आईएनएक्स केस / चिदंबरम 2 सितंबर तक सीबीआई कस्टडी में, ईडी ने पूछताछ से जुड़े दस्तावेज सुप्रीम कोर्ट में पेश किए



कोर्ट से बाहर निकलते पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम। कोर्ट से बाहर निकलते पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम।
X
कोर्ट से बाहर निकलते पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम।कोर्ट से बाहर निकलते पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम।

  • आईएनएक्स मीडिया केस में 21 अगस्त को चिदंबरम की गिरफ्तारी हुई थी, तब से वह कस्टडी में हैं
  • जांच अधिकारी ने सीबीआई की विशेष अदालत से कहा- दस्तावेजों की तादाद ज्यादा, उस संबंध में पूछताछ जरूरी
  • पूछताछ संबंध दस्तावेज जमा होने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने कहा- इन्हें देखा जाना है या नहीं, फैसले के बाद तय होगा

Dainik Bhaskar

Aug 30, 2019, 07:31 PM IST

नई दिल्ली.  आईएनएक्स मीडिया केस में पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम को सीबीआई की विशेष अदालत ने 2 सितंबर तक जांच एजेंसी की कस्टडी में भेज दिया। विशेष जज अजय कुमार कुहार के सामने चिदंबरम को पेश किया गया था। जस्टिस अजय कुमार ने 26 अगस्त को चिदंबरम को 4 दिन की कस्टडी में भेजा था। उधर, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने इस मामले से जुड़े दस्तावेज सीलबंद लिफाफे में सुप्रीम कोर्ट में पेश किए।

 

20 अगस्त को दिल्ली हाईकोर्ट ने चिदंबरम की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी थी। इसके बाद सीबीआई ने चिदंबरम को 21 अगस्त को गिरफ्तार किया था। वह 8 दिन से कस्टडी में हैं।

 

पूछताछ के लिए और ज्यादा वक्त की जरूरत- जस्टिस अजय कुमार
जस्टिस अजय कुमार ने कहा- जांच अभी शुरुआती है और जैसा कि जांच अधिकारी ने कहा कि दस्तावेज बहुत अधिक मात्रा में हैं। इस संबंध में आरोपी से पूछताछ जरूरी है। ऐसे में और ज्यादा समय की आवश्यकता है। इन दलीलों को ध्यान में रखते हुए आरोपी को 2 सितंबर तक कस्टडी में भेजा जाता है।

 

ईडी ने चिदंबरम से पूछताछ संबंधी दस्तावेज कोर्ट में पेश किए
ईडी ने शुक्रवार को आईएनएक्स मीडिया केस में चिदंबरम से की गई पूछताछ से जुड़े दस्तावेज सुप्रीम कोर्ट में पेश किए। जस्टिस आर भानुमती और जस्टिस एएस बोपन्ना की बेंच के सामने सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता ने सीलबंद लिफाफे में यह दस्तावेज पेश किए। इसके बाद बेंच ने कहा कि दोनों पक्षों की तकरीरों में किसी भी तरह का पक्षपात न करते हुए हमने यह दस्तावेज कोर्ट में पेश करने के निर्देश दिए थे। इन दस्तावेजों को देखा जाएगा, या फिर नहीं.. यह इस अदालत के फैसले पर निर्भर करेगा।

 

हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती देने वाली याचिका पर फैसला 5 सितंबर को

चिदंबरम ने दिल्ली हाईकोर्ट के उस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है, जिसमें कोर्ट ने अग्रिम जमानत याचिका को खारिज कर दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इस याचिका पर फैसला 5 सितंबर को सुनाया जाएगा, तब तक अदालत ने चिदंबरम की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है। 

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना