सेंट्रल जेल में पाकिस्तानी बंदी की संदिग्ध मौत, बैरक में अन्य कैदियों से हुआ था झगड़ा

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • हत्या का संदेह, लेकिन जेल व पुलिस अधिकारियों ने नहीं की पुष्टि

जयपुर. जासूसी के मामले में जयपुर की सेंट्रल जेल में बंद पाकिस्तानी नागरिक शाकिर उल उर्फ मोहम्मद हनीफ की बुधवार को हत्या कर दी गई। एडिशनल पुलिस कमिश्नर लक्ष्मण गौड़ ने बताया कि पत्थर से कुचलकर हत्या की गई। चार कैदियों ने वारदात को अंजाम दिया। टीवी की आवाज को कम करने को लेकर विवाद हुआ था। इससे पहले शाकिर की मौत की सूचना के बाद पुलिस और जेल प्रशासन के उच्चाधिकारी मौके पर पहुंचे थे।

 

वार्ड में 6 पाकिस्तानी कैदी बंद थे

शाकिर पाकिस्तान के सियालकोट का रहने वाला था। वह सेंट्रल जेल के वार्ड नंबर 10 में था। इस वार्ड में 66 कैदी हैं। इसमें शाकिर समेत 6 पाकिस्तानी कैदी थे। साथ ही 16 कैदी ऐसे भी थे, जिन्हें फांसी की सजा मिली है।

 

स्लीपर सेल तैयार करता था शाकिर

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शाकिर 2001 से पंजाब की जेल में बंद था। वह जेल से ही फोन के जरिए राजस्थान के कैदियों से संपर्क करता था। वह स्लीपर सेल तैयार कर रहा था। जयपुर जेल में बंद कैदी जब बाहर आते थे तो शाकिर उनकी बात पाकिस्तानी संगठनों से कराता था।

 

इस मामले की जानकारी सेंट्रल आईबी द्वारा राजस्थान एटीएस को दी गई थी। एसओजी जयपुर ने 2010 में केस दर्ज किया था। ये लोग लश्कर-ए-तैयबा के लिए काम कर रहे थे। 2010-11 में कोर्ट में चालान पेश कर दिया। करीब साल भर पहले शाकिर को आजीवन कारावास की सजा हुई थी।

खबरें और भी हैं...