• Hindi News
  • National
  • Nusrat Jahan | TMC MP Nusrat Jahan With Mamata Banerjee ISKCON Kolkata's Rathyatra

पश्चिम बंगाल / नुसरत जहां ने ममता बनर्जी के साथ रथ खींचा, कहा- जन्म से मुसलमान, अब भी हूं



ममता बनर्जी के साथ नुसरत जहां रथ खींचते हुए ममता बनर्जी के साथ नुसरत जहां रथ खींचते हुए
X
ममता बनर्जी के साथ नुसरत जहां रथ खींचते हुएममता बनर्जी के साथ नुसरत जहां रथ खींचते हुए

  • कोलकाता में वार्षिक रथ यात्रा में नुसरत जहां विशेष अतिथि थी
  • नुसरत जहां ने कहा, "युवा भारत धर्मनिरपेक्षता और मानवता के लिए खड़ा है"
  • नुसरत जहां ने यात्रा से पहले पूजा की और नारियल भी फोड़ा 

Dainik Bhaskar

Jul 04, 2019, 07:00 PM IST

कोलकाता. तृणमूल कांग्रेस की नवनिर्वाचित सांसद और अभिनेत्री नुसरत जहां वार्षिक रथ यात्रा में विशेष अतिथि थी। वे इस्‍कॉन मंदिर में श्री जगन्‍नाथ यात्रा में शामिल होने पहुंची, जहां उन्होंने पूजा अर्चना की, नारियल फोड़ा और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ रथ खींचा। नुसरत जहां ने अपने खिलाफ फतवा जारी होने पर कहा, मैं उन बातों पर ध्यान नहीं देती  जो निराधार हैं। मैं अपना धर्म जानती हूं। मैं जन्म से मुसलमान हूं और अब भी मुसलमान हूं। मैं इसपर विश्वास करती हूं। इसे आपको अपने दिल के अंदर महसूस करना होगा।

 

नुसरत जहां ने यात्रा से पहले पूजा की और नारियल भी फोड़ा

 

रथ यात्रा में नुसरत जहां विशेष अतिथि थी


कोलकाता में वार्षिक रथ यात्रा में नुसरत जहां विशेष रूप से आमंत्रित थी। उन्होंने इस्कॉन द्वारा आयोजित मिंटो पार्क में रथ यात्रा में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बगल में खड़ी दिखीं। उन्होंने कहा, "दीदी (ममता बनर्जी) ईद में भी आती हैं और सभी के साथ खड़ी रहती हैं। इसमें कोई राजनीति नहीं है। यह आस्था और विश्वास है। राजनीति और धर्म को अलग रखें।"

 

शादी के बाद सिंदूर और मंगलसूत्र पहन पहुंची थी संसद

 

  • पश्चिम बंगाल के बसीरहाट की सांसद नुसरत जहां अपनी शादी के बाद  25 जून को संसद में शपथ के दौरान सिंदूर और मंगलसूत्र पहनकर पहुंची थी। इसके बाद मौलवियों ने उनकी निंदा की।
  • मौलवियों ने दावा किया था कि नुसरत जहां ने जैन धर्म में शादी कर इस्लाम का अपमान किया है। उनके कपड़ों को गैर इस्लामिक बताया था। जामिया शेखुल हिंद के मुफ्ती असद कासमी ने दावा किया था कि मुस्लिमों की शादी मुस्लिमों में ही हो सकती है और वे केवल अल्लाह के सामने झुक सकते हैं। इस्लाम में वंदे मातरम, मंगलसूत्र और सिंदूर के लिए कोई जगह नहीं है।
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना