पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • Appropriation Bill, Winter Session Of Parliament, LokSabha News And Updates

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने निर्मला सीतारमण को ‘निर्बला’ कहने पर माफी मांगी, कहा- वे मेरी बहन जैसी

10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी (फाइल फोटो)।
  • लोकसभा में कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा था- कभी-कभी लगता है कि आपको ‘निर्मला’ के बजाए ‘निर्बला’ कहा जाए
  • वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इसके जवाब में कहा था कि भाजपा में हर महिला सबला हैं, यहां निर्बला कोई नहीं
  • रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा- भारत-चीन के बीच कोई वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) को लेकर सहमति नहीं बनी है
  • कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल का विरोध किया, कहा- यह लोकतंत्र के सिद्धांतों के खिलाफ

नई दिल्ली. कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने संसद सत्र के दौरान वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को ‘निर्बला’ कहने पर खेद जताया है। उन्होंने कहा कि अगर मेरे बयान से उन्हें दुख पहुंचता है तो मैं माफी मांगता हूं। निर्मला सीतारमण मेरी बहन की तरह हैं।


इससे पहले कांग्रेस नेता चौधरी ने सदन में कहा था कि कभी-कभी लगता है कि आपको निर्मला सीतारमण के बजाए निर्बला कहा जाए। इसके जवाब में वित्त मंत्री सीतारमण ने कहा था कि भाजपा में कोई महिला निर्बला नहीं है। यहां सभी सबला हैं।

कांग्रेस ने सरकार से पूछा- आप चीन के प्रति इतने नरम क्यों हैं?
इस बीच, अधीर रंजन ने लोकसभा में सरकार से पूछा कि पाकिस्तान की बात आती है तो हम आक्रामकता दिखाते हैं, जबकि हम चीन के प्रति इतने नरम क्यों हैं? उन्होंने कहा कि पाकिस्तान आतंकियों को पनाह देता है और चीन पाकिस्तान को। चीन ने अब अंडमान और निकोबार तक अपने जहाज भेजने शुरू कर दिए हैं।

रक्षा मंत्री ने कहा- हमारी सेना किसी भी स्थिति का सामना करने के लिए तैयार
इसके जवाब में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि हमारी सेना किसी भी स्थिति का सामना करने में सक्षम है। इस पर किसी को कोई संदेह नहीं होना चाहिए। भारत-चीन के बीच कोई वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) को लेकर सहमति नहीं बनी है। कभी-कभी घुसपैठ की घटनाएं होती हैं, मैं मानता हूं। कभी-कभी चीनी सेना यहां प्रवेश करती है तो कभी-कभी हमारे लोग वहां चले जाते हैं। देश की एकता, सुरक्षा और संप्रभुता को सुनिश्चित करने के लिए चीन की सीमा पर सड़क, सुरंग, रेलवे लाइन और हवाई क्षेत्र जैसे बुनियादी ढांचे का विकास किया जा रहा है।
 

विपक्ष ने नागरिकता संशोधन बिल का विरोध किया
उधर, कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल का विरोध किया। उन्होंने कहा कि यह मूल रूप से लोकतंत्र के सिद्धांतों के खिलाफ है। धर्म के आधार पर भेदभाव नहीं किया जाना चाहिए। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद मोदी कैबिनेट ने बुधवार को नागरिकता संशोधन बिल को मंजूरी दे दी है। अब इसे संसद में पेश किया जाएगा। विपक्ष और पूर्वोत्तर के कई संगठन इस बिल का विरोध कर रहे हैं।

निर्मला सीतारमण लोकसभा में लोकसभा में विनियोग विधेयक पेश करेंगी
संसद के शीतकालीन सत्र में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बुधवार को लोकसभा में विनियोग विधेयक और अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय शृंखला केंद्र प्राधिकरण विधेयक पेश करेंगी। इस विधेयक का आशय सरकार को देश की संचित निधि में से व्यय करने का प्राधिकार देना है। इस विधेयक को पारित करने की वही प्रक्रिया है, जो अन्य धन विधेयकों के मामले में है। वहीं, सपा सांसद जया बच्चन ने छात्राओं की सुरक्षा के मुद्दे पर राज्यसभा में चर्चा की मांग की है।

बुधवार की कार्यवाही

  • गृह मंत्री अमित शाह ने बुधवार को राज्यसभा में मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर बात की। कहा- इससे निपटने के लिए कड़ा कानून बनाया जाएगा।
  • विपक्ष के विरोध के बावजूद संसद में इस सप्ताह नागरिकता संशोधन बिल को पेश किए जाने की संभावना है।
  • केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को लोकसभा और राज्य विधानसभाओं में एससी/एसटी आरक्षण को 10 साल के लिए बढ़ाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी।
  • सपा सांसद जया बच्चन ने इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के होस्टल में छात्राओं की सुरक्षा के मुद्दे पर राज्यसभा में नोटिस दिया।
  • आम आदमी पार्टी (आप) के सांसद संजय सिंह ने ‘प्याज की बढ़ती कीमत' को लेकर राज्यसभा में कामकाज रोको प्रस्ताव दिया।
  • राकांपा सांसद वंदना चव्हाण राज्यसभा में समुद्र का जलस्तर बढ़ने का मुद्दा उठाएंगी।
  • तृणमूल सांसद शांता छेत्री ने राज्यसभा में नोटिस देकर पश्चिम बंगाल में बुलबुल तूफान से हुए नुकसान की भरपाई के लिए केंद्र से फंड की मांग की।
0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय पूर्णतः आपके पक्ष में है। वर्तमान में की गई मेहनत का पूरा फल मिलेगा। साथ ही आप अपने अंदर अद्भुत आत्मविश्वास और आत्म बल महसूस करेंगे। शांति की चाह में किसी धार्मिक स्थल में भी समय व्यतीत ह...

और पढ़ें