• Hindi News
  • National
  • India Pakistan Tension; Kashmir Issue, Line Of Control (LoC), Pakistan PM Imran Khan, PM Narendra Modi, Ceasefire Agreement

इमरान को फिर याद आया कश्मीर:पाकिस्तान के PM ने कहा- बातचीत की जिम्मेदारी भारत पर, उसे कश्मीर की आजादी के लिए कदम उठाने चाहिए

नई दिल्ली/इस्लामाबादएक वर्ष पहले
नवम्बर 2003 में भारत और पाकिस्तान की सरकारों ने LOC पर सीजफायर एग्रीमेंट किया था। जिसके मुताबिक दोनों देशों की सेनाएं एक दूसरे पर गोलीबारी नहीं करेंगी।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने एक बार फिर कश्मीर का राग अलापा है। भारत में घुसपैठ करने वाले आतंकियों की पनाहगाह बने पाकिस्तान को इमरान ने शांति और स्थिरता का पक्षधर बताया और सारी जिम्मेदारी भारत पर डाल दी है।

उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा कि मैं लाइन ऑफ कंट्रोल (LoC) पर सीजफायर बहाली का स्वागत करता हूं। आगे की बातचीत के लिए अनुकूल माहौल बनाने की जिम्मेदारी भारत पर है। लंबे वक्त से चली आ रही कश्मीर की आजादी की मांग और अधिकार को देने के लिए UNSC रिजोल्यूशन के मुताबिक भारत को कदम उठाने चाहिए।

भारत गैर-जिम्मेदाराना, पाकिस्तान जिम्मेदार
इमरान ने कहा, 'पाकिस्तान पर भारत की अवैध एयर स्ट्राइक के खिलाफ हमारे रेस्पॉन्स के दो साल होने पर मैं पूरे देश और अपनी सेना को बधाई देता हूं। एक गर्वित और आत्मविश्वासी राष्ट्र के तौर पर हमने अपने हिसाब से समय और जगह पर दृढ़ता से प्रतिक्रिया दी। कैद किए गए पायलट को वापस करके हमने दुनिया को भारत की गैर-जिम्मेदाराना सैन्य अस्थिरता और पाकिस्तान का जिम्मेदार रवैया दिखाया।'

24 फरवरी को हुआ समझौता
लंबे समय बाद बुधवार को भारत और पाकिस्तान के डायरेक्टर जनरल ऑफ मिलिट्री ऑपरेशंस (DGMO) की बैठक हुई थी। इसमें तय हुआ था कि 24-45 फरवरी की रात से ही उन सभी पुराने समझौतों को फिर से अमल में लाया जाएगा, जो समय-समय पर दोनों देशों के बीच हुए हैं। हॉटलाइन पर बातचीत के दौरान सीजफायर उल्लंघन, युद्धविराम और कश्मीर समेत सभी जरूरी मुद्दों और इन पर हुए पुराने समझौतों पर चर्चा हुई।

2003 में सीजफायर को लेकर हुआ था एग्रीमेंट
नवम्बर 2003 में भारत और पाकिस्तान की सरकारों ने LOC पर सीजफायर एग्रीमेंट किया था। जिसके मुताबिक दोनों देशों की सेनाएं एक दूसरे पर गोलीबारी नहीं करेंगी। तीन साल तक यानी 2006 तक दोनों तरफ से इस सीजफायर को माना गया। लेकिन, उसके बाद से पाकिस्तान ने लगातार सीजफायर का उलंघन किया। जिसकी आड़ में LOC के करीब बनाये गए आतंकी लॉन्चपैड्स से घुसपैठ की न सिर्फ कोशिशें हुईं, बल्कि पाकिस्तानी सेना ने घुसपैठ करवाने में मदद भी की।