अरब में हैदराबाद के रहने वाले की व्यक्ति की गिरफ्तारी और उसके डिपोर्टेशन के बाद अहमद की पहचान की थी। इससे पहले मामले में एनआईए द्वारा 2015 में दायर चार्जशीट में उसे मोटू डॉक्टर के रूप में पहचाना गया था।

एनआईए का आरोप है कि अहमद को लश्कर में भर्ती की साजिश में उसके रिश्तेदार इमरान अहमद और बंगलूरू के एक इंजीनियर मोहम्मद शाहिद फैजल ने शामिल कराया था। इमरान को 2013 में फर्जी पासपोर्ट से यात्रा करने पर गिरफ्तार किया गया था। वहीं, फैजल अब तक फरार है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आसपास का वातावरण सुखद बना रहेगा। प्रियजनों के साथ मिल-बैठकर अपने अनुभव साझा करेंगे। कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा बनाने से बेहतर परिणाम हासिल होंगे। नेगेटिव- परंतु इस बात का भी ध...

    और पढ़ें