भारत ने सीमापार कार्रवाई करते हुए मार गिराए 300 से ज्यादा आतंकी, एयर स्ट्राइक के बाद बौखलाया पाकिस्तान / भारत ने सीमापार कार्रवाई करते हुए मार गिराए 300 से ज्यादा आतंकी, एयर स्ट्राइक के बाद बौखलाया पाकिस्तान

बदला लेने के लिए अब ये कदम उठाने की तैयारी कर रहा पाकिस्तान

Feb 26, 2019, 01:05 PM IST
pakistan politicians demanding the boycott of OIC meeting

इस्लामाबाद. पाकिस्तान में भारतीय वायुसेना की एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान की नेशनल सिक्योरिटी कमेटी ने पीएम इमरान खान की अध्यक्षता में बैठक की। बैठक के बाद पाकिस्तानी पीएम ने अपने सशस्त्र बलों और नागरिकों से 'हर तरह के हालात के लिए तैयार रहने' को कहा। वहीं विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने भारत के कदम को उकसावे वाली कार्रवाई बताया। उन्होंने कहा, भारत ने हमारी सीमा में घुसकर हमला किया है और पाकिस्तान को इस 'उकसावे' वाली कार्रवाई का 'जवाब देने का हक है'। ताजा हालातों की समीक्षा करने के लिए पाकिस्तान में बुधवार को संसद का संयुक्त सत्र बुलाया गया है। भारत की कार्रवाई के बाद पीपीपी (पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी) समेत वहां के सभी प्रमुख विपक्षी दलों ने ये मांग की थी। इसके साथ ही पाकिस्तानी नेताओं ने 1 और 2 मार्च को अबूधाबी में होने वाले इस्लामिक देशों के संगठन OIC (इस्लामिक सहयोग संगठन) की बैठक का बहिष्कार करने की मांग भी की है, क्योंकि इसमें भारतीय विदेशमंत्री सुषमा स्वराज को 'गेस्ट ऑफ ऑनर' के तौर पर बुलाया गया है।

भारत के विरोध के लिए उठी OIC के बहिष्कार की मांग...


- भारत की कार्रवाई के बाद पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) के नेता और पूर्व रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ ने कहा कि हम युद्ध के हालात में हैं और इस मौके पर सभी राजनीतिक दल सेना के साथ हैं।
- आसिफ ने इस्लामिक सहयोग संगठन द्वारा अगले महीने बुलाए गए सदस्य देशों के विदेश मंत्रियों के कॉन्क्लेव में भारतीय विदेशमंत्री सुषमा स्वराज को 'सम्मानित अतिथि' का दर्जा देने का भी विरोध किया। इसे लेकर उन्होंने इस मीटिंग का बहिष्कार करने की मांग भी की।
- आसिफ ने कहा, 'हमारे दुश्मन को वहां गेस्ट ऑफ ऑनर के तौर पर बुलाया गया है, वो भी तब जब कश्मीर में लोगों का खून बहाया जा रहा है। ये हमारा अपमान है। उन्होंने कहा, OIC को अपने सहयोगी देशों की सहमति के बिना भारत को बुलाने का कोई अधिकार नहीं था।'
- पाकिस्तान की पूर्व विदेश मंत्री हिना रब्बानी खान ने भी सुषमा को बुलाने पर कड़ी आपत्ति जाहिर करते हुए। उन्हें 'सम्मानित अतिथि' का दर्जा देने का विरोध किया।
- वहीं एक अन्य नेता असद महमूद ने भी असद महमूद ने भी भारतीय विदेश मंत्री को बुलाने को गलत बताया और कहा कि पाकिस्तान को ओआईसी से बात करनी चाहिए और बैठक का बहिष्कार करना चाहिए।

भारत मान रहा कूटनीतिक जीत

- बता दें कि इस्‍लामिक सहयोग संगठन (OIC) के विदेश मंत्रियों की परिषद का 46वां सम्‍मेलन 1 और 2 मार्च को अबू धाबी में आयोजित किया जा रहा है। इसमें इस्लामिक देशों के विदेश मंत्रियों के साथ ही भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज को भी बुलाया गया है।
- पाकिस्तान के साथ चल रहे तनाव और उसे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अलग-थलग करने की कोशिशों के बीच 57 मुस्लिम देशों के संगठन की तरफ से पहली बार मिले इस न्योते को भारत की कूटनीतिक जीत के तौर पर देखा जा रहा है।

- भारतीय वायुसेना ने पुलवामा हमले का बदला लेने के लिए मंगलवार तड़के पीओके (पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर) में स्थित जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी कैंपों पर जबरदस्त कार्रवाई। इस दौरान जैश के बड़े कमांडर समेत करीब 350 आतंकी मारे गए। जिनमें जैश ए मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर के दो भाई और साला भी शामिल है।

- सरकारी सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि इस हमले में 350 आतंकी मारे गए हैं। इनमें आतंकियों के 25 ट्रेनर, मसूद अजहर का बड़ा भाई और साला भी शामिल है। वायुसेना ने मसूद के जिस साले यूसुफ को निशाना बनाया वह इंटरपोल की मोस्ट वॉन्टेड लिस्ट में था।
- हमले में जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर के दो भाई इब्राहिम अजहर और मौलाना तल्हा सैफ मारे गए हैं। इब्राहिम 1999 में आईसी-814 विमान के हाईजैक में भी शामिल रहा था। इसके अलावा आतंकियों को प्रशिक्षण देने वाली विंग का मुखिया तल्हा सैफ, अफगानिस्तान और कश्मीर में आतंकी कार्रवाइयों में शामिल रहा अम्मार, अजहर खान कश्मीरी भी मारा गया है।

X
pakistan politicians demanding the boycott of OIC meeting
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना