• Hindi News
  • National
  • India Pakistan | Operation Bandar: Indian Air Force IAF's code for Balakot strike

बालाकोट एयरस्ट्राइक / गोपनीयता बरतने के लिए वायुसेना ने अभियान को ‘ऑपरेशन बंदर’ नाम दिया था



India Pakistan | Operation Bandar: Indian Air Force IAF's code for Balakot strike
X
India Pakistan | Operation Bandar: Indian Air Force IAF's code for Balakot strike

  • 26 फरवरी को भारतीय वायुसेना ने बालाकोट में एयर स्ट्राइक के लिए 12 मिराज फाइटर जेट भेजे थे
  • 14 फरवरी को पुलवामा में हुए हमले के जवाब में भारत ने एयर स्ट्राइक की थी

Dainik Bhaskar

Jun 21, 2019, 05:15 PM IST

नई दिल्ली. 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट में भारतीय वायुसेना ने एयर स्ट्राइक की थी। अभियान को गोपनीय रखने के लिए इसे ‘ऑपरेशन बंदर’ नाम दिया गया था। अभियान में 12 मिराज फाइटर जेट के जरिए बालाकोट में आतंकी ठिकानों को तबाह किया गया था। इस ऑपरेशन में 250 से 300 आतंकी मारे गए थे।

 

14 फरवरी को पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले के जवाब में इस स्ट्राइक को अंजाम दिया गया था। पुलावामा हमले में 40 जवान शहीद हुए थे। वायुसेना के सूत्र ने न्यूज एजेंसी को बताया कि हमले की योजना को गुप्त रखने के लिए ऑपरेशन को यह नाम दिया गया था। इस बारे में और ज्यादा जानकारी देने से इनकार करते हुए सूत्र ने कहा- बंदरों का हमेशा से ही भारत के युद्ध इतिहास में अहम स्थान रहा है। रामायण काल में भी भगवान राम की सेना के सेनापति हनुमान थे, जो चुपचाप लंका में दाखिल हुए थे और उसे जला दिया था।


स्ट्राइक आतंकियों को करारा जवाब थी- सेना प्रमुख
थल सेना प्रमुख बिपिन रावत ने भी कहा था कि फरवरी में पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकी ठिकानों पर की गई एयर स्ट्राइक आतंकियों को करारा जवाब थी। अब सीमा पार प्रशिक्षण ले रहे आतंकी भारत पर हमला करने से पहले कई बार सोचेंगे। रावत ने कहा कि कुछ सरकारी एजेंसियां सीमा पार आतंकवाद से निपटने के लिए प्रयास कर रही हैं। उनकी कोशिश है कि आतंकियों की फंडिंग पर रोक लगाई जाए।


बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद पीओके से घुसपैठ नहीं हुई
सेना के मुताबिक, बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद भी सेनाओं ने एलओसी के पास स्थित आतंकी संगठनों पर दबाव बनाकर रखा है। एयर स्ट्राइक के बाद पीओके घुसपैठ की कोशिश नहीं हुई है। वहां स्थित आतंकी लॉन्च पैड का इस्तेमाल भी बंद कर दिया गया है। खुफिया एजेंसियों ने बताया कि पिछले दो महीने से आतंकी गतिविधियों को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। 

 

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत ने पीओके में अभी भी आतंकी कैंप होने के सबूत पेश किए। यह भी कहा कि इन कैंपों को पाकिस्तानी सेना मदद करती है। भारत ने बताया कि पीओके में 11 आतंकी कैंप हैं। मुजफ्फराबाद और कोटली में 5-5 और एक कैंप बरनाला में है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना