ट्विटर / विवेकानंद के कथन को लेकर यूजर ने सीतारमण को ‘स्वीटी’ कहा, वित्त मंत्री ने शालीनता से जवाब दिया

स्वामी विवेकानंद के जयंती पर वित्त मंत्री ने ट्विटर पर कोट साझा किया था। स्वामी विवेकानंद के जयंती पर वित्त मंत्री ने ट्विटर पर कोट साझा किया था।
X
स्वामी विवेकानंद के जयंती पर वित्त मंत्री ने ट्विटर पर कोट साझा किया था।स्वामी विवेकानंद के जयंती पर वित्त मंत्री ने ट्विटर पर कोट साझा किया था।

  • सीतारमण ने विवेकानंद की जयंती पर उनका कथन ट्वीट किया था, 'उठो, जागो और ज्यादा सपने मत देखो, यह सपनों की भूमि है, जहां कर्म हमारे विचारों से निकलकर माला बुनते हैं' 
  • यूजर सुजॉय घोष ने प्रतिक्रिया दी, कहा- स्वीटी, यह अपने लक्ष्य तक पहुंचने तक नहीं रुको है न कि ज्यादा सपने मत देखो

दैनिक भास्कर

Jan 14, 2020, 04:12 PM IST

नई दिल्ली. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को ट्विटर पर सोमवार को एक यूजर ने ‘स्वीटी’ कहकर संबोधित किया। इसका उन्होंने बड़ी ही शालीनता से जवाब दिया। यूजर ने वित्त मंत्री पर स्वामी विवेकानंद के मशहूर कथन को गलत कोट करने का आरोप लगाया।

दरअसल, सीतारमण ने 12 जनवरी को स्वामी विवेकानंद की जयंती पर उनका कथन ट्वीट किया था, 'उठो, जागो और ज्यादा सपने मत देखो। यह सपनों की भूमि है, जहां कर्म हमारे विचारों से निकलकर माला बुनते हैं।' उन्होंने लिखा यह कथन ‘द कंप्लीट वर्क्स ऑफ स्वामी विवेकानंद 4, पीपी 388-89’ से लिया गया है।

यूजर ने लिखा- सीतारमण ने सही कथन नहीं लिखा 

  • सीतारमण के ट्वीट पर यूजर सुजॉय घोष ने प्रतिक्रिया दी। उन्होंने लिखा, "स्वीटी ‘यह अपने लक्ष्य तक पहुंचने तक नहीं रुको’ है न कि ‘ज्यादा सपने मत देखो’। उन्होंने कहा कि यह 2020 का बजट नहीं है, जिस बारे में आप हमें चेतावनी दे रही हैं। ‘उठो, जागो और अपने लक्ष्य तक पहुंचने तक मत रुको’ एक नारा है, जो कथा उपनिषद के एक श्लोक से प्रेरित है। इसे 19वीं शताब्दी के अंत में विवेकानंद ने मशहूर किया था।
  • सीतारमण ने ट्वीट के जवाब में लिखा- "खुशी है कि आप इसमें रुचि ले रहे हैं। जहां तक कोट की बात है, तो मैंने कहा है कि यह द अवेकेन इंडिया से लिया गया है, जो अगस्त 1898 में लिखा गया था। कथन के नीचे मैंने इसके संदर्भ का हवाला भी दिया है। इसे अद्वैत आश्रम की ओर से प्रकाशित किया गया है।

‘स्वीटी’ शब्द के इस्तेमाल पर अन्य यूजर ने आपत्ति जताई

सीतारमण के इस जवाब की कई लोगों ने प्रशंसा की है। वहीं, कई लोगों ने घोष के ‘स्वीटी’ शब्द के इस्तेमाल की आलोचना की। सीतारमण 1 फरवरी को बजट पेश करने वाली हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना