पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

उर्मिला मातोड़कर का आरोप, चुनावों के दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने नहीं किया उनका सहियोग

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अभिनेत्री उर्मिला मातोड़कर। -फाइल
  • सोमवार को मुंबई कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष संजय निरूपम ने ट्वीट कर मिलिंद देवड़ा पर निशाना साधा था 
  • उर्मिला ने भी मिलिंद देवड़ा को 9 पन्नों का शिकायती पत्र भेजा था 

मुंबई. मुंबई कांग्रेस में अंतरकलहर खुलकर सामने आने लगी है। शहर कांग्रेस अध्यक्ष पद से मिलिंद देवड़ा के इस्तीफे के बाद स्थानीय नेता उन पर लगातार हमलावर हैं। सोमवार को पूर्व अध्यक्ष संजय निरूपम ने ट्विटर के जरिए निशाना साधा तो उर्मिला मातोड़कर ने भी लोकसभा चुनाव प्रचार में पार्टी कार्यकर्ताओं पर सहयोग न करने का आरोप लगाया। उर्मिला ने यह भी कहा है कि वह इस संबंध में दो महीने पहले मिलिंद को 9 पेज का शिकायती पत्र भी भेज चुकी हैं।

 

उत्तर-मुंबई से कांग्रेस प्रत्याशी रहीं अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर ने बताया कि उन्होंंने 16 मई को 9 पेजों का एक पत्र मुंबई कांग्रेस के तत्कालीन अध्यक्ष मिलिंद देवड़ा को लिखा था। पत्र में उन्होंने बताया था कि पार्टी कार्यकर्ताओं ने उन्हें चुनावी अभियान में सहयोग नहीं किया। उन्होंने ऐसे कार्यकर्ताओं के खिलाफ ऐक्शन लेने का आग्रह किया था। इस सीट से उर्मिला को भाजपा के गोपाल शेट्टी ने हराया है। 

 

उर्मिला ने गिनाईं थीं हार की वजह

उर्मिला ने शिकायती पत्र में लिखा कि केंद्रीय कार्यालय में पर्याप्त जगह नहीं थी। निर्वाचन क्षेत्र में छोटे कार्यालय नहीं बनाए गए। प्रचार सामग्री का वितरण ठीक से नहीं किया गया, जिसके कारण मतदाताओं तक अपनी बात सही ढंग से नहीं पहुंची। प्रचारसभा, पदयात्रा समय पर शुरू नहीं हुई, जैसी कई वजह गिनाईं थीं।  

 

देवड़ा के इस्तीफे पर संजय ने कसा तंज 
मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद मिलिंद देवड़ा ने राष्ट्रीय राजनीति में भूमिका निभाने की इच्छा जताई थी। इस पर निरूपम ने ट्वीट किया- \'इस्तीफा में त्याग की भावना अंतर्निहित होती है। यहां तो दूसरे क्षण \'नेशनल\' लेवल का पद मांगा जा रहा है। यह इस्तीफा है या ऊपर चढ़ने की सीढ़ी? पार्टी को ऐसे \'कर्मठ\' लोगों से सावधान रहना चाहिए।\' 

 

देवड़ा के भाई ने निरूपम पर किया पलटवार

संजय के ट्विट के जवाब में देवड़ा के भाई जगताप ने लिखा- \"कुछ नेता कांग्रेसी होने का दावा करते हैं लेकिन वे जातिवाद और भाषावाद की राजनीति करते हैं। वे अन्य नेताओं का अपमान करते हैं और फिर उनके क्षेत्र से चुनाव भी लड़ते हैं लेकिन इस सबके बावजूद वह 2.7 लाख वोटों से हार जाते हैं। ऐसे \'कर्मठ\' नेताओं से सावधान रहने की जरूरत है।\" खास बात यह है कि जगताप के इस ट्वीट को मिलिंद देवड़ा ने लाइक किया था। 

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय पूर्णतः आपके पक्ष में है। वर्तमान में की गई मेहनत का पूरा फल मिलेगा। साथ ही आप अपने अंदर अद्भुत आत्मविश्वास और आत्म बल महसूस करेंगे। शांति की चाह में किसी धार्मिक स्थल में भी समय व्यतीत ह...

और पढ़ें