• Hindi News
  • National
  • NIA Raids Kashmiri Separatist Leaders And Businessmen In Pulwama For Terror Funding Case

टेरर फंडिंग मामले में पुलवामा के व्यापारी के ठिकानों पर एनआईए के छापे

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
एनआईए ने व्यापारी गुलाम अहमद वानी के घर को सील करते हुए कार्रवाई की। - Dainik Bhaskar
एनआईए ने व्यापारी गुलाम अहमद वानी के घर को सील करते हुए कार्रवाई की।
  • एनआईए ने टेरर फंडिंग से जुड़े मामले में व्यापारी गुलाम अहमद वानी के खिलाफ कार्रवाई की
  • कश्मीर घाटी के 24 से ज्यादा अलगाववादी नेताओं और व्यापारियों को गिरफ्तार किया

श्रीनगर. राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने मंगलवार को टेरर फंडिंग मामले में जम्मू-कश्मीर के व्यापारी के ठिकानों पर छापा मारा। सूत्रों के मुताबिक, टेरर फंडिंग से जुड़े मामले को लेकर व्यापारी गुलाम अहमद वानी उर्फ बर्दाना के खिलाफ कार्रवाई की गई। एनआईए ने बर्दाना के घर को सील करते हुए कार्रवाई की।

 

बर्दाना का बेटा तनवीर अहमद पूर्व अलगाववादी था। उसने कहा कि एनआईए ने उनकी श्रीनगर की पारिमपोरा फल मंडी वाली दुकान पर छापा मारा। एनआईए टीम सुरक्षाबल और राज्य पुलिस अधिकारियों के साथ घर भी पहुंची। सूत्रों की मानें तो एनआईए और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कश्मीर घाटी के 24 से ज्यादा अलगाववादी नेताओं और व्यापारियों को टेरर फंडिंग मामले में गिरफ्तार किया है। 

 

बर्दाना श्रीनगर और पीओके के बीच व्यापार करता है

बर्दाना नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर एकमात्र व्यापारी है, जो श्रीनगर और मुजफ्फराबाद के बीच व्यापार करता है। मुजफ्फराबाद पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) की राजधानी है। 14 फरवरी को पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए फिदायीन हमले के बाद 8 मार्च को यहां से व्यापार बंद कर दिया गया।

 

इसी दिन से पीओके और श्रीनगर के बीच चलने वाली कारवां-ए-अमन बस भी बंद कर दी गई। पुलवामा हमले में 44 सीआरपीएफ जवान शहीद हुए थे। हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी।

खबरें और भी हैं...