--Advertisement--

घर के बाहर खेल रहा था बच्चा, तभी आई चीखने- चिल्लाने की आवाज, बाहर पहुंचे मां-बाप तो सीने को चीरते आर-पार हो गई थी लोहे की रॉड

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2019, 05:43 PM IST

सीने को छेदते आर-पार हुई 4 फीट की लोहे की रॉड, दर्द से तड़पता रहा 11 साल का बच्चा

Odisha Minor boy critical after iron rod pierces into his chest

केयोनझार. उड़ीसा में 11 साल के लड़के के साथ एक भयानक हादसा हो गया। बच्चा घर के बाहर लोहे की रॉड से खेल रहा था कि तभी 4 फीट की रॉड उसके सीने को छेदते हुए आर-पार हो गई। बच्चे के मां-बाप तुरंत उसे लेकर पास के हॉस्पिटल लेकर भागे, जहां उसे प्राथमिक इलाज दिया गया। इसके बाद उसकी गंभीर हालत को देखते हुए कटक के मेडिकल कॉलेज में रेफर कर दिया है।

सीने को चीरती आर-पार हुई रॉड
- घटना केयोनझार जिले के डिम्बो गांव की है। यहां रहने वाले ऑटोरिक्शा ड्राइवर नंदा किशोर महाकुड का 11 साल का बेटा चंदन अपने छोटे भाई-बहन के साथ लोहे की रॉड से घर के बाहर खेल रहा था।
- मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, लड़का अचानक लोहे की रॉड पर जा गिरा, जो उसके सीने को चीरती हुई आर-पार हो गई। लड़के के चिल्लाने की आवाज सुनकर सभी घर से बाहर आ गए।
- बच्चे भयानक दर्द में था। तुरंत बच्चे के मां-बाप उसे डिस्ट्रिक्ट हेड क्वार्टर हॉस्पिटल लेकर पहुंचे, जहां उसे शुरुआती इलाज दिया गया।
- इसके बाद बच्चे की गंभीर हालत को देखते हुए उसे कटक के एससीबी मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल भेज दिया गया। यहां डॉक्टर्स ने चंदन के बेहतर ट्रीटमेंट का भरोसा दिलाया है।

गर्दन में फंस गई थी टहनी
पिछले साल ऐसा ही एक मामला इसी जिले के धंगादादिहा गांव में सामने आया था। यहां पेड़ की एक लंबी सी पतली टहनी टूटकर बच्चे की गर्दन को चीरते हुए आर-पार हो गई थी। इस बच्चे का इलाज भी कटक के एससीबी हॉस्पिटल में ही किया गया था। सर्जरी करके बच्चे की गर्दन से टहनी निकाली गई थी।

X
Odisha Minor boy critical after iron rod pierces into his chest
Astrology

Recommended

Click to listen..