पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Pakistan Airspace Closure 70 Thousand Passengers Paying More Than 5 Times Daily

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पाकिस्तान एयरस्पेस बंद होने का असर, रोजाना 70 हजार यात्री 5 गुना तक ज्यादा किराया चुका रहे

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • यूरोपियन देशों, उत्तर अमेरिका और खाड़ी देशों की ओर जाने वाली फ्लाइट्स प्रभावित
  • इंटरनेशनल सिविल एविएशन ऑर्गेनाइजेशन के डाटा के अनुसार इससे रोजाना करीब 233 विमानों के यात्री परेशान हो रहे

नई दिल्ली (शरद पाण्डेय). बालाकोट हमले के बाद पाकिस्तान के एयरस्पेस का इस्तेमाल पूरी तरह बंद है। इस कारण यूरोपियन देशों, उत्तर अमेरिका और खाड़ी देशों की ओर जाने वाली फ्लाइट्स प्रभावित हो रही हैं। ये फ्लाइट्स गुजरात के ऊपर से अरबसागर पार करते हुए जा रही हैं। हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एससीओ समिट में हिस्सा लेने किर्गिस्तान जाना था, लेकिन उन्होंने पाक एयरस्पेस का इस्तेमाल नहीं किया। ऐसे में भास्कर ने पड़ताल की कि आखिर इस रास्ते के बंद होने से यात्रियों पर क्या फर्क पड़ रहा है।


इंटरनेशनल सिविल एविएशन ऑर्गेनाइजेशन के डाटा के अनुसार इससे रोजाना करीब 233 विमानों के यात्री परेशान हो रहे हैं। इनकी संख्या करीब 70 हजार है। इन्हें गंतव्य तक पहुंचने में डेढ़ से दो घंटे ज्यादा समय लग रहा है। दरअसल इस रूट से जहाज जाने पर करीब डेढ़ से दो हजार किमी का अतिरिक्त सफर तय करना पड़ रहा है। इसके अलावा कुछ रूट्स पर यात्रियों को पांच गुना तक अधिक किराया चुकाना पड़ रहा है। वहीं दूसरी तरफ इसका असर एयरलाइंस कंपनियों पर भी पड़ रहा है। एयर इंडिया के प्रवक्ता धनंजय कुमार के अनुसार एयर इंडिया की  प्रतिदिन 11 फ्लाइट यूरोपीय देश और अमेरिका की ओर जाती हैं। रूट बदलकर जाने के कारण रोज 6 करोड़ रु. का नुकसान हो रहा है। यानी औसतन प्रति फ्लाइट 55 लाख रुपए। इसमें अगर दूसरी एयरलाइन्स को मिलाकर सभी 233 फ्लाइट्स को देखें तो यह नुकसान करोड़ों में है। 

 

जेट के बंद होने के बाद एयर इंडिया ही यूरोपीय देशों और उत्तरी अमेरिका की ओर जाने वाली इकलौती भारतीय कंपनी है। इंडिगो के विमान भी खाड़ी देशों में जाते हैं, जो प्रभावित हो रहे हैं। बिजनेस एयरक्राफ्ट आपरेटर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष आरके बाली बताते हैं कि एयरस्पेस बंद होने से दोनों देशों को नुकसान है, लेकिन भारत का अधिक नुकसान है। पाकिस्तान की गिनती की फ्लाइट यहां से गुजरती हैं। इसलिए इस मामले को इंटरनेशनल सिविल एविएशन ऑर्गेनाइजेशन में उठाना चाहिए। उसे फैसला लेना चाहिए कि कोई भी देश इस तरह प्रतिबंध न लगा सके।

 

जानिए क्यों लग रहा है ज्यादा समय और पैसा- 

 

 

यहां 6 घंटे अधिक लग रहे हैं और किराया भी ज्यादा दे रहे
एविएशन एक्सपर्ट और सारथी एविएशन के चेयरमैन गुलाब सिंह ने बताया कि तमाम छोटे देशों से आने वाली सीधी फ्लाइट्स बंद हैं। पैसेंजर टुकड़ों में फ्लाइट लेकर गंतव्य तक जा रहे हैं, जिससे बुकिंग अचानक बढ़ गई है। यूरोपीय देशों व उत्तरी अमेरिका की ओर जाने वाले पैसेंजर चार से पांच गुना तक ज्यादा किराया चुका रहे हैं। पाकिस्तान में कुल 11 प्वाइंट हैं, जो बंद हैं। अफगानिस्तान, उजबेकिस्तान, किर्गिस्तान, तजीकिस्तान आदि देशों में जाने वालों को दुबई होकर जाना पड़ रहा है। ज्यादा किराए के अलावा यहां 6 घंटे तक अतिरिक्त लग रहे हैं।  
 

 

अब फ्यूल भराने में लग रहा है दो घंटे से अधिक समय
यूरोपीय देश, उत्तरी अमेरिका की फ्लाइट्स नॉन स्टाॅप नहीं जा पाती हैं। इन्हें शारजाह या विएना में ईधन भरवाना पड़ता है। एयरलाइंस को इसके लिए लैंडिंग चार्ज 50 लाख रु. तक अधिक खर्च करने पड़ते हैं। इसके अलावा क्रू और इंजीनियरों की टीम भी तैनात करनी पड़ रही है। इसमें ही दो घंटे खराब हो रहे हैं। एयर इंडिया के प्रवक्ता धनंजय कुमार बताते हैं कि अधिक खर्च आने की वजह से हाल ही में एयर इंडिया ने बीच में तेल भरवाना ही बंद कर दिया है, अब सीधी फ्लाइट जा रही हैं। वहीं खाड़ी देशों की ओर जाने वाली इंडिगो की सेवाएं प्रभावित हो रही हैं।

 

इंटरनेशनल रूट पर बोइंग होते हैं इस्तेमाल, इसलिए खर्च अधिक
लंबी उड़ानों के लिए एयरइंडिया ने बोइंग 777-300 ईआर और बोइंग 777-200 एलआर विमानों को रखा है। क्योंकि इसमें 350 से अधिक लोग सवार हो सकते हैं। इन फ्लाइट्स को अरब महासागर को पार करने में (आते जाते दोनों समय) 2-2 घंटे यानी कुल 4 घंटे का समय लग रहा है। इसी तरह यूरोपीय देश जाने के लिए बोइंग 787-800 ड्रीम लाइनर सेवा में अतिरिक्त पायलट की तैनाती तक करनी पड़ रही है।
 

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- व्यस्तता के बावजूद आप अपने घर परिवार की खुशियों के लिए भी समय निकालेंगे। घर की देखरेख से संबंधित कुछ गतिविधियां होंगी। इस समय अपनी कार्य क्षमता पर पूर्ण विश्वास रखकर अपनी योजनाओं को कार्य रूप...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser