• Hindi News
  • National
  • Passenger vehicles output down 13.18% in Apr Jul as major auto cos cut production

ऑटो / यात्री वाहनों का प्रोडक्शन अप्रैल-जुलाई में 13% घटा, मारुति ने 18% कटौती की



Passenger vehicles output down 13.18% in Apr-Jul as major auto cos cut production
X
Passenger vehicles output down 13.18% in Apr-Jul as major auto cos cut production

  • फोर्ड के प्रोडक्शन में सबसे ज्यादा 25% गिरावट, टाटा मोटर्स ने 20% घटाया
  • दोपहिया वाहनों के उत्पादन में 10% गिरावट, हीरो मोटोकॉर्प का 12% कम

Dainik Bhaskar

Aug 16, 2019, 09:38 AM IST

नई दिल्ली. यात्री वाहनों का उत्पादन अप्रैल-जुलाई के दौरान 13.18% घटकर 12 लाख 13 हजार 281 यूनिट रह गया। पिछले साल इन 4 महीनों में 13 लाख 97 हजार 404 यूनिट था। सोसायटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चर्स (सिआम) ने गुरुवार को ये आंकड़े जारी किए।

ह्युंडई, फॉक्सवैगन का प्रोडक्शन बढ़ा

  1. मारुति सुजुकी, महिंद्रा एंड महिंद्रा, टाटा मोटर्स, फोर्ड, टोयोटा और होंडा जैसी प्रमुख कार कंपनियों ने अप्रैल-जुलाई में प्रोडक्शन में भारी कटौती की है। सिर्फ ह्युंडई मोटर इंडिया और फॉक्सवैगन के प्रोडक्शन में बढ़ोतरी दर्ज की गई।

  2. कंपनी अप्रैल-जुलाई में प्रोडक्शन (यूनिट) गिरावट/बढ़त (सालाना आधार पर)
    मारुति सुजुकी 5,32,979 -18.06%
    महिंद्रा एंड महिंद्रा 80,679 -10.65%
    फोर्ड 71,348 -25.11%
    टाटा मोटर्स 59,667 -20.37%
    होंडा 47,043 -18.86%
    टोयोटा किर्लोस्कर 45,491 -20.98%
    ह्युंडई 2,39,671 +1.77%
    फॉक्सवैगन 36,929 +1.05%

  3. दोपहिया वाहनों के प्रोडक्शन में अप्रैल-जुलाई के दौरान 9.96% गिरावट आई। इन 4 महीनों में 78 लाख 45 हजार 675 वाहनों का उत्पादन हुआ। पिछले साल अप्रैल-जुलाई में ये आंकड़ा 87 लाख 13 हजार 476 था।

  4. कंपनी अप्रैल-जुलाई में प्रोडक्शन (यूनिट) गिरावट/बढ़त (सालाना आधार पर)
    हीरो मोटोकॉर्प     24,66,802 -12.03%
    होंडा मोटरसाइकिल 19,44,900 -18.5%
    रॉयल एनफील्ड 2,40,190 -22.35%
    बजाज ऑटो 13,89,396 +4.47%
    सुजुकी मोटरसाइकिल 2,83,291 +24.51%

  5. ऑटो इंडस्ट्री में स्लोडाउन की वजह से कंपनियां प्रोडक्शन घटा रही हैं। मंदी की वजह से अब तक 15,000 कैजुअल और टेंपररी कर्मचारी हटाए जा चुके हैं।

  6. फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशंस (फाडा) के मुताबिक ऑटो इंडस्ट्री में  पिछले 3 महीने में 2 लाख लोगों की छंटनी हो चुकी है। ऑटोमोटिव कंपोनेंट मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन (एसीएमए) के मुताबिक 10 लाख लोगों की नौकरियों पर खतरा बना हुआ है।

     

    DBApp

     

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना