कश्मीर / महबूबा ने कार्यकर्ताओं से कहा- 35ए की हिफाजत के लिए हम जान कुर्बान कर देंगे



महबूबा मुफ्ती। महबूबा मुफ्ती।
X
महबूबा मुफ्ती।महबूबा मुफ्ती।

  • महबूबा ने कहा- हमारे कार्यकर्ताओं को घर-घर जाकर 35ए के बारे में लोगों को समझाना चाहिए
  • राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा था- कोई आदेश जारी नहीं किया गया, अफवाहों पर ध्यान न दें

Dainik Bhaskar

Jul 31, 2019, 04:08 PM IST

श्रीनगर. सोशल मीडिया पर इन दिनों अफवाह फैल रही है कि मोदी सरकार जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 35ए को हटाना चाहती है। इसको लेकर राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने कहा है कि हमारी पार्टी के कार्यकर्ता और राज्यवासी 35ए की हिफाजत के लिए जान-माल भी कुर्बान कर देंगे। इससे पहले महबूबा ने रविवार को कहा था कि 35ए के साथ छेड़छाड़ करना बारूद को हाथ लगाने जैसा होगा। इसके लिए जो हाथ उठेगा वो हाथ नहीं पूरा जिस्म जलकर राख हो जाएगा।

सभी पार्टी कार्यकर्ताओं को इकट्ठा होना चाहिए: महबूबा

  1. पीडीपी प्रमुख ने कहा, ‘‘इस वक्त अफवाहें हो रही हैं कि 35ए के ऊपर हमला हो सकता है। उसके हवाले से हम सबको इकट्ठा होना चाहिए, न सिर्फ नेताओं को बल्कि सभी कार्यकर्ताओं को भी। चाहे वह नेशनल कॉन्फ्रेंस का हो, कांग्रेस का हो, भाजपा को हो या फिर पीडीपी का।’’

  2. महबूबा ने कहा, ‘‘हमारे वर्कर्स को सब के घर जाना चाहिए और सबको खबर करना चाहिए कि इस वक्त चुनाव की लड़ाई को अलग रखना चाहिए। लोगों को समझाओ कि हम मिलकर काम करेंगे और जम्मू-कश्मीर का जो 35ए अनुच्छेद है, उसकी हिफाजत के लिए हम जान और माल कुर्बान करने के लिए तैयार हो जाएंगे।’’

  3. राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने मंगलवार को कहा था, ‘‘जम्मू-कश्मीर सरकार ने किसी प्रकार को कोई आदेश जारी नहीं किया है। अफवाहों पर ध्यान न दें। यहां लाल चौक पर आप छींकते हैं, तो राज्यपाल भवन तक वो खबर बन जाती है कि बम फटा है।’’

  4. कश्मीर में 10 हजार अतिरिक्त सुरक्षाबल तैनात

    जम्मू-कश्मीर में फिलहाल राष्ट्रपति शासन लागू है। रिपोर्ट के मुताबिक- केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के कश्मीर दौरे के बाद राज्य में 10 हजार अतिरिक्त सुरक्षाबलों की 100 कंपनियां तैनात करने का फैसला लिया है।

  5. सूत्रों की मानें तो 15 अगस्त से पहले श्रीनगर में 15, पुलवामा और सोपोर में 10-10, बाकी 10 जिलों में 5-5 कंपनियां तैनात होंगी। सरकारी सूत्र ने दावा किया कि राज्य में अनुच्छेद 35ए हटाने के बाद की स्थिति से निपटने के लिए जवान कश्मीर भेजे जा रहे हैं।

  6. अनुच्छेद 35ए के तहत मिलती है पूर्ण नागरिकता

    अनुच्छेद-35ए धारा 370 का एक हिस्सा है, जो कश्मीर के लोगों को विशेष अधिकार देता है। इस अनुच्छेद के तहत जम्मू-कश्मीर सरकार राज्य के नागरिकों को पूर्ण नागरिकता प्रदान करती है। राज्य के बाहर का कोई भी व्यक्ति यहां किसी प्रकार की संपत्ति नहीं खरीद सकता है। यहां की महिला से शादी के बाद उसकी संपत्ति पर अपना हक भी नहीं जमा सकता है। इस कानून को लेकर लंबे समय से विवाद है।

     

    DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना