पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • Nurse\'s Negligence In Bihar Hospital Baby Dies, Family Accusses Their Commission Demand

9 घंटे तड़पती रही महिला, नर्सों ने डॉक्टर काे नहीं बुलाया; आधी डिलिवरी करा निकाल दिया

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • सदर अस्पताल में कमीशन के फेर में नर्सों की घिनौनी करतूत
  • मामला सामने आने के बाद जांच में जुटा प्रबंधन 
Advertisement
Advertisement

पटना. भागलपुर के सदर अस्पताल में डॉक्टरों की बड़ी लापरवाही शुक्रवार को सामने आई। 9 घंटे तक एक गर्भवती प्रसव पीड़ा से तड़पती रही, लेकिन डॉक्टरों ने उसे देखा ही नहीं। सुबह 7 बजे डिलिवरी की कोशिश नर्सों ने की। नवजात का एक पैर और नाभी कॉड बाहर भी आया, लेकिन प्रसव नहीं हो सका। आधी डिलिवरी में ही उसे नर्सों ने महिला काे लेबर रूम से बाहर निकाल दिया गया। जैसे-तैसे महिला की जान तो बचाई, लेकिन लापरवाही से नवजात की जान चली गई।

 

मामला बढ़ने के बाद परिजनों ने नर्सों पर कमीशनखोरी का आरोप लगाया। महिला के परिवारवालों का कहना था कि तीन महिला और 7 पुरुष डॉक्टराें की तैनाती वाले अस्पताल में नर्सों ने किसी डॉक्टर को नहीं बुलाया गया। बाद में आशा उसे निजी क्लीनिक ले गई। वहां डॉक्टर ने महज 10 मिनट में ही महिला की नॉर्मल डिलिवरी करवाई। हालांकि, बच्चे की जान हीं बचाई जा सकी। 

 

निजी क्लीनिक में भेजने पर बची पीाड़िता की जान 
परिवारवालों की शिकायत है कि सदर अस्पताल में गुरुवार रात से शुक्रवार सुबह तक कोई डॉक्टर नहीं था। इससे उसके मरीज का इलाज नहीं हुआ। जब सब हाथ से निकल गया तो निजी क्लीनिक में भेजा। परिजनों का कहना है कि शिकायत करने के लिए हेल्थ मैनेजर भी नहीं थे। किसी का मोबाइल नंबर भी कर्मचारियों ने नहीं दिया। 

 

जांच और कार्रवाई का सच 
पहले भी कई मामलों में शोकॉज हुए हैं। लेकिन कार्रवाई नहीं हुई। अस्पताल परिसर में दिनभर आशा जमी रहती हैं, जबकि उनका काम क्षेत्र में गर्भवती महिलाओं की काउंसलिंग से लेकर स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने की है। लेकिन वे निजी सेंटरों में जांच और भर्ती करवाती रही हैं। 

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज पिछले समय से आ रही कुछ पुरानी समस्याओं का निवारण होने से अपने आपको बहुत तनावमुक्त महसूस करेंगे। तथा नजदीकी रिश्तेदार व मित्रों के साथ सुखद समय व्यतीत होगा। घर के रखरखाव संबंधी योजनाओं पर भ...

और पढ़ें

Advertisement