विस्तार / देश की टॉप 10 भाषाओं में सिर्फ हिंदी बोलने वाले बढ़े, इंटरनेट पर 94% की बढ़ोतरी



Out of the top 10 languages ​​of the country, only Hindi speakers grew
X
Out of the top 10 languages ​​of the country, only Hindi speakers grew

  • हमारा शब्दकोष समृद्ध हुआ, 20 साल में शब्दों की संख्या 20 हजार से बढ़कर 1.5 लाख हुई
  • मलयालम बोलने वालों की संख्या सबसे ज्यादा 28% घटी, 5 साल में दक्षिण में हिंदी सीखने वाले 22% बढ़े

Dainik Bhaskar

Sep 14, 2019, 12:11 PM IST

नई दिल्ली. हिंदी और समृद्ध हो रही है। इंटरनेट पर भी हिंदी का विस्तार हो रहा है। देश की टॉप 10 भाषाओं में सिर्फ हिंदी बोलने वाले बढ़े हैं। बीते चार दशक में हिंदी बोलने वाले 19% बढ़े  हैं। अकेले 10 साल में हिंदी भाषी 10 करोड़ बढ़ गए। जबकि इसी दौरान अन्य 9 भाषाएं बोलने वालों की संख्या घटी है।

 

मलयालम बोलने वालों की संख्या सबसे ज्यादा 28% घटी है। यही नहीं, हिंदी निदेशालय के सरकारी हिंदी शब्दकोष में 20 साल में शब्दों की संख्या साढ़े सात गुना बढ़ी है। इसमें अब शब्द 20 हजार से बढ़कर 1.5 लाख हो गए हैं। जबकि 30 साल में अंग्रेजी के ऑक्सफोर्ड शब्दकोष में 9500 शब्द ही जुड़े हैं।

 

5 साल में दक्षिण में हिंदी सीखने वाले 22% बढ़े

दक्षिण भारत में हिंदी परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा द्वारा आयोजित हिंदी परीक्षा में बैठने वाले लोगों की संख्या पांच साल में 22% बढ़ी है। 2019 में हुई इस परीक्षा में करीब छह लाख लोग बैठे।

 

2021 में इंटरनेट पर हिंदी इस्तेमाल करने वाले अंग्रेजी से ज्यादा होंगे

  • इंटरनेट में हिंदी सबसे तेज 94% की दर से बढ़ रही है। अंग्रेजी की रफ्तार 19% है। हर पांच में एक व्यक्ति हिंदी में सामग्री ढूंढ रहा है। हिंदी में सामग्री ढूंढ़ने वाले लोग भी दोगुना तेजी से बढ़ रहे हैं।  
  • 2021 तक वेब पर 54 करोड़ लोग हिंदी, मराठी, बंगाली आदि में सर्च करने वाले होंगे। सर्वाधिक 35 करोड़ हिंदी वाले होंगे। जबकि अंग्रेजी के 21 करोड़ लोग होंगे।
  • 68% लोग मानते हैं कि उन्हें इंटरनेट पर उनकी भाषा में मिलने वाली सामग्री ज्यादा भरोसेमंद होती है।

दुनिया में चौथी सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा, 170 देश में पढ़ाई

  • 170 देशों में किसी न किसी रूप में हिंदी पढ़ाई जा रही है। भारत के बाहर करीब 600 हिंदी के स्कूल-कॉलेज हैं। मेंडरिन, स्पैनिश और अंग्रेजी के बाद दुनिया में हिंदी सबसे ज्यादा बोली जाती है।  
  • नासा के भाषा विभाग प्रमुख डॉ. ब्रिक्स के मुताबिक, हिंदी दुनिया की एकमात्र ध्वन्यात्मक (फोनेटिक) भाषा है। भविष्य में यही कंम्प्यूटर की भाषा होगी। 
  • इसी साल संयुक्त राष्ट्र (यूएन) ने हिंदी में समाचार सेवा भी शुरू की है। ये सम्मान पाने वाली हिंदी पहली गैर-यूएन एशियाई भाषा बन गई है।

 

022

 

अदालत में रोचक वाकया : एएसजी ने कहा- सर, अंग्रेजी में पूछिए; जज बोले- आपकी हिंदी और मेरी अंग्रेजी कमजोर

नई दिल्ली (पवन कुमार). कर्नाटक के कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार के मामले की सुनवाई के दौरान शुक्रवार को दिल्ली की विशेष अदालत में एक रोचक वाकया सामने आया। जज अजय कुमार कुहार ने मनी लॉन्ड्रिंग के इस मामले में ईडी की ओर से पेश एडिशनल सॉलिसिटर जनरल (एएसजी) एएम नटराज से हिंदी में सवाल पूछे।

 

इस पर नटराज ने कहा- ‘सर, कृपया अंग्रेजी में पूछिए, मेरी हिंदी कमजोर है।’ इस पर जज बोले- ‘आपकी हिंदी कमजोर है और मेरी अंग्रेजी कमजोर है। सवाल कैसे पूछूं।’ इस पर अदालत में मौजूद हर शख्स हंस पड़ा। नटराज ने बताया कि जांच में 200 करोड़ रु. से ज्यादा के लेनदेन और 800 करोड़ रु. से ज्यादा की संपत्ति का पता चला है। इसके बाद अदालत ने शिवकुमार को 17 सितंबर तक ईडी की हिरासत में भेज दिया।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना