• Hindi News
  • National
  • Omicron Coronavirus Variant Outbreak India LIVE Updates | Mumbai Delhi Bhopal Indore Kerala Rajasthan Haryana, Reported Cases And Deaths By State Wise

कोरोना देश में:देश में कोरोना की नई गाइडलाइन लागू होने के बाद 'एट रिस्क' देशों से आने वाले 6 पैसेंजर्स संक्रमित मिले

नई दिल्ली6 महीने पहले

ओमिक्रॉन वैरिएंट दुनिया के 23 देशों में फैल चुका है। भारत में भी इस वैरिएंट को देखते हुए सोमवार को नई गाइडलाइन जारी की। यह आज यानी 1 दिसंबर से लागू हो गई। केंद्र सरकार ने बुधवार को नए नियमों के लागू होने के बाद 'एट रिस्क' देशों से आने वाले 6 पैसेंजर्स संक्रमित मिल चुके हैं।

देश के विभिन्न एयरपोर्ट पर अब तक 3,476 लोगों की स्क्रीनिंग की गई है। ये सभी 'एट रिस्क' देशों से आने वाले 11 फ्लाइट्स से थे। इनमें दिल्ली एयरपोर्ट से 4 पैसेंजर्स की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है। ये चारों ब्रिटेन और नीदरलैंड्स से लौटे हैं। दो अन्य की जानकारी सामने नहीं आई है। इन सबको दिल्ली के LNJP हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया है। यहां डेडिकेटेड वार्ड में इन्हें आइसोलेट किया गया है। यहीं इनका इलाज भी किया जा रहा है।

'एट रिस्क' लिस्ट में शामिल किए गए हैं ये देश
केंद्र सरकार ने 'एट रिस्क' लिस्ट में जिन देशों को शामिल किया है, उनमें ब्रिटेन समेत सभी यूरोपीय देश, इजराइल, साउथ अफ्रीका, ब्राजील, बांग्लादेश, बोत्सवाना, चीन, मॉरीशस, न्यूजीलैंड, जिम्बाब्वे, सिंगापुर और हांगकांग शामिल हैं।

अपडेट्स...

सीरम इंस्टीट्यूट ने बूस्टर डोज के रूप में कोवीशील्ड के लिए DCGI की मंजूरी मांगी

पुणे की सीरम इंस्टीट्यूट (SII) ने भारत में बूस्टर डोज के रूप में कोवीशील्ड वैक्सीन के लिए DCGI से अनुमति मांगी है। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने देश में वैक्सीन के पर्याप्त स्टॉक और नए कोरोना वायरस वैरिएंट के उभरने की आशंका के चलते बूस्टर शॉट की मांग का हवाला दिया है।

देश के ड्रग्स कंट्रोलर जनरल (DCGI) को दिए आवेदन में सीरम इंस्टीट्यूट के नियामक मामलों के डायरेक्टर प्रकाश कुमार सिंह ने बताया कि ब्रिटेन की मेडिकल रेगुलेटरी ने एस्ट्राजेनेका की कोविड वैक्सीन की बूस्टर खुराक को पहले ही मंजूरी दे दी है। ऐसे में भारत में भी कंपनी के वैक्सीन को मंजूरी देनी चाहिए।

इधर केरल, राजस्थान, कर्नाटक और छत्तीसगढ़ की सरकारों ने केंद्र से ओमिक्रॉन को लेकर चिंता जताते हुए वैक्सीन की बूस्टर डोज दिए जाने की अनुमति मांगी है।

उत्तराखंड में शादी समारोह में 200 लोगों के शामिल होने की अनुमति, ओडिशा में भी प्रोटोकॉल एक्टिव करने के निर्देश
दुनियाभर में कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट के बढ़ते मामलों के बीच पाबंदियों का दौर एक बार फिर से शुरू होने लगा है। केंद्र सरकार के निर्देश के बाद बुधवार को उत्तराखंड और ओडिशा के मुख्यमंत्रियों ने कोविड प्रोटोकॉल को एक बार फिर से शुरू करने के आदेश दिए हैं।

उत्तराखंड में जारी गाइडलाइन के अनुसार, प्रदेश में किसी भी प्रकार के धरना-प्रदर्शन आगामी आदेश तक पूर्णतः प्रतिबंधित रहेंगे। साथ ही गुरुवार से 50% क्षमता के साथ स्कूल खुलेंगे। 6 दिन में से 3 दिन ही बच्चे स्कूल में पढ़ने जाएंगे। बच्चों की पढ़ाई प्रभावित न हो इसलिए स्कूलों और कॉलेजों की ऑनलाइन कक्षाएं फिर से शूरू की जा रही हैं।

इसके साथ ही शादियों के सीजन में होने वाली भीड़ के मद्देनजर सरकार ने विवाह समारोह में अधिकतम 200 लोगों को शामिल होने की अनुमति दी है। आदेश के अनुसार, समारोह में दोनों पक्षों को मिलाकर कुल दो सौ ही मेहमान और मेजबान शामिल हो सकेंगे।

इसके साथ ही बिना मास्क वालों पर चालानी कार्रवाई होगी और रोको-टोको अभियान फिर से शुरू किए जाएगा। वहीं ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने भी बुधवार को अफसरों के साथ इमरजेंसी मीटिंग की। उन्होंने अफसरों को कोविड प्रोटोकॉल का फिर से पालन करवाने और हाईअलर्ट पर रहने के निर्देश दिए हैं।

मुंबई में 20 महीने बाद सबसे कम 108 नए कोरोना केस मिले
मुंबई में बुधवार को 108 नए कोरोना पॉजिटिव मिले, जो करीब 20 महीने बाद इस मेट्रो सिटी में एक दिन में पॉजिटिव मरीजों का सबसे कम आंकड़ा है। बृहनमुंबई म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन (BMC) के एक अधिकारी के मुताबिक, इससे पहले पिछले साल अप्रैल के मध्य में एक दिन में इतने कम पॉजिटिव मरीज मिले थे।

महाराष्ट्र के एक्सपर्ट बोले- मुंबई में आती हैं विदेशी फ्लाइट्स, इसलिए यहां खतरा ज्यादा
कोरोना वायरस के नए ओमिक्रॉन वैरिएंट ने कई देशों की चिंता बढ़ा दी है। यह डेल्टा वैरिएंट से 30 गुना ज्यादा खतरनाक बताया जा रहा है। यह वायरस उन लोगों को भी संक्रमित कर रहा है, जिन्होंने वैक्सीन की दोनों खुराक ले ली हैं। हालांकि यह स्पष्ट नहीं है कि यह ओमिक्रॉन वैरिएंट रूप बदलने पर कितना जानलेवा हो सकता है। पूरी खबर यहां पढ़़ें...

महाराष्ट्र में खतरे वाले देशों से आने वाले सभी यात्रियों को 7 दिन का क्वारैंटाइन

मुंबई एयरपोर्ट पर लोगों के वैक्सीन सर्टिफिकेट की जांच करते अधिकारी।
मुंबई एयरपोर्ट पर लोगों के वैक्सीन सर्टिफिकेट की जांच करते अधिकारी।

ओमिक्रॉन के खतरे के चलते महाराष्ट्र सरकार ने सख्ती शुरू कर दी है। अब 'एट रिस्क' यानी खतरे वाले देशों से आने वाले सभी यात्रियों को 7 दिन का इंस्टीट्यूशनल क्वारैंटाइन पूरा करना होगा। सूत्रों के मुताबिक मुंबई आने वाले ऐसे सभी यात्रियों को आज से ही कम्पलसरी आइसोलेशन फैसिलिटी में भेजा जाएगा। इसके लिए प्रशासन ने कुछ होटलों का चुनाव किया है। इनमें आइसोलेशन पीरियड का खर्च पैसेंजर को खुद ही उठाना होगा। हालांकि इसके चलते कुछ पैसेंजर्स को परेशानी भी हुई, क्योंकि उड़ान भरने के समय उन्हें इस नियम की जानकारी नहीं थी। साथ ही 7 दिन के क्वारैंटाइन के लिए भुगतान करने के बारे में भी पता नहीं था।

इधर, खतरे वाले देशों के अलावा सभी अंतरराष्ट्रीय यात्रियों को अनिवार्य तौर पर RT-PCR टेस्ट कराना होगा। निगेटिव पाए जाने पर उन्हें घर जाने की इजाजत होगी, लेकिन वहां भी अगले 7 दिन तक उनकी निगरानी की जाएगी। महाराष्ट्र में देश के बाकी राज्यों से आने वाले यात्रियों को भी 48 घंटे पहले की RT-PCR निगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी।

लंदन और एम्स्टर्डम से लौटे 4 यात्री कोरोना पॉजिटिव मिले

IGI एयरपोर्ट पर हर दिन 2,000 से ज्यादा टेस्ट हो रहे हैं।
IGI एयरपोर्ट पर हर दिन 2,000 से ज्यादा टेस्ट हो रहे हैं।

नई दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर लंदन और एम्स्टर्डम से लौटे 4 यात्री कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इनके सैंपल सिक्वेंसिंग के लिए भेज दिए गए हैं। इसके नतीजे आने के बाद ही यह पता लगेगा कि ये ओमिक्रॉन वैरिएंट से संक्रमित हैं या नहीं। जेनस्ट्रिंग्स डायग्नोस्टिक्स की फाउंडर डॉ. गौरी अग्रवाल ने बताया कि दो दिन में 5 यात्री संक्रमित मिले हैं। हम IGI एयरपोर्ट पर हर दिन 2,000 से ज्यादा टेस्ट कर रहे हैं।

नए नियमों के बाद घंटों तक एयरपोर्ट में फंसे यात्री
कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर इंटरनेशनल पैसेंजर्स के लिए नई गाइडलाइन आज से लागू कर दी गई है। इसके बाद से देश भर के हवाई अड्डों पर यात्रियों को लंबे समय तक इंतजार करना पड़ रहा है। दिल्ली और चेन्नई में यात्री अपनी कोरोना जांच रिपोर्ट के लिए 6 घंटे तक इंतजार कर रहे हैं। दिल्ली के इंदिरा गांधी एयरपोर्ट पर जो लोग एंटीजन टेस्ट करा रहे हैं, उन्हें रिपोर्ट के लिए ढाई से तीन घंटे तक इंतजार करना पड़ रहा है। वहीं, RT-PCR टेस्ट कराने वाले 5-6 घंटे तक इंतजार कर रहे हैं।

कर्नाटक के मैसूर में 72 स्टूडेंट कोरोना संक्रमित मिले
कर्नाटक के मैसूर जिले में 72 स्टूडेंट कोरोना संक्रमित मिले हैं। ये सभी केरल के रहने वाले हैं। इन सभी को क्वारैंटाइन कर दिया गया है और डॉक्टर्स एक टीम इनका इलाज कर रही है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि इस मामले को देखते हुए मैसूर में हाई अलर्ट जारी किया गया है। लोगों को घर रहने की सलाह दी गई है। साथ ही कोविड टेस्टिंग बढ़ाई जा रही है।

बीते दिन 8,954 नए केस मिले, 267 पीड़ितों की मौत हुई

देश में बीते 24 घंटे में 8,954 नए कोरोना केस मिले हैं और 267 लोगों की मौत हुई है। इस दौरान 10,207 लोग रिकवर भी हुए हैं। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के मुताबिक फिलहाल 99,023 एक्टिव केस हैं। देश भर में वैक्सीनेशन कैंपन जोर-शोर से चलाया जा रहा है। अब तक 1.24 अरब लोगों को टीका लग चुका है।

इंटरनेशनल यात्रियों के लिए नई गाइडलाइंस लागू
साउथ अफ्रीका में मिले कोरोना वायरस के 'वैरिएंट ऑफ कंसर्न' ओमिक्रॉन से बचाव को लेकर केंद्र सरकार की तरफ से जारी नई गाइडलाइंस आज से लागू हो गई हैं। उधर, महाराष्ट्र, कर्नाटक, गोवा आदि राज्यों ने अपने स्तर से भी कई सख्त आदेश जारी कर दिए हैं।

अब देश में आने पर हर इंटरनेशनल ट्रैवलर को होना पड़ेगा क्वारैंटाइन
केंद्र सरकार ने ओमिक्रॉन को लेकर तय की गई नई गाइडलाइंस 1 दिसंबर की आधी रात से लागू करने की घोषणा की थी। मंगलवार और बुधवार के बीच की आधी रात से ये गाइडलाइंस लागू हो गईं। इनके मुताबिक, अब 'एट रिस्क कंट्रीज' में शामिल 12 देशों से आने वाले हर व्यक्ति का एयरपोर्ट पर ही RT-PCR टेस्ट होगा।

इन यात्रियों को एयरपोर्ट पर ही टेस्ट रिजल्ट आने तक इंतजार करना होगा। यदि टेस्ट निगेटिव आता है तो उन्हें 7 दिन के होम क्वारैंटाइन पर रहने की इजाजत दी जाएगी। 8वें दिन उनका दोबारा RT-PCR टेस्ट होगा, जिसकी रिपोर्ट निगेटिव आने पर ही उन्हें बाहर घूमने की छूट मिलेगी।

दिल्ली में एयरपोर्ट पर नई गाइडलाइन जारी
दिल्ली में इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर ओमिक्रॉन वैरिएंट को लेकर यात्रा के लिए नए दिशा-निर्देश लागू किए गए हैं। यूक्रेन से आए एक यात्री ने बताया कि हमें इसकी जानकारी नहीं थी कि यहां सावधानियां बढ़ा दी गई हैं। एयरपोर्ट पर हमारा RT-PCR टेस्ट किया गया।

महाराष्ट्र में दूसरे स्टेट से एंट्री पर टेस्ट
महाराष्ट्र सरकार ने मंगलवार को आदेश दिया है कि देश के किसी अन्य राज्य से आने वाले व्यक्ति को भी RT-PCR टेस्ट कराना होगा। यह टेस्ट उनके लिए राज्य में एंट्री करने के 48 घंटे के अंदर कराना अनिवार्य होगा।

कर्नाटक हर इंटरनेशनल यात्री की करेगा टेस्टिंग
कर्नाटक सरकार ने तय किया है कि राज्य में इंटरनेशनल फ्लाइट से आने वाले हर यात्री का RT-PCR टेस्ट कराया जाएगा। कर्नाटक के हेल्थ मिनिस्टर डॉ. के. सुधाकर के मुताबिक, कर्नाटक में रोजाना 2500 यात्री इंटरनेशनल फ्लाइट से आते हैं। इनके टेस्ट कराए जाएंगे। जो निगेटिव निकलेंगे, उन्हें भी 7 दिन के लिए होम क्वारैंटाइन किया जाएगा।

गोवा में सभी विदेशियों का होगा टेस्ट
गोवा के सीएम प्रमोद सावंत ने भी कहा कि हमारे एयरपोर्ट फर उतरने वाले सभी विदेशी यात्रियों का कोविड टेस्ट कराया जाएगा। जो लोग 'एट-रिस्क कंट्रीज' से आ रहे हैं, उन्हें 14 दिन के लिए अनिवार्य तौर पर क्वारैंटाइन किया जाएगा।

केरल में वैक्सीन नहीं लगाया तो मुफ्त इलाज नहीं
केरल के मुख्यमंत्री कार्यालय से जारी निर्देश के मुताबिक, राज्य में कोविड प्रिवेंशन में सहयोग नहीं करने वालों को मुफ्त इलाज की सुविधा नहीं दी जाएगी। जो लोग ऑफिसों में काम कर रहे हैं और जिन टीचर्स का वैक्सीनेशन नहीं हुआ है, उन्हें हर सप्ताह RT-PCR टेस्ट कराकर रिपोर्ट जमा करानी होगी।